Breaking News

चौथे दिन भी जारी रही अभिभाषकों की हड़ताल

पुलिस प्रशासन का प्रस्ताव अभिभाषक संघ ने नहीं किया स्वीकार

मंदसौर। अभिभाषक संघ की अनिश्चितकालिन हड़ताल सोमवार को चौथे दिन भी जारी रही। उम्मीद जताई जा रही थी कि सोमवार को पुलिस प्रशासन अभिभाषकों से बात कर हडताल खत्म करवा देगा और हुआ भी ऐसा ही लेकिन बात अंजाम तक नहीं पहुंच पाई और अभिभाषकों की हडताल सोमवार को भी समाप्त नहीं हो पाई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार को अभिभाषकगण हड़ताल पर बैठे रहे। दोपहर 1 बजे पुलिस अधिक्षक मनोजसिंह के आदेश पर सीएसपी राकेश मोहन शुक्ला अभिभाषकों से बात करने न्यायालय परिसर में पहुंचे। जहॉ से सभी अभिभाषक व सीएसपी ने बार एसोसिएशन के हॉल में बैठकर मामले को लेकर चर्चा की। जानकारी के अनुसार सीएसपी श्री शुक्ला ने अभिभाषकों से कहा कि कोतवाली टीआई अभी गैंगरेप मामले की जांच में लगे है इसलिए उन पर कार्यवाही करने के लिए एक माह समय चाहिए और जिन वकिलों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया गया है। उनका भी खात्मा न्यायालय में पेश कर दिया जाएगा और न्यायालय से खात्मा होते ही जिसने झूठी रिपोर्ट लिखाई उसके खिलाफ भी कार्रवाई कर दी जाए। लेकिन अभिभाषक संघ का कहना था कि सारी बातें आ ही मानना होगी कोई समय हमारे द्वारा नहीं दिया जाएगा। इस प्रकार बातचीत बेनतीजा ही रही और अभिभाषकों की हड़ताल जारी रही।

 

प्रभावित हुआ कामकाज
अभिभाषकों की हड़ताल की वजह से न्यायलयीन कामकाज प्रभावित रहा और कई महत्वपूर्ण काम सोमवार हो नहीं हो पाए। शनिवार और रविवार को छुट्टी होने के कारण हड़ताल के कारण ज्यादा परेशानी नहीं हुई लेकिन सोमवार को कोर्ट परिसर में अभिभाषकों की हड़ताल का असर देखने को मिला।

 

त्वरित कार्यवाही चाहिए, आश्वासन नहीं
पुलिस के प्रतिनिधि के रूप में सीएसपी श्री शुक्ला आए थे लेकिन वे लम्बा समय मांग रहे थे। अभिभाषकों ने स्पष्ट मना कर दिया हम त्वरित कार्यवाही चाहते है। कोतवाली टीआई को तुरंत हटाया जाए यही हमारी प्रमुख मांग है। – जयदेवसिंह चौहान, अध्यक्ष, अभिभाषक संघ, मंदसौर

 

हमने को तो बात कर ली वे नहीं माने
कोतवाली टीआई दुष्कर्म मामले की जांच में लगे है, अभी चालान भी पेश करना है उनकी आवश्यकता है उन्हें ऐसे नहीं हटाया जा सकता हमने अभिभाषकों से बात की है लेकिन वे नहीं मान रहे है। – मनोज सिंह, एसपी, मंदसौर

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts