Breaking News

कौन सी खबर “पेड न्यूज है” कौन सी नहीं (ब्रजेश जोशी सदस्य एम.सी.एस.सी)

मंदसौर। स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं पारदर्शी चुनाव प्रक्रिया के लिये चुनाव आयोग द्वारा आचार संहिता बनाई गई है।  इसी कड़ी में प्रिन्ट, इलेक्ट्रानिक मीडिया एवं राजनैतिक दलो व अभ्यार्थियों के लिये पेड न्यूज संबंधी प्रावधान भी सुनिश्चित किये गये है। जिनका पालन उम्मीदवारों,  प्रिन्ट व इले. मीडिया को करना है। चुनाव आयोग द्वारा पेड न्यूज के संदर्भ में मीडिया कंट्रोल एवं मानीटरिंग कमेटी (एम.सी.एम.सी) का गठन किया है। पांॅच सदस्यीय इस दल कमेटी के अध्यक्ष कलेक्टर हैं, एसडीएम, अधीक्षक डाक घर, पी.आर.ओ एवं वरिष्ठ पत्रकार ब्रजेश जोशी सदस्य हैं। पेड न्यूज संबंधी बिन्दु मिडीया राजनैनिक दलांे उम्मीदवारों व आम जनता के संज्ञान के लिये प्रस्तुत किये जा रहें है। जिसका संकलन ब्रजेश जोशी ने किया है।

निम्न बिन्दुओं से जुड़े समाचार पेड न्यूज की श्रेणी में आएॅगे

  •  किसी राजनैतिक दल की आतिशयोक्ति पूर्ण प्रशंसा व उपलब्धियों को फेहरिस्त से जुडे़ समाचार जो एक जैसी भाषा व मेटर में एक से अधिक समाचार पत्र में प्रकाशित हुए हो या टी वी न्यूज चैनल्स पर एक से अधिक बार प्रसारित किये जाएॅं।
  •  किसी भी राजैनिक दल के अधिकृत उम्मीदवार की अतिशयोक्ति पूर्ण प्रशंसा व उपलब्धियों से जुडे़ समाचार जो टी वी न्यूज चैनल्स या अखबारों में प्रसारित/ प्रकाशित हुए हों।
  •  टी वी न्यूज या अखबारों में इस आशय की चुनावी टिप्पणी या रिपोर्टिंग जिससे एक ही राजनैकि दल, के  पक्ष की बात हो पढ़ने – सुनने में बिल्कुल एक तरफा, एक पक्षीय लगे।
  •  ऐसा कोई समाचार / टिप्पणी व रिपोर्टिंग जिसमें  किसी राजनैतिक दल के अधिकृत प्रत्याशी के पक्ष में यह लिखा अथवा बोला जाए जिसे पढ़ कर सुनकर यह प्रतीत हो कि चुनाव में उसी की जीत की संभावना व्यक्त की गई हो।
  •  टी वी न्यूज में 30 मिनिट के समाचार अवधि में 15 मिनीट से ज्यादा किसी एक ही दल की चुनावी गतिविधि दिखाई जाए व अन्य दलों के बारे में इस तुलना में कम प्रसारण हो या नहीं हो ।
  •  समाचार पत्र में एक ही दल की चुनावी गतिविधि विस्तार से प्रकाशित की गई हो व अन्य दल के चुनावी समाचारों को सीमित स्थान दिया गया हो या उनके समाचार प्रकाशित न हो।
  •  टी वी न्यूज में किसी राजनैतिक दल विशेष के खिलाफ खूब विस्तार से कोई रिपोर्ट का प्रसारण हो जिसमें बाईट व बेक बाईज के माध्यम से उस दल की खूब तीखी आलोचना हो । बाईट का आशय है आम जनता, विपक्षी पार्टी के नेता या अन्य किसी व्यक्ति से दल विशेष के खिलफ जो उनके द्वारा बोला गया उसे हू-ब हू प्रसारित करना। बेक वाईज का अर्थ है न्यूज एंकर द्वारा किसी राजनैतिक दल के खिलाफ बोलना, टिप्पणी करना।
  •  समाचार पत्रों में किसी दल विशेष के खिलाफ विस्तार से रिपोर्टिंग प्रसारित करना।
  •  टी वी न्यूज में किसी राजनैतिक दल के अधिकृत प्रत्याशी के सार्वजनिक जीवन पर कोई अशोभनीय टिप्पणी, व्यक्तिगत जीवन पर कोई आपत्ति जनक बात अथवा दृश्य दिखाना व उसका बार-बार प्रसारण करना।
  •  किसी राजनैतिक दल के पक्ष में एक जैसे समाचार एक से अधिक अखबारों में छपना।
  •  किसी राजनैतिक दल के पक्ष में एक जैसे दृश्य टी वी न्यूज में लगाकर दिखाना।
  •  किसी राजनैकि दल के उम्मीदवार के पक्ष में लम्बा चौड़ा बखान टी वी पर दिखाना।
  •  टी वी पर न्यूज के अतिरिक्त ऐसा कोई कार्यक्रम परिचर्चा/ परिसंवाद आदि का प्रसारण जिसमें किसी एक ही राजनैतिक दल या उसके अधिकृत प्रत्याशी के पक्ष में माहोल बने।
  •  चुनाव लड़ रहे उम्मीदवार का प्रशंसात्मक जीवन परिचय का बार-बार प्रकाशन होना विज्ञापन के अतिरिक्त । ये पेड न्यूज नही है
  •  सार्वजनिक रूप से आयोजित कोई राजनैतिक गतिविधि जो समाचार के रूप में प्रसारित/प्रकाशित हो।
  •  जैसे नाम निर्देशन पत्र दाखिल करने का समाचार ।
  •  राजनैतिक पार्टी की आम सभा, रैली या नुक्कड सभा के समाचार / चित्र दृश्य।
  •  स्टार प्रचारक की आम सभा के दृश्य / चित्र/ समाचार ।
  •  राजनैतिक दलों द्वारा जारी चुनावी कार्यक्रम के सामान्य प्रेस नोट।पत्रकार या रिपोर्टर द्वारा चुनावी माहोल की निष्पक्ष रिपोर्टिग / टिप्पणी
  •  सामान्य तथा सभी राजनैतिक दलो की गतिविधियों के समाचार।
  •  उम्मीदवार व नेताओं के दौरा कार्यक्रम सूचनात्मक ।
  •  किसी अखबार विशेष द्वारा अथवा टी वी न्यूज एंकर द्वारा प्रकाशित / प्रसारित चुनावी टिप्पणी जो एक ही बार प्रकाशित हो, एक ही न्यूज बुलेटिन में प्रसारण हो रोज-रोज नहीं
  •  स्टार प्रचारक अथवा उम्मीदवार से सामान्य साक्षात्कार
  •  चुनावी मुददो पर अराजनैतिक व्यक्तियों, बुद्धिजीवी वर्ग की ऐसी परिचर्चा/ परिसंवाद या अन्य कोई कार्यक्रम  आलेख जिसमें किसी पार्टी विशेष या उम्मीदवार के पक्ष या विपक्ष में वातावरण न बने।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts