Breaking News

गांधी चौराहे के दो स्वरूप 

एक में व्यक्ति निष्ठा तो दूसरें में तिरंगा का सम्मान, एक ने बिना अनुमति तो दूसरे ने अनुमति लेकर दिया संस्कारों का परिचय

मंदसौर। नगर में इन दिनों गांधी चौराहें दो स्वरूप देखकर नगर का हर आमजन हतप्रद रह गया। एक स्वरूप में गांधी चौराहे के स्वरूप को एसा पाट दिया गया था कि मानों यह किसी की निजी सम्पत्ति हो। बीना अनुमति चौराहे का स्वरूप बिगाढ़ने वालों के तरफ किसी ने भी कार्यवाही करने का साहस नहीं दिखाया। फिर चाहे वो जनप्रतिनिधि हो या प्रशासनिक अधिकारी। क्योंकि कार्यवाही करने की नैतिक जिम्मेदारी प्रशासन की बनती है जिससे उसने मुंह ही मोड़ा है। क्योंकि एक स्वरूप में चौराहे को राष्ट्रभक्ति की भावना से नहीं व्यक्ति पूजा के लिए सजाया गया था। वहीं दूसरें स्वरूप में वर्तमान में गांधी चौराहे को तिरंगे के स्वरूप में सजाया गया है। इससे राष्ट्रभक्ति एवं राष्ट्र के सम्मान को लेकर किया गया है। नगर में निकलने वाली तिरंगा यात्रा को लेकर नगर के अधिकांश चौराहों को विधिवत् अनुमति लेकर तिरंगा यात्रा समिति ने तिरंगे का स्वरूप प्रदान किया है। जो कि एक राष्ट्रीय भावना को ही दर्शाता है और यही फर्क आमजन भी समझ रहा है। हेलो मन्दसौर के फेसबुक पोल में जनता ने भी माना है कि राजनिति ने चौराहों की सुन्दरता को पोस्टर और फलेक्स ने खत्म किया है।

https://www.facebook.com/brajesh.arya.mds/posts/2072159449712123?notif_id=1534142350797457&notif_t=visual_poll_vote_feedback&ref=notif

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts