Breaking News

ग्लोबल हेरीटेज योग्य है भानपुरा में मिली रॉक पेंटिंग्स

दुर्गम चट्टानों एवं झाडियों से भरे रास्तों से गुजर कर कलेक्टर श्री सिंह एवं पुलिस अधीक्षक श्री शर्मा इन रॉक पेंटिंग तक पहुंचे, और इन्हें देखकर अदभूत बताया। दर की चट्टानों के बीच मौजूद गुफाओं में से एक गुफा में से करीब 400-500 कप मार्क्स मिले है। इस दौरान रॉक आर्ट सोसायटी के महासचिव डॉ. गिरीराज रासी, सहायक कलेक्टर श्री अर्पित वर्मा, श्री पी के भट्ट, डॉ. जेके जैन सहित अन्य अधिकारी और पत्रकारगण मौजूद थे। रॉक पेंटिंग देखकर कलेक्टर श्री सिंह ने कहा कि ये संभवतः दुनिया की सबसे पुरानी रॉक पेंटिंग मे से एक हैं यह रॉक पेंटिंग ग्लोबल हेरीटेज बनने योग्य है। उन्होने मौके पर मौजूद पुरात्वविदों से कहा कि वे इन रॉक पंटिंग के बारे में की गई शौध के बारें में डिटेल रिपोर्ट दें, ताकि इन रॉक पेंटिंग (कप मार्क्स) संरक्षण व सुरक्षा के लिए भारतीय पुरातत्व संर्वेक्षण व अनुसंधान विभाग को पत्र लिखकर इस हेरीटेस के बारे में बताया जा सके। उन्होने कहा कि जिला प्रशासन, भारतीय पुरातत्व संरक्षण एवं राज्य के पुरातत्व विभाग के सहयोग से इस पूरे क्षेत्र विशेषकर रॉक पेंटिंग के संरक्षण के लिए प्रयास करेगा।
इस मौके पर एसपी श्री शर्मा ने कहा कि एक कम्पाउण्ड एरिया में मिले ये रॉक पेंटिंग हमारे प्रागेतिहासिक इतिहास के बारे में बताते है। इससे यहां लाखों वर्ष पहले मानव के अस्तित्व होने के सबूत मिलते है। इस संपूर्ण ईलाके की पूरी सुरक्षा की जायेगी। और यहां अवांच्छित लोगों को आने से रोका जायेगा ताकि इस बेहद अनमोल पुरातात्कि धरोहर को कोई भी नुकसान नही पहुंचा सके।
मौके पर ही मौजूद रॉक आर्ट सोसायटी ऑफ इण्डिया के महासचिव डॉ. गिरीराज रासी ने कहा कि हम 1995 से इन चट्टानों में मिले शैल चित्रों पर शौध कर रहें है। इन पर हमारी रिसर्च अभी जारी है। फिलहाल आधिकारीक रूप से कहा जाना मुस्किल है कि वे शैल चित्र कितने पुराने है पर संभवतः 2.5 लाख वर्ष पुराने होने की संभावना है। मालूम हो कि इन शैल चित्रों पर रॉक आर्ट सौसायटी ऑफ इण्डिया एवं इन्टर नेशनल इन्स्टीट्यूट रेप्लेकेटीव आर्कियों लॉजी संस्थान द्वारा संयुक्त रूप से अनुसंधान किया जा रहा है। आस्ट्रेलिया से आये श्री राबर्ट जीबेडनारिक द्वारा पिछले कई सालों से इन रॉक पेंटिंग पर रिसर्च की जा रही है। श्री जीबेड नारिक ने इन रॉक पेंटिंग को संभवतः विश्व की सबसे पुरानी रॉक पेंटिंग बताकर कहा कि इस पर हम एक डिटेल रिसर्च पेपर प्रकाशित करेंगे। हमारी शौध अंतिम चरण में है। बहुत जल्द हम विश्व को मानव के नये इतिहास के बारे में बतायेंगे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts