Breaking News

चोरी की बिजली से आयोजित किया अंत्योदय मेला

तय समय से दो घंटे देरी से पहुंचे अतिथि:- कार्यक्रम का तय समय सुबह करीब 10.30 बजे का था। जिसमें ग्रामीण और हितग्राही तो समय पर पहुंचे। लेकिन कार्यक्रम के अतिथि तय समय से करीब दो घंटे देरी से पहुंचे। अतिथी समय पर नहीं पहुंचने को लेकर अधिकारी- कर्मचारियों द्वारा ग्रामीणों से क्षेत्र, फसलों, मसाला सहित विभिन्न बिंदुओं पर प्रश्र किए। जिनके जवाब देने वाले ग्रामीणों को पुरस्कृत किया। और अतिथियों के आने के बाद शासन की योजनाओं की जानकारी देकर हितग्राहियों को उनका लाभ दिया।

राजस्व ग्राम में जुड़ेंगे क्षेत्र के 118 मजरे टोले
मेले में 170 शिकायती आवदेन प्राप्त हुए। इनमें से 56 आवेदनों का मौके पर निराकरण किया गया। बाकी आवेदनों का निराकरण समय सीमा में करने का आश्वासन दिया गया। मेले में विधायक चंदरसिंह सिसोदिया ने कहा कि सरकार द्वारा 5 हार्सपावर के पंप पर 25 हजार रूपए का अनुदान दिया जा रहा है। भविष्य में किसानों को सोलर पंप देने की योजना है। अस्थाई कनेक्शन की जगह स्थाई विद्युत कनेक्शन देने पर विचार चल रहा है। क्षेत्र को टूरिज्म से जोडऩे के लिए मास्टर प्लान तैयार कर मूर्तरूप देने का कार्य किया जा रहा है। शासन द्वारा डूब क्षेत्र के 700 मजरे टोलों को राजस्व ग्राम में जोडऩे की तैयारी की जा रही है। जिसमें इस क्षेत्र के 118 मजरे टोले शामिल है। सुवासरा विधायक हरदीपसिंह डंग ने ग्रामीणों से विभिन्न योजनाओं का लाभ लेने की अपील की। कार्यक्रम को भाजपा जिलाध्यक्ष देवीलाल धाकड़, जिला पंचायत सदस्य रंजना पंडा, नगर परिषद् अध्यक्ष अनोख पाटीदार, मंडल अध्यक्ष राजेश सेठिया आदि ने भी संबोधित किया।

भोजन के पैकेट के लिए झूमाझटकी
मेले में पहुंचे और ग्रामीणों के लिए भोजन के पैकेट की व्यवस्था की गई थी। लेकिन इनकी वितरण व्यवस्था ठीक से नहीं की गई। इसको लेकर ग्रामीणों में भोजन के पैकेट की थेलियों से पैकेट ले जाने के दौरान झूमा-झटकी हुई। कुछ देर चली झूमाझटकी के बाद अधिकारियों ने पहुंचकर व्यवस्था को ठीक करने का प्रयास किया। कार्यक्रम में अपर कलेक्टर, अतिरिक्त कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत, सहायक कलेक्टर अर्पित वर्मा, सीईओ गरोठ रविकांत उइके, नायब तहसीलदार नारायण चौहान सहित विकासखंड के विभिन्न विभागों के कई अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे। मेले में बिजली चोरी की जा रही थी। मौके पर पहुंचकर पंचनामा बनाया है। सोमवार को मेला अधिकारी को नोटिस दिया जाकर बिलिंग राशि वसूल की जाएगी। – मनोज यादव, जेई, बिजली कंपनी

मेले में जनरेटर की व्यवस्था की गई थी। विद्युत चोरी जैसा कोई मामला संज्ञान में नहीं है। इसकी जांच की जाएगी।- रविकांत उइके, सीईओ, गरोठ

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts