Breaking News

जल्द पूरा शहर होगा कैमरों की जद में : अब नहीं बच पाएंगे असामाजिक तत्व पुलिस की निगाह से, दुर्घटना कर नहीं भाग पाएगा वाहन चालक

36 पाइंटों में से 16 पर लगे सीसीटीवी

मंदसौर। लम्बे समय से पूरे शहर की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने की बात कही जा रही थी जो अब धीरे धीरे मूर्तरूप ले रही है। पूरे शहर की सुरक्षा के लिए विभिन्न स्थानों का चयन कर सीसीटीवी कैमरे लगाये जा रहे है। कैमरे लगने के बाद पुलिस प्रशासन असामाजिक तत्वों पर नजर रख सकेगा। यह कैमरे नगर के प्रमुख चौराहें, मार्गो, सार्वजनिक स्थलों, मंदिरों पर लगाए जाने है।

36 स्थानों पर लगेगे तीन प्रकार के कैमरे
नगर के 36 स्थानों पर कैमरे लगाये जाने की योजना है। जिसके अंतर्गत तीन प्रकार के कैमरे लगाये जा रहे है। फिक्स कैमरे 123 लगेगे वहीं पीटीझेड कैमरो की संख्या 36 होगी जो चारो दिशाओं में घुमेगा। वहीं शहर से बाहरे जाने वाले 27 पाइंटों पर एएनपीआर कैमरे लगाये जाएगे जो वाहनों की नॅम्बर प्लेट को आसानी से पढ कर लेते है।

अभी तक 16 स्थानों पर लग चुके है कैमरे
अभी तक सीसीटीवी कैमरे नगर के 16 स्थानों पर लग गऐ है जिनमें प्रमुख रूप से पशुपतिनाथ मंदिर परिसर, तैलिया तालाब, पीजी कॉलेज, श्री कोल्ड चौराहा, बीपील चौराहा, अफीम गोदाम रोड़, रेल्वे स्टेशन, गांधी चौराहा, नेहरू बस स्टेण्ड, महाराणा प्रताप बस स्टेण्ड, घंटाघर, कोतवाली क्षेत्र, आजाद चौक और कृषि उपज मंडी है। जहॉ पर फीक्स कैमरे 59 और पीटीझेड कैमरे 16 लगाये जा चुके है।

कार्य प्रगति पर, सभी सामग्री आ चुकी है कंट्रोल रूम पर
जितने भी सीसीटीवी कैमरे और उनसे जुड़ी सामग्रीयॉ वह सभी नगर नई आबादी स्थित कंट्रोल रूम पर आ चुकी है। जिन्हे हनीवेल कम्पनी के कर्मचारी पूरे शहर में फीट कर रहे है। जल्द ही पूरे शहर में कैमरे लगा दिये जाएगे।

मैन्टेनेन्स कम्पनी की, मॉनिटरिंग पुलिस की
जो कैमरे शहर में लगाए जा रहे है। उनका मैन्टेनेन्स जो कम्पनी कैमरे लगा रही है वही करेगी और कैमरों की मॉनिटरिंग का कार्य पुलिस प्रशासन का होगा। जिसके लिए कंट्रोल रूम पर एक अलग से सर्वर रूम भी तैयार किया गया है।

प्रबंधन ठीक रहा तो, शहर के लिए अच्छी बात
सीसीटीवी कैमरे इससे पहले भी शहर के प्रमुख चौराहों पर लगाए जा चुके है। लेकिन तब प्रबंधन के अभाव में वह कैमरे खराब होकर बंद हो गए। अब बड़े पैमाने पर यह कार्य किया जा रहा है। यदि इस बार प्रबंधन अच्छा रहता है तो शहर के लिए एक अच्छी बात होगी क्योंकि कैमरे लग जाने से पुलिस असामजिक तत्वों पर आसानी से पहुॅच पाएगी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts