Breaking News

किसान आंदोलन ने डाली मंदसौर काँग्रेस मे जान

पिपलियामंडी के बही पार्श्वनाथ फंटे पर पुलिस फायरिंग, बल प्रयोग में घायल किसानों को सीएम ने 5-5 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की थी। यह अब तक उन्हें नहीं मिला है। घायलों का नि:शुल्क उपचार भी नहीं हो रहा। फायरिंग में मारे 5 किसानों के मामले की न्यायिक जांच सही है। बड़वन निवासी घनश्याम धाकड़ की मजिस्ट्रेट जांच का बहिष्कार कर न्यायिक जांच की मांग रखी है। 6 जून के घटनाक्रम के विरोध में एक माह पूरा होने पर 6 जुलाई को मल्हारगढ़ के बस स्टैंड पर संसदीय क्षेत्र के कांग्रेसजन द्वारा सत्याग्रह के बाद गिरफ्तारियां दी जाएंगी।

यह बात कांग्रेस जिलाध्यक्ष प्रकाश रातड़िया ने मंगलवार दोपहर मीडिया से कही। उन्होंने बताया 6 जुलाई सुबह 11 बजे मल्हारगढ़ में श्रद्धांजलि सभा होगी। इसमें राष्ट्रीय सचिव माेहनप्रकाश, प्रदेश अध्यक्ष अरुण यादव, नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह, पूर्व सांसद मीनाक्षी नटराजन समेत कई बड़े नेता शामिल होंगे। रातड़िया ने कहा प्रशासन ने मंदसौर में राहुल गांधी समेत कई राष्ट्रीय नेताओं को प्रवेश से रोका। सीएम के आने से पहले रातोरात धारा 144 हटा दी, ये कैसा लोकतंत्र है। बड़वन के घनश्याम के मामले में रातड़िया ने कहा प्रशासन मामले में मजिस्ट्रेट जांच करा रहा है, जबकि इसी जिले के घटनाक्रम में यहीं के अधिकारी जांच करेेंगे तो क्या अपेक्षा की जा सकती है। 10 जुलाई तक जिलेभर में किसान स्वाभिमान यात्रा भी निकाली जा रही है। गोली चलाने और गोली चलवाने वालों पर धारा 302 दर्ज हो। कांग्रेस उपाध्यक्ष महेंद्रसिंह गुर्जर, ब्लाॅक अध्यक्ष मो. हनीफ शेख, लोकसभा युवा अध्यक्ष सोमिल नाहटा, किसान अध्यक्ष फकीरचंद गुर्जर मौजूद थे।

आत्महत्या करने वाले हर किसान को भी 1-1 करोड़ रुपए दिए जाएं-रातड़िया

रातड़िया ने कहा प्रदेश सरकार की नीतियों से दु:खी होकर आत्महत्या करने वाले हर किसान के परिवार को भी 1-1 करोड़ रुपए दिए जाएं। पिछले एक माह में प्रदेश में 53 किसानों ने आत्महत्या की है। स्वामीनाथन कमेटी की सिफारिशें लागू हों। सरकार पहले किसान आंदोलन में कांग्रेस का हाथ होना बताती रही जबकि पिछले दिनों सीएम ने तस्करों की साजिश बताया। गोली चालन में भी ऐसे ही अलग-अलग बयान आए।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts