Breaking News

गरोठ में धारा 144 : विसर्जन जुलूस के दौरान पथराव-आगजनी के बाद विवाद, फोर्स तैनात

Story Highlights

  • 17 झांकियां व 11 अखाड़े निहारने उमड़े लोग, 7 झांकियों में नजर आई कृष्णलीला

मंदसौर (गरोठ)।   गरोठ में मंगलवार को चल समारोह में डीजे बजाने को लेकर दो पक्षों में विवाद हो गया। विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों ओर से पथराव होने लगा। इससे चल समारोह को वहीं रोक दिया और पहले पथराव करने वालों को गिरफ्तार करने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया। विवाद के दौरान एक घर, बोलिया रोड स्थित कबाड़ा गोदाम में तोड़फोड़ कर आग लगा दी। वाहनों को भी आग के हवाला कर दिया। एहतियात के तौर पर अन्य थाना क्षेत्रों से बल मंगवाना पड़ा। सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और स्थिति को संभाला। बुधवार सुबह प्रशासन ने गरोठ में धारा 144 लागू कर दी। यहां कई जगह बाजार भी बंद रहे।

जानकारी के मुताबिक नगर के खटीक मोहल्ला, पायक मोहल्ला तथा रविदास मोहल्ला में चल समारोह निकलने की तैयारी के दौरान रविदास मोहल्ला का जुलूस रात्रि साढ़े आठ बजे खटीक मोहल्ले की ओर जा रहा था। इस दौरान कुछ लोगों ने जुलूस के साथ चल रहे डीजे बंद करने की बात कही। इस बात को लेकर विवाद बढ़ गया। इसके बाद तो दोनों ओर से पत्थरबाजी होने लगी।

रात करीब साढ़े आठ बजे चल समारोह मसजिद चौक पहुंचा। इस पर शरारती तत्वों ने पथराव कर दिया। इससे चल समारोह में शामिल लोगों ने भी पथराव किया। सूचना पर टीआई नरेंद्रसिंह ठाकुर बल के साथ पहुंचे व लोगों को समझाने का प्रयास किया लेकिन वे पहले पथराव करने वालों को गिरफ्तार करने की मांग पर अड़े रहे। एसडीएम आरपी वर्मा, एसडीओपी भंवरसिंह सिसौदिया सहित अन्य अधिकारियों ने समझाने का प्रयास किया। नगर में भानपुरा, शामगढ़ व सीतामऊ सहित जिले के अन्य थानों से पुलिस बल बुलवा लिया गया है। रात 11.35 बजे कलेक्टर ओमप्रकाश श्रीवास्तव व एसपी मनोजसिंह भी गरोठ पहुंच गए। उधर, रात 11.48 बजे शरारती तत्वों ने सब्जी मंडी स्थित चार गुमटियों में भी आग लगा दी। जुलूस पर पथराव के बाद हुए विवाद के दौरान लोगों ने बाइक को आग लगा दी।

धारा 144 के प्रतिबंधात्मक प्रावधानों के तहत नगर परिषद गरोठ के सीमा क्षेत्र में कोई भी व्यक्ति किसी भी प्रकार का आग्नेयास्त्र, फायर आर्म्स एवं घातक अस्त्र-शस्त्र जैसे बंदूक, पिस्तौल, रिवाल्वर, खन्जर, शमशीर आदी लेकर नहीं चलेगा और न ही किसी प्रकार का घातक हथियार जिनसे किसी को चोट पहुंचाने के प्रयोग में लाया जा सकने का खतरा हो, धारित कर सार्वजनिक रूप से नहीं निकलेगा, चाहे वह लाईसेंसधारी ही क्यों न हो। कोई भी व्यक्ति या समूह या सम्प्रदाय या राजनिक दल नगर परिषद गरोठ के सीमा क्षेत्र से अनुविभागीय दण्डधिकारी से 24 घण्टें पूर्व वैधानिक अनुमति प्राप्त किये बगेर किसी भी स्थान पर आम सभा, धरना, रैली, प्रदर्शन, चल समारोह एवं बंद न तो आयोजित करेगा ना ही इसके लिये प्रचार प्रसार करेगा। कोई भी आमसभा, जमावडा, आयोजन जिसमें 5 या 5 से अधिक व्यक्ति शामिल हो बिना थाना प्रभारी गरोठ, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस गरोठ, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गरोठ की सहमति से अनुविभागीय दण्डाधिकारी की अनुमति के बिना आयोजित नही किये जा सकेंगे। ध्वनि विस्तारक यंत्रो के उपयोग पर भी पूर्णतः प्रतिबंध रहेगा।

यदि कोई व्यक्ति इस आदेश का उल्लंघन करेगा, तो वह भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत दण्डनीय अपराध का दोषी होकर उसे विधि के प्रावधानों के तहत दंडित किया जायेगा। कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री श्रीवास्तव ने सभी नागरिकों से शांति और संयम का परिचय देकर आपसी भाईचारा और सद्भाव बनाये रखने की अपील की है। उन्होने कहा है कि कोई भी नागरिक किसी भी प्रकार की अफवाहों या अतथ्यात्मक सूचनाओं पर कतई ध्यान न दें और कानून व शांति व्यवस्था बनाये रखने में जिला व पुलिस प्रशासन को सहयोग दें। उन्होने बताया कि गरोठ में स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है और प्रशासन पूरी सजगता से परिस्थितियों पर कडी नजर रखे हुए है। उन्होंने बताया कि शांति भंग करने वाले अराजक व उपद्रवी तत्वों को चिन्हित कर लिया गया है। अराजकता फैलाने वालों पर कडी से कडी कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने सभी से किसी भी प्रकार की अफवाहें न फैलाने और निराधार बांते और अफवाहें फैलाने वालों की जिला व पुलिस प्रशासन को फौरन सूचना देने की अपील की है।

स्मरण रहें कि मंगलवार को अनन्तचतुर्दशी के चल समारोह के दौरान कुछ असामाजिक तत्वों द्वारा चल समारोह पर पथराव कर फिजा को खराब करने का सफल प्रयास किया था। पथराव के प्रतिक्रिया स्वरूप कुछ पथराव की घटना भी हुई थी। यही ही नहीं आक्रोशित लोगों ने चल समारोह पर पथराव करने वाले लोगांे को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग भी की थी। हालांकि इस घटना के बाद कुछ स्थानोें पर आगजनी व तोड़फोड की घटनाएॅ भी सामने आई थी। घटना की जानकारी मिलते ही कलेक्टर ओपी श्रीवास्तव, पुलिस अधिक्षक मनोजसिंह सहित जिले के आला अधिकारियों ने गरोठ पहुॅचकर स्थिति को नियंत्रण में लिया है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts