Breaking News

खेलों से व्यक्तित्व का विकास होता है

मंदसौर। खेलों से व्यक्तित्व का विकास होता है। बेडमिंटन खेल से शारीरिक एवं दिमागी कसरत दोनों होती है। वर्तमान में बेडमिंटन खेल के प्रति युवाओं की रुचि बढ़ी है। मंदसौर भी बेडमिंटन खेल के क्षेत्र्ा में अव्वल आता जा रहा है।

यह बात मंदसौर जिला आयकर अधिकारी अजीत पिल्लई ने कही। वे दशपुर जिला बेडमिंटन एसोसिएशन द्वारा आयोजित जिला स्तरीय बेडमिंटन स्पर्धा के पुरुस्कार वितरण समारोह के अवसर पर बोल रहे थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता उद्योगपति विशाल गोयल ने की।

उद्योगपति विशाल गोयल ने कहा कि मंदसौर मेंखेलों का वातावरण बना है और खेल मैदानों पर अब युवाओं की बड़ी संख्या में उपस्थिति देखने को मिल रही है। एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. अभय शुक्ला ने कहा कि बेडमिंटन हॉल के निर्माण मेंएसोसिएशन को बड़ी मशक्कत की दौर से गुजरना पड़ा। आज विशाल स्वरुप के रुप मेंहमारे सामने 3 सिंथेटिक कोर्ट खिलाडि़यों के लिए उपलब्ध है। शुक्ला ने बताया कि स्पर्धा में 60 खिलाडि़यों ने भाग लिया था। इस अवसर पर अतिथियों का स्वागत एसोसिएशन के सचिव कुलदीपसिंह चौहान, सुनील वारुणे, पत्र्ाकार प्रकाश सिसौदिया, संजय पालडि़या, राघवेन्द्रसिंह चंद्रावत, मोहित राठौर, मनीष सेठी, भूपेन्द्र जैन, डॉ. संजीव मेहता, यश पाटीदार, राकेश पाटीदार, विकास कोच्चटा, नितेश डोसी, आशीष मारु, पंकज परवाल, डॉ. चेतन पाटीदार, अंकित मंडोवरा, श्रेयांश जादौन, पीयूष जैन, रोमेश शर्मा, पंकज डोसी, विवेक खाबिया, नटवर कुमावत, सतीश सोमानी सहित बड़ी संख्या में एसोसिएशन के सदस्यों व खिलाडि़यों ने किया। कार्यक्रम का संचालन वरिष्ठ पत्र्ाकार डॉ घनश्याम बटवाल ने किया एवं आभार सहसचिव नवीन जैन ने माना।

इन्हें किया पुरुस्कृत – एसोसिएशन के सचिव कुलदीपसिंह चौहान ने बताया कि जिलास्तरीय बेडमिंटन स्पर्धा 2 समूहों में संपन्न हुई थी। सीनीयर ग्रुप में विजेता श्रेयांश जादौन-प्रांजल रिछावरा, उपविजेता गर्वेश गर्ग-प्रक्षाल जैन एवं जूनीयर गु्रप में विजेता अंकित मंडोवरा-हिमांशु चंदवानी, उपविजेता समर ओझा-लोकेन्द्र चौबे रहे। दोनों ग्रुपों के विजेता-उपविजेताओं को स्वर्गीय डॉ. सत्यनारायण जी शुक्ला एवं स्वर्गीय प्रेमलता शुक्ला की स्मृति में डॉ. अभय शुक्ला द्वारा आकर्षक ट्रॉफियां प्रदान की गई। इस अवसर पर अतिथियों को स्मृति चिन्ह भी प्रदान किए गए। स्पर्धा के सहयोगी संजय जैन, रमेश अग्रवाल (रम्मू भाई) एवं संदीप राठौर को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts