Breaking News

किसानो की फसल पर इल्ली व वायरस का प्रकोप

फसलो पर पीला वायरस का असर से कास्तकारों के खिले चेहरे मुरझाने लगे

नाहरगढ़। अन्नदाता किसानो की फसलो पर इल्ली सहित वायरस का असर से पैदावार कमजोर के आसार है। जिले की महत्वपूर्ण फसल सोयाबीन पूरे जिले व अंचल के साथ कयामपूर टप्पा क्षेत्र के गांवो मे फसलो पर पीला वायरस का कहर से अन्नदाता किसान की आई हुई फसल पर पैदावार कही आधी तो कही आधी से कम रहने का अनुमान लगाया जा रहा है। पीला सोना पर पीला वायरस कही किसानो के लिए आर्थिक संकट नहीं बन जाये। टप्पा क्षेत्र के कुछ गांवो मे कही कम तो कही अधिक असर धीरे-धीरे दिखाई देते हुए बड़ रहा है। बेटीखेडी, रूपनी, रणायरा, कोटडा बहादुर, पायाखेडी, भिल्या खेड़ी, नाहरगढ, कचनारा सहित ग्रामीण अंचल मे पीला सोना पर पीला वायरस का बड़ा असर है । जिले सहित अंचल मे कही असर अधिक है तो कही कम है । खेत के खेत वायरस की चपेट मे आ गए है।

दवाईया बेअसर
किसान मंहगी से मंहगी दवाईयो का उपयोग कर रहा है परंतु बेअसर दिखाई दे रही है। करे तो क्या करे किसान जो जानकारी कही से भी मिले उसके अनुसार दवाईया छिड़काव कर रहा है।

प्रशासन से सर्वे व आंकलन की मांग
राजस्व विभाग व कृषि विभाग को पटवारी हल्का के अनुसार सर्वे करार उचित जानकारी व सलाह देते हुए नुकसानी का आंकलन करने की मांग किसानो ने जिला प्रशासन व प्रदेश सरकार से की है।

किसानो का कहना
परशराम जाट बेटीखेड़ी ने बताया कि फसलो पर पीला वायरस के असर से भारी नुकसान हो रहा है। किसान आर्थिक नुकसान की मार झेल रहा है। किसानो ने सर्वे कराकर राहत की मांग सरकार से की है।

समरथ पाटीदार रणायरा ने बताया कि तैयार फसलो पर अचानक पीला वायरस के अटैक से फसलो पर भारी नुकसान होने का अनुमान है। कई प्रकार की दवाईयां छिड़काव कि परंतु कोई सुधार नही दिखाई दिया। जिन खेतो को इस वायरस ने चपेट मे लिया है वहा पैदावार लगभग आधी रहने का अनुमान है।

दशरथ पाटीदार ने बताया कि इस वायरस की चपेट मे खेत के खेत आ गये है । फुल व फलियो पर पीला वायरस का कहर बरफा है जिससे किसान के चेहरे मुरझाने लगे है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts