Breaking News

कृषकों को फसलीय ऋण के साथ ही मध्यावधि कृषि ऋण भी वितरित करें – के.आर.राव

मंदसौर निप्र। स्वयं सहायता समूहों के सेविंग खाते खोलने और उन्हें क्रेडिट लिंकेज में बैंकें विषेष भूमिका अदा करें। स्वयं सहायता समूहों को बैंकिंग स्तर पर हर स्तर से सहायता मिले। कृषकों को अल्पकालीन कृषि ऋण के साथ ही मध्यावधि कृषि ऋण विभिन्न गतिविधियों के लिए वितरित किया जावें, ताकि कृषक अपनी खेती किसानी मंे अन्य कृषि तकनीकों का उपयोग कर अपनी आय को बढ़ाकर आर्थिक रूप से सक्षम हो सके।  यह बात नाबार्ड मध्यप्रदेष के मुख्य महाप्रबंधक श्री के.आर. राव के द्वारा जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मंदसौर के प्रधान कार्यालय में बैंक अधिकारियों एवं दोनों जिलों के ब्रांच मेनेजर्स की बैठक लेते हुए बोल रहे थे। श्री राव अपने दो दिवसीय दौरे पर जिल मंदसौर में आए हैं। इस अवसर पर जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष श्री मदनलाल राठौर बैंक के मुख्य  कार्यपालन अधिकारी श्री एस.के. भारद्वाज, उपायुक्त सहकारिता जिला मंदसौर श्री भारतसिंह चौहान एवं बैंक के वरिष्ठ अधिकारियों एवं शाखा प्रबंधकों ने बैंक आने पर श्री राव का स्वागत् किया। श्री राव ने बैठक लेते हुए आगे कहा कि ऋण वितरण के साथ ही एनपीए भी जुड़ा हुआ हैं, किंतु बैंक को इसे मेनेज करना होता हैं। अभी 92 प्रतिषत् फसलीय ऋण वितरण किया गया हैं। इसी के साथ ही मध्यावधि  कृषि ऋण  का वितरण बढ़ाना जरूरी हैं। जिला सहकारी बैंक को नाबार्ड से डायरेक्ट लोनिंग बैंक की मांग अनुसार बढ़ाया जावेगा। दुग्ध विकास हेतु ऋण वितरण में बढ़ोत्तरी की जाना चाहिए। किसानों के बच्चों को चयन कर प्रोसेसिंग यूनिट के लिए ऋण वितरण की योजना हैं, जिसे अतिषीघ्र प्रारंभ किया जावेगा। मध्यप्रदेष के 20 चयनित जिला सहकारी बैंकों में बैंक के अधिकारियों को प्रषिक्षण के लिए बेच बनाकर लखनऊ बर्ड के माध्यम से प्रषिक्षित किया जावेगा। बैंक अध्यक्ष श्री राठौर के द्वारा जिला सहकारी बैंक के व्यवसाय की जानकारी प्रस्तुत करनें पर श्री राव के द्वारा जिला सहकारी बैंक मंदसौर की अमानतों और ऋण वितरण पर प्रसन्नता व्यक्त की गई। बैंक अध्यक्ष श्री राठौर के द्वारा सीजीएम श्री राव को आष्वस्त किया गया कि वे कृषकों को कृषि गतिविधियों के लिए मध्यावधि ऋण वितरण हेतु संस्थाओं को लक्ष्य आवंटित कर लाभान्वित करेंगे। बैंेक के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री भारद्वाज के द्वारा बैंक की समस्त गतिविधियों मुख्यतः डीएमआर एवं रूपे किसान डेबिट कार्ड के प्रगति की जानकारी प्रस्तुत की गई। सांख्यिकी अधिकारी मुकेष पालीवाल के द्वारा लेखाकक्ष संबंधी जानकारी एवं आईएच मंसूरी क्षेत्रीय अधिकारी के द्वारा वित्तीय साक्षरता कंेद्रों के द्वारा की गई गतिविधियों की जानकारी प्रस्तुत की गई। अंत  में बैंक कर्मचारी यूनियन अध्यक्ष श्री कैलाषचंद्र पुरोहित के द्वारा आभार व्यक्त किया गया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts