Breaking News

जिला पंचायत अध्यक्षा के गृहनगर सडकों के लिए तरस गया,

क्रिकेट प्रतियोगिता के नाम पर लाखों खर्च लेकिन बुनियादी सुविधाओं के नाम पर कुछ नहीं

नाहरगढ। जिला पंचायत अध्यक्षा श्रीमती प्रियंका गोस्वामी के गृहनगर नाहरगढ़ में सड़कों की हालत अत्यंत दयनीय है। स्वयं जिला पंचायत अध्यक्ष भी इस ओर कोई ध्यान नही ंदे रही है। जबकि वे क्षेत्र की एक जिम्मेदार जनप्रतिनिधि है और सुवासरा सीतामउ सीट से विधानसभा लड़ने की इच्छुक भी बताई जाती है। लेकिन फिर भी वे क्षेत्र के लोगों के लिए बुनियादी सुविधाएॅ भी नहीं जुटा पा रही है। क्षेत्र की सड़कों पर गड्डे ही गड्डे व पुरी उखडी सडक को सुधारने की मांग क्षेत्रवासी कई बार जिम्मेदारों से कर चुके है, परन्तु दो विभागों के बिच उलझी सडक आज तक मंजूर नही हो पाई है। बारिश का मौसम आने वाला है गड्डो मे पानी भरजाने पर वाहन कैसे चलेगे इस पर जनप्रतिनिधि मौन है।

पिछली बारिश में टूटा पुल अब तक नहीं सुधरा
क्षेत्र की पुलिया का 20 फिट भाग पिछली बारिश मे टुटा था उसकी रिपेरिंग आज तक नही हो पाई है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि क्षेत्र के जनप्रतिनिधि क्षेत्र में कितने सक्रिय है। नाहरगढ से बिल्लोद रोड के हाल भी अत्यंत बैहाल है। दोनो पार्टियांे के नेता मिशन 18 की तैयारी मे लगे हुए है।

गोस्वामी दम्पत्ति का लाखों का क्रिकेट दूर्नामेंट, क्षेत्र के लोग बुनियादी सुविधाओं से दूर

नाहरगढ़ क्षेत्र से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव लड़कर जिला पंचायत के अध्यक्ष तक पहुंची। श्रीमती प्रियंका गोस्वामी पढ़ी लिखी महिला है। उनके पति डॉ मुकेश गोस्वामी भी भाजपा के युवा नेता है। दोनों के द्वारा आगामी 2018 के विधानसभा की तैयारियों के अंतर्गत नाहरगढ में लाखों रूपये खर्च कर क्रिकेट टूर्नामेंट कराकर क्षेत्र के युवाओं को आर्कषित किया जा रहा है। लेकिन क्षेत्र के लोग सड़को के हाल बेहाल होने से परेशान इस ओर जिला पंचायत अध्यक्ष का कोई ध्यान नहीं है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts