Breaking News

जनप्रतिनिधियों की बैरूखी की वजह से धरने पर बैठे किसानों को सपा का समर्थन

घायल किसानों को मुआवजा नहीं मिला तो सपा करेगी मुख्यमंत्री का घेराव- अमरसिंह

मन्दसौर। किसान आंदोलन के दौरान भाजपा सरकार द्वारा चलवाई गई गोलियों में घायल किसानों को मुआवजा देने की घोषणा कर कुंभकर्णी नींद में सोये मुख्यमंत्री को जगाने के लिये पिछले कई दिनों से घायल किसान पिपलियामंडी में लगातार धरना देकर मुआवजे सहित अन्य मांगों को लेकर धरने पर बैठे है। शासन-प्रशासन की ओर से कोई भी जिम्मेदार सुनने नहीं आया जिससे किसानों का सब्र टूटता जा रहा है। भाजपा के जनप्रतिनिधि किसानों से चर्चा करने धरना स्थल पर नहीं आया। ऐसे में समाजवादी पार्टी पिपलियामंडी में किसानों द्वारा दिये जा रहे धरने का नैतिक समर्थन करती है तथा अगर मांगे नहीं माने गई तो मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के आगामी सुवासरा दौरे पर किसानों के हित में किसानों के साथ उन्हें काले झंडे दिखायेगी एवं उनका घेराव करेगी।

उक्त आशय का पत्र मध्यप्रदेश के महामहिम राज्यपाल को लिखकर समाजवादी पार्टी जिलाध्यक्ष अमरसिंह चौहान ने कहा कि पूर्व में भी भाजपा जनप्रतिनिधियों की अनदेखी से किसानों का आंदोलन का विस्तार हो गया था तथा भाजपा के इशारे पर गोली चालन के बाद भाजपा के पदाधिकारी व जनप्रतिनिधि घडि़याली आंसू बहाने आये अगर पहले ही आकर सार्थक चर्चा करते तो शायद किसान आंदोलन की इतनी बुरी परिनीति नहीं होती। ऐसे जनप्रतिनिधि को अपने कार्य के प्रति लापरवाही के चलते अपने पद से त्यागपत्र दे देना चाहिए।

आपने राज्यपाल से मांग की कि तत्काल मुख्यमंत्री की घोषणा अनुसार घायल किसानों को 5-5 लाख रूपये प्रदान कर उचित मांगों का निराकरण करे एवं अल्प वर्षा की वजह से फसल को काफी नुकसान हो चुका है। पहले ही किसान काफी सदमें में है। इस पर भी विद्युत मण्डल तानाशाही रवैया अपनाकर पठानी वसूली के तहत घरों व कुओं की विद्युत कनेक्शन काटकर घरेलु वस्तुओं को भी जप्त कर रहा है। इससे किसानों में काफी आक्रोश एवं चिंता व्याप्त हो गई है। इस पर आगामी फसल तक तत्काल किसी भी प्रकार की वसूली पर रोक लगाकर सरकार विद्युत बिलों को माफ करे एवं बदले हुए मौसम में अघोषित विद्युत कटोत्री से मच्छरों का प्रकोप बढ़ गया है जिससे बिमारी फैल रही है। तत्काल विद्युत प्रदाय नियमित कर ग्रामीण क्षेत्र की जनता को राहत प्रदान करे। उक्त जानकारी जिला उपाध्यक्ष राजपालसिंह गुर्जर ने दी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts