Breaking News

केंद्र से मिली हरी झंडी : मंदसौर-नीमच को मेडिलक कॉलेज

मंदसौर. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को मंदसौर और नीमच में 325-325 करोड़ रुपए के मेडिकल कॉलेज स्वीकृत कर दिए। स्वीकृति-पत्र सांसद सुधीर गुप्ता को प्राप्त हो गए हैं। इसमें 60 फीसदी (195 करोड़) केंद्र व 40 फीसदी (130 करोड़) राज्य सरकार का हिस्सा होगा।

दुष्यंत का शेर आज सार्थक हो गया की कौन कहता है कि आसमान में छेद नही होता, एक पत्थर तो तबियत से उछालों दोस्तो, इसी तर्ज पर नीमच की आम जनता ने लगभग खो चुके मेडिकल कालेज को न केवल पाया बल्कि इसे पाने में जो संघर्ष झेला है उससे उसकी एकजुटता भी निखरकर उभर गई। सोमवार को प्रदेश सरकार के बाद केंद्र सरकार ने भी नीमच जिले में मेडिकल कॉलेज खोले जाने की स्वीकृति दे दी।

मंदसौर में संजीत रोड पर ग्राम भूखी के पास मगरे पर करीब 30 एकड़ जमीन सुरक्षित है। इसमें जिला अस्पताल को अपग्रेड करते हुए मेडिकल कॉलेज बनाया जाएगा। इससे इमरजेंसी सहित सभी सुविधाएं कॉलेज में पहुंचेंगी। नीमच में हवाई पट्‌टी के पास करीब 25 एकड़ जमीन है। जानकारों के अनुसार तकनीकी व वित्तीय स्वीकृति मिलने के बाद अब टेंडर व निर्माण शुरू होगा। इसमें आठ से दस माह लग सकते हैं। हालांकि मेडिकल कॉलेज की मंजूरी से दोनों जिलों के विकास के मार्ग खुल गए हैं। मेडिकल कॉलेज से जिले के लोगों को हर तरह की चिकित्सा सुविधाएं कम दरों पर मिलने लगेंगी।

संसदीय क्षेत्र में मंदसौर के साथ नीमच को भी मेडिकल कॉलेज के लिए केंद्र की हरी झंडी मिल गई है। केंद्र से प्रदेश में ६ नए सरकारी मेडिकल कॉलेजों के लिए मंजूरी मिली है। उसमें मंदसौर व नीमच के नाम भी शामिल है। मंदसौर में मेडिकल कॉलेज वर्षों से चुनावी मुद्दा रहा है और इसकी मांग कई सालों पुरानी मांग चली आ रही थी। जिसे अब केंद्र की मंजूरी मिली है। एक मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए ३२५ करोड़ रुपए खर्च होंगे। इसमें से ६० फीसदी राशि केंद्र सरकार देगी। स्वास्थ्य सुविधाओं को बढ़ाने और चिकित्सा सुविधाओं को बेहतर करने के लिए सरकार जिला अस्पतालों को मेडिकल कॉलेज के रुप में तैयार कर रही है।

केद्रींय स्वास्थ्य मंत्री ने सांसद को लिखा पत्र
मेडिकल कॉलेज की सौगात के बाद केदीं्रय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धनसिंह ने सांसद को एक पत्र लिखा जिसमें उन्होंने मंदसौर संसदीय क्षेत्र के दोनों जिलों मंदसौर और नीमच को मेडिकल कॉलेज देने की बात कहीं।

संजीत रोड पर भूखी में 30 एकड़ जमीन है। जल्द टीम आने वाली है। उनसे चर्चा कर प्रारंभिक रूप से जगह पर सुविधाओं को लेकर बात की जाएगी। इसके बाद जल्द काम भी शुरू कराने का प्रयास रहेगा। मनोज पुष्प, कलेक्टर, मंदसौर

संसदीय क्षेत्र के लिए ऐतिहासिक दिन है
रेलवे, सड़क, सिंचाई के बाद अब स्वास्थ्य के क्षेत्र में केंद्र ने संसदीय क्षेत्र को बड़ी सौगात दी है। संसदीय क्षेत्र के लिए यह ऐतिहासिक दिन है। प्रदेश सरकार ने केंद्र से ११ मेडिकल कॉलेज मांगे थे। इसमें से ६ कॉलेज प्रदेश को मिले है। इसमें से भी २ संसदीय क्षेत्र में आए है। इसके आदेश जारी हो गए है। -सुधीर गुप्ता, सांसद

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts