Breaking News

जानिए मंदसौर में कहां होता है 3 करोड़ रू. रोजाना का कारोबार !!!

त्याेहार के पहले कृषि मंडी में साेयाबीन और लहसुन की आवक आम दिन से दोगुना तक हो जाती है। कारोबार 3 करोड़ रुपए रोज या उससे अधिक तक पहुंच जाता है। इससे होने वाली परेशानी से बचाने के लिए गेहूं की तर्ज पर किसानों को सोयाबीन व लहसुन के लिए भी मंडी प्रशासन टोकन देना शुरू करेगा। मंडी में 250 से ज्यादा व्यापारी रोज खरीदी करते। जैसे-जैसे त्योहार की घड़ी नजदीक आ रही, आवक में इजाफा होने लगा है।
दिवाली के ठीक पहले मंडी के एंट्री गेट पर वाहनों की लंबी कतार और किसानों को नीलामी के लिए 2 से 3 दिन तक इंतजार करने की नौबत ना आए। इसके लिए मंडी प्रशासन समय पर व नीलामी में तेजी को लेकर अभी से प्लानिंग में जुटा है। मंदसौर में नकद भुगतान की परंपरा होने से जिले के अलावा नीमच, उज्जैन, रतलाम, इंदौर से लेकर सिंगोली, राजस्थान तक के किसान फसलें लेकर आते हैं। इस बार खासी संख्या को देखते हुए मंडी प्रशासन त्योहार के ठीक पहले अलर्ट हुआ है। किसानों को गेट एंट्री पास और डिटेल लेने के अलावा त्योहार के वक्त टोकन भी दिए जाएंगे ताकि पूरे वाहन की एंट्री हो जाए और खाली कराने के साथ तुलाई व भुगतान में देरी ना आए। इससे किसानों को नकद भुगतान लेकर शहर लौटने में भी परेशानी नहीं आएगी और समय भी बचेगा। इस संबंध में मंडी सचिव एम.एस. मुनिया ने बताया किसानों की बेहतरी के लिए कई प्लानिंग कर रहे हैं। इस बार विलंब नहीं होगा। टोकन भी जारी करेंगे।

680 लाइसेंसधारी व्यापारी, रोज खरीदी करते 250
मंडी में लाइसेंसधारी व्यापारियों की संख्या 680 से अधिक है। इनमें से केवल 250 व्यापारी ही रोज उपजों की खरीदी करते हैं। वैसे शेष व्यापारी त्योहार के वक्त सक्रिय हो जाते हैं। जो समय अब फिर से नजदीक है। इनके गोदाम भी बने हैं। मंडी में सोमवार को सोयाबीन की आवक 10 हजार बोरी रही।

सामान्य दिनों में डेढ़ से दो करोड़ का कारोबार होता
एक ओर मंडी में आवक में तेजी देखने को मिल रही तो दूसरी ओर अंचल में फसल कटाई का काम भी जारी है। किसान उपज को सप्ताहभर के आसपास मंडी पहुंचाने में जुट जाएंगे। मंडी में सामान्य दिनों में डेढ़ से 2 करोड़ का कारोबार होता है
मंडी में नई सोयाबीन की आवक बढ़ने के साथ 10 हजार बोरी पर पहुंच गई है। इससे पहले 6 से 8 हजार तक आवक थी। उत्पादन अच्छा होने से अगले दिनाें में दोगुना तक पहुंचने के आसार हैं।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts