Breaking News

ग्राम संसद में शामिल हुये प्रमुख सचिव ने सांसद आदर्श ग्राम बालागुढा की तारीफ करी

आदर्श ग्राम कैसा होता है, इसके मायने मुझे बालागुढा आकर समझ में आया। यह गांव हर मामले में प्रगतिशील है। यहां विकास के हर क्षेत्र में अच्छा काम हुआ है। यहां के किसान और पशुपालक दोनो समृद्व हैं। दूसरे गांवों और ग्रामीणों को इस गांव से प्रेरणा लेनी चाहिये। प्रदेश के नवीन एवं नवकरणीय उर्जा विभाग के प्रमुख सचिव श्री मनु श्रीवास्तव ने आज इस आशय की बात कही। प्रमुख सचिव श्री श्रीवास्तव आज  मल्हारगए विकासखण्ड क्षेत्र के सांसद आदर्श ग्राम बालागुढा में हुई ग्राम संसद में ग्रामीणों को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर कलेक्टर श्री स्वतंत्र कुमार सिंह, ग्राम सरपंच श्रीमती मंजू गोविन्द शर्मा, उप सरपंच श्रीमती मंजूबाई पाटीदार, श्री मोडीराम पाटीदार एवं जिले के समस्त जिलाधिकारी तथा बडी संख्या में ग्रामीणजन एवं महिलाएं उपस्थित थी। प्रमुख सचिप ने इस मौके पर गांव की 10 लाडली लक्ष्मियों को 6-6 हजार रू के राष्ट्रीय बचत पत्र वितरित करने के अलावा इसी गांव में समर्पित होकर सेवा देने वाली दिव्यांग आंगनवाडी कार्यकर्ता श्रीमती भागवंती पाटीदार का शाल श्रीफल देकर सम्मान भी किया।

इस अवसर पर प्रमुख सचिव श्री श्रीवास्तव ने किसानों भाईयो से कहा कि अपनी खेती की लागत कम करने लिए उन्हें रासायनिक खाद के बदले जैविक खाद का अधिकाधिक इस्तेमाल करना चाहिये। उन्होने कहा कि गांव हो या खेती किसानी, इनके विकास के लिए हम सबको मिल जुलकर आगे आना ही होगा। गांव और गरीबों के विकास तथा किसानों को खेती किसानी की नई-नई तकनीकों के बारे में जानकारियां देने के लिए राज्य सरकार ग्रामोदय से भारत उदय अभियान चला रही है। अपने जीवन स्तर में सुधार लाने और आर्थिक स्वावलबंन के लिए ग्रामीणजन और किसान भाई इस अभियान का अधिकाधिक लाभ उठायें। ग्रामोदय से भारत उदय अभियान के अन्तर्गत हुई इस ग्राम संसद में प्रमुख सचिव श्री श्रीवास्तव ने कहा कि ग्राम सभाओं को और प्रभावी बनाया जाये। मैदानी अमला ग्रामीणों से सीधा संवाद स्थापित करे। गांव के आम आदमी से गांव की समस्याओं के बारे में चर्चा करें और उनके निराकरण का प्रस्ताव गांव के विकास के लिए बनाई गई ग्राम पंचायत विकास कार्ययोजना में शामिल कर लिया जायें। ग्रामसभा में ग्रामीणों और महिलाओं की उपस्थिति अधिक से अधिक हो, यह सुनिश्चित किया जाये। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि राज्य सरकार की मंशा के मुताबिक किसानों की आय दुगुना करने के लिए तैयार किये गये रोडमेप के आधार पर किसानों को फसल चक्र परिवर्तन और नकद फसल उत्पादन के साथ-साथ दुधारू पशु पालकर दुग्धोत्पादन कर अतिरिक्त आय प्राप्त करने के लिए हर जरूरी मार्गदर्शन और शासकीय मदद मुहैया कराई जाये। बालागुढा की तरह ही जिले के हर गांव के विकास के लिए अच्छी से अच्छी कार्ययोजना बनाई जायें। उन्होने कहा कि ग्राम पंचायत को मिलने वाली विकास निधि की राशि से ग्रामीणों की सहमति से हर गांव को स्वच्छ और सुन्दर बनाने के लिए हरसंभव कार्य, प्रयास और नवाचार किये जायें।
कलेक्टर श्री सिंह ने इस मौके पर कहा कि प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत वर्ष 2022 तक जिले के हर किसान के, हर खेत तक पानी पहुंचाने के लिए कटिबद्व प्रयास किये जा रहें हैं। सबका एक मात्र उद्देश्य गांव का विकास करना है। ग्रामीणों का जीवन संवारने के लिए हम सब मिलकर प्रयास करेंगे। इस गांव के अधिकाधिक जरूरतमंदों के लिए प्रधानमंत्री/मुख्यमंत्री आवास योजना के तहत पक्के मकान बनाये जायेंगे। उन्होने इस अवसर पर कहा कि यह गांव बेहद ही प्रगतिशील है। यहां के किसान जैविक खाद उत्पादित करते हैं और देश के कई अंचलों तक पहुंचाते है। यहां के किसान अपनी जैविक खाद विदेशों को निर्यात करने का माद्दा रखतें है। कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि ग्रामीणों को सरकार के ग्रामोदय से भारत उदय अभियान का भरपूर लाभ उठाना चाहिये। उन्होने कहा कि अगले पांच सालों के भीतर देश के हर ग्रामीण के पास उसका अपना पक्का मकान होगा। ग्राम संसद को अन्य वक्ताओं ने भी संबोधित किया। ग्राम संसद में प्रमुख सचिव श्री श्रीवास्तव ने बालागुढा में 14 अप्रैल से अबतक ग्रामोदय से भारत उदय अभियान के क्रियान्वयन के संबंध में किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग, उद्यानिकी, पशुपालन, सर्वशिक्षा, ग्रामीण विकास व अन्य विभागों के अधिकारियों एवं मैदानी अमले से सीधी चर्चा की एवं सभी से फीडबैक लिया। कार्यक्रम का संचालन प्रभारी उप संचालक सामाजिक न्याय डॉ. जेके जैन ने किया।
ग्राम संसद के पश्चात प्रमुख सचिव श्री श्रीवास्तव ने गांव में बन रहें प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास का मुआयना किया। वे बालागुढा के दुग्ध संग्रहण केन्द्र में भी गये। रोजाना होने वाले दुग्ध संग्रहण व दुग्ध विक्रय करने आने वाले पशुपालको को दी जाने वाली सुविधाओं, भुगतान पद्वति व अन्य गतिविधियों की भी जानकारी लीं। इसके पश्चात प्रमुख सचिव ग्राम पंचायत कार्यालय पहुंचे। कार्यालय का मुआयना किया और परिसर में अशोक का पौधा भी रोपित किया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts