Breaking News

ग्राम फतेहपुर में दो तेंदुओं ने मचाया आतंक

एक महिला सहित पांच गंभीर घायल, घायलों में पुलिस और मीडियाकर्मी भी

मंदसौर। जिले के ग्राम नारायणगढ़ से लगभग दस किमी दूर स्थित फतेहपुर में सोमवार को दो तेंदुओं के आतंक से ग्रामीणजन त्राही त्राही कर उठे। तेदुंओं के हमले से चार पुरूष सहित एक महिला गंभीर रूप से घायल हुई है जिन्हें तत्काल उपचार हेतु जिला अस्पताल लाया गया। जैसे ही तेंदुऐं गांव में घुसे उन्होने सबसे पहले एक महिला को अपना शिकार बनाते हुए गंभीर रूप से घायल कर दिया। जिसके बाद तेंदुएं खेतों की ओर भाग गए। गांव में तेंदुओं के घुसने की खबर आग की तरह फैल गई। पहले ग्रामीणों को लगा कि लकड़बग्घा होगा लेकिन बाद में जैसे जैसे तेंदुएं को देखने वाले ग्रामीणों की संख्या में बढ़ी तब जाकर तेदुएं की पुष्टि हुई। आधे घंटे बाद मालूम हुआ कि दो तेदुएं है। तेंदुऐ को पकड़ने की कोशिश में एक पुलिसकर्मी, एक मीडियाकर्मी सहित पांच लोगों को तेदुओ ने घायल कर दिया। तेंदुएं को पकड़ने के लिए ग्रामीणों ने पथराव भी किया जिसमें एक तेंदुएं की मौत हो गई जबकि दूसरा तेदुआं जंगल की ओर भाग गया। जिसकी तलाश वन विभाग की टीम द्वारा कि जा रही है।

सोमवार को सुबह ग्राम फतेहपुर में एक घर में दो तेंदुएं घुस गए। इस दौरान उन्होंने एक ग्रामीण महिला हमेरीबाई पर हमला कर घायल कर दिया। इसके बाद दोनों तेदुऐं एक खेत में जाकर छुप गए।

ग्रामीणों ने तेदुओं के घुसने की खबर वन विभाग के साथ साथ पुलिस को भी दी। नारायणगढ़ पुलिस की टीम तुरंत मौके पर पहुंच गए। जबकि वन विभाग की टीम ने पहुंचने में ग्रामीणों के अनुसार कुछ देरी करदी। तेदुओं को पकड़ने के लिए वन विभाग और पुलिस द्वारा खूब मशक्कत की गई। जिसके बाद एक तेदुंए को बेहोशी की हालत में पकड़ लिया गया। जिसकी बाद में उसकी मौत हो गई। जबकि दूसरा तेंदूआं भाग निकला।

तेदुऐं के हमले शिकार लोगों में वरदीचंद पिता फतेहसिंह, नेमीचंद पिता मनोहरलाल, मांगूसिंह, हमेरीबाई सभी निवासी फतेहपुर रमेश प्रजापति पिता कन्हैयालाल निवासी नारायणगढ़ है।

समय पर पहुंच गई थी टीम

तेदुओं के गांव में घुसने की जानकारी जैसे ही वन विभाग को लगी। विभाग की टीम गांव में पहुंच गई थी। जहां पर एक तेदुएं को बेहोशी की हालत में टीम ने पकड़ा। जिसकी बाद में मौत हो गई। तेदुएं की मौत दम घुटने व इंटरनल ब्लडिंग के कारण हुई है। दूसरे तेदुएं की तलाश की जा रही है। – मयंक चांदीवाल, वनमंडलाधिकारी, मंदसौर

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts