Breaking News

गुरूवार सांय काल अपहरण हुई बालिका जावरा से मिली

शहर कोतवाली पुलिस ने बताया कि रानी पिता रोहित सोनी (8) निवासी अकोला जिला चित्तौड़ (राज.) मंदसौर में परिजनों के साथ रिश्तेदार जगदीश सोनी के बेटे की शादी में आई थी। गुरुवार शाम 4 बजे बालिका अपनी दादी, बुआ सहित अन्य परिजनों के साथ मंडी गेट स्थित रिश्तेदार की दुकान आनंद ज्वेलर्स पर पहुंची।

वहां बातचीत कर रहे थे। इसी दौरान आरोपी अशोक माली भी दुकान पर ही बैठा था। तब एक बार दुकान संचालक ने कहा था कि मैं सभी को धर्मशाला छोड़ देता हूं। महिलाओं ने मना कर दिया और पैदल ही जानेे लगे। दुकान से कुछ ही दूर बाइक पर अशोक माली आया और महिलाओं से कहा कि सेठजी ने कहा है कि बालिका को छोड़कर आ जाओ। महिलाओं ने विश्वास कर रानी को बाइक पर बैठा दिया।

इसके बाद अशोक बालिका को लेकर गायब हो गया। महिलाएं धर्मशाला पहुंची और वहां बालिका नहीं दिखी तो हंगामा मच गया। परिजन शहर कोतवाली पहुंचे और शिकायत दर्ज कराई। आनंद ज्वेलर्स के संचालक ने ही बाइक सवार की पहचान अशोक माली निवासी गीता भवन के रूप में की थी। शाम को पुलिस ने उसकेे घर पर भी दबिश दी, पर वह वहां भी नहीं मिला।

इसी दौरान एसपी मनोज शर्मा ने आरोपी अशोक माली की सूचना या उसके बारे में कोई भी जानकारी देनेे वाले को 5 हजार रुपए का इनाम देने की घोषणा भी कर दी। पुलिस के तीन-चार दल को बालिका व आरोपी की तलाश में लगा दिया था।

पहली प्राथमिकता थी बालिका को सुरक्षित लाने की
एसपी शर्मा ने घटना का पता चलते ही एएसपी अजयप्रतापसिंह, एसडीओपी ग्रामीण डीवीएस चौहान, सीएसपी संध्या रॉय, टीआई नरेंद्रसिंह ठाकुर सहित सभी को एक ही बात कही थी कि पहली प्राथमिकता बालिका को सुरक्षित लाने की है। इसलिए अपना पूरा-पूरा का अमला इसमें झाेंक दो। अधिकारियों ने भी उसी अनुरूप कार्य किए। शहर सहित आसपास के क्षेत्रों में भी आम लोगों को सूचना देकर खोजबीन करने को कहा। सोशल मीडिया पर बालिका व आरोपी के फोटो शेयर किए।

आरोपी के परिजन नहीं कर रहे थे सहयोग
आरोपी के परिजन अशोक माली के न तो नंबर दे रहे थे और न ही उसके बारे में कुछ बता रहे थे, पर आरोपी को पल-पल की जानकारी दे रहे थे। पुलिस ने थोड़ी सख्ती कर उसके परिजनों को एक-एक कर थाने पर लाकर बैठाया। आरोपी के बहन-बहनोई से भी कड़ी पूछताछ की। इसी दौरान सूचना आई कि अशोक बालिका कोे जावरा में छोड़कर भाग गया है। पुलिस के अनुसार अशोक पूर्व में एनडीपीएस एक्ट का भी आरोपी रहा है। इसके अलावा उसके खिलाफ धारा 377 का मामला भी दर्ज हुआ था।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts