Breaking News

क्या स्वच्छता में मंदसौर को नंबर वन बनेगा?

स्वच्छता में मंदसौर को नंबर वन बनाने के प्रयासों में नपा द्वारा सामाजिक संगठनों की भागीदारी क साथ निजी संस्थाओं को भी जोड़ा जाएगा। निजी संस्थाओं द्वारा स्वच्छता के लिए किए जा रहे प्रयासों के आधार पर उनकी रैंकिंग तय होगी जो संस्थाओं काे सम्मान दिलाएगी। नपा द्वारा निजी संस्थाओं का सर्वे 29 अक्टूबर से 5 नवंबर के बीच किया जाएगा। इसके बार बनी रैंकिंग के आधार पर संस्थान का सम्मान तय होगा।

केंद्र सरकार द्वारा किए जाने वाले स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 के लिए नपा द्वारा मैदानी तैयारी शुरू कर दी गई है। इसमें निजी संस्थाओं की भागीदारी बढ़ाने के प्रयासों में बेहतर कचरा प्रबंधन करने वालों को सम्मानित किया जाएगा। नपा द्वारा सार्वजनिक जनसुविधा से जुड़े निजी अस्पताल व क्लिनिक, होटल संचालकों की सहभागिता अभियान में बढ़ाई जाएगी। इसके लिए नपा द्वारा इन संस्थाओं में कचरा प्रबंधन व स्वच्छता मापदंडों के पालन का परीक्षण होगा। इसमें शासन के नियमों का पालन करने की अनिवार्यता भी रहेगी। इसके अलावा संस्था शहर को स्वच्छता रखने में अपनी ओर से सहभागिता कर नवाचार कर रहा है तो यह उसकी उपलब्धि हाेगी जिससे आधार पर सम्मान दिया जाएगा।

सर्वेक्षण को लेकर नपा जल्द बुलाएंगी संस्था संचालकों की बैठक : नपा सीएमओ सविता प्रधान ने कहा कि होटल व अस्पताल संचालकों के साथ नपा द्वारा स्वच्छता सर्वेक्षण को लेकर जल्द ही बैठक बुलाई जाएगी। इसमें स्वच्छता सर्वेक्षण के मापदंड का पालन करने के साथ शहर को खुद के संस्थान को सम्मानित करने के लिए किए जाने वाले प्रयासाें को साझा किया जाएगा। बैठक में स्वच्छता रैंकिंग की जानकारी और सम्मान के बारे में बताया जाएगा।

90 से ज्यादा संस्थानों में रहेगी प्रतिस्पर्धा : नपा के स्वास्थ्य अधिकारी केजी उपाध्याय ने बताया कि नपा द्वारा स्वच्छता रैंकिंग के लिए शहर में चलने वाले 40 क्लिनिक व अस्पताल, 50 होटल को शामिल किया जाएगा। ये ऐसे प्रतिष्ठान हैं जो जनसुविधा से जुड़े हुए हैं। लाेगों का आना-जाना यहां लगा रहता है। एेसे में स्वच्छता के मापदंडों का लेकर जागरूक करने के साथ नियमों का पालने के लिए रैंकिंग सर्वे होगा। इसमें कचरा प्रबंधन को कमियां मिलेंगी तो नपा उसे दूर करने का प्रयास करेगी। इसके अलावा बेहतर काम मिला ताे संस्थान सम्मानित होगा।

सर्वे में रहेंगे ये बिंदु  : होटल अस्पताल जैसे व्यापारिक प्रतिष्ठानों को स्वच्छता मिशन से जोड़ने के लिए रैंकिंग परीक्षण का लेकर सर्वे के मापदंड तय किए है़। इसमें संस्थान में निकलने वाले कचरे से उसके निष्पादन जैसी व्यवस्था को परखा जाएगा। उसी आधार पर रैंकिंग तय होगी। यही रैंकिंग स्वच्छता में संस्थान को सम्मान दिलाएगी।

रैंकिंग देेने के लिए नपा बनाएगा दल : स्वच्छता को लेेकर होटल व अस्पताल द्वारा मापदंडों का पालन किए जाने के साथ सहयोग की रैंकिंग करने के लिए नपा दल बनाएगी। इसमें नपा अधिकारी के साथ सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि काे शामिल किया जाएगा। यह दल संस्थानों में जाकर मापदंड का आकलन कर रैंकिंग तय करेगा। नपा के प्लान के मुताबिक सर्वे 29 अक्टूबर से शुरू होगा जो 5 नवंबर तक चलेगा। इस दौरान नपा का दल अस्पताल और होटल की जांच करेगा।

रैंकिंग परीक्षण के बाद प्रमाण-पत्र के साथ स्वच्छता से जुड़ा मोमेंटो मिलेगा : नपा द्वारा बनाई गई योजना में एक सप्ताह तक रैंकिंग परीक्षण का काम होगा। इसमें जो संस्थान खरा उतरेगा उसे स्वच्छता प्रमाणीकरण के साथ खास पुरस्कार दिया जाएगा। नपा प्रमाण-पत्र के साथ उन्हें स्वच्छता से जुड़ा मोमेंटो देगी जो उनके सफाई अभियान में सहयोगी होने के साथ मानव स्वास्थ्य और सामाजिक बदलाव का सम्मान दिलाएगा।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts