Breaking News

जानिए वास्तु अनुसार नव युगल (दूल्हा-दुल्हन) का सुहागरात का कमरा केसा और कहां हो?

Hello MDS Android App
प्रिय पाठकों/मित्रों, शादी इंसान की जिंदगी का सबसे महत्वपूर्ण दिन होता है और सबसे फैसला भी। हर किसी के लिए सुहागरात भी बेहद ही ख़ास होती है। लोग अपनी सुहागरात को खास बनाने के लिए कई तरह की प्लानिंग करते है।  ‘सुहागरात’ शब्द सामने आते ही युवक-युवतियों के दिलोदिमाग में तरह-तरह की कल्पनाएं उड़ान भरने लगती हैं | शादी से पहले से ही दूल्हे और दुल्हन के मन में एक-दूसरे की अपेक्षाओं को लेकर चिंता बनी रहती है।सुहागरात को केवल दो जिस्मों का मिलन मानना भारी भूल होगी. यह वो सुनहरा अवसर होता है, जब एक-दूसरे से भावनात्मक तौर पर अच्छी तरह जुड़ा जा सकता है | इस मौके पर व्यवहार में सौम्यता बरतकर पार्टनर के दिल पर गहरी छाप छोड़ी जा सकती है | शादी के बाद किसी भी जोड़े के लिए पहले रात यानी सुहागरात कितनी खास होती है यह कहने की बात नहीं है। ऐसे में अगर रिश्ते पर घर का वास्तु दोष भी हावी हो जाए तो स्थिति बिगड़ सकती है। जानें, कहां हो नवयुगल का कमरा…
कई बार आपने देखा होगा कि शादी के तुरंत बाद ही पति-पत्नी में झगड़ा होने लगता है। घर में कलह रहने लगती है। इसका कारण बेडरूम की गलत दिशा हो सकती है।वास्तुविद मानते हैं कि दंपती का कमरा गलत दिशा में हो तो अनियमित जीवनशैली और टकराव बढ़ जाता है।इसलिए दूल्हा-दुल्हन का कमरा वायव्य और उत्तर दिशा में होना चाहिए। यह क्षेत्र ठंडा माना जाता है और इसे वायु की ऊर्जा से भरा हुआ माना जाता है।शांति के कारण इस क्षेत्र में एकांत मिलता है। यहां का कम तापमान सेक्स सुख में सहायक बनता है।उत्तर दिशा सेक्स सुख बढ़ाने के साथ ही आपसी तालमेल को भी बढ़ाने में मदद करती है।
सुहागरात वाले कमरे की दीवार का रंग भी बहुत मायने रखता है। जोड़े के लिए सुहागरात का कमरा तैयार करते वक्त कोशिश करें कि दीवार के लिए गुलाबी, क्रीम या पेस्टल रंग चुनें। लाल या बैंगनी रंग की एक दीवार भी कमरे के लुक में चार चांद लगा सकती है। दीवारें के रंग के मुताब‌िक ही पर्दे और बेडशीट का चयन करें।
सुहागरात के कमरे की लाइटिंग बहुत ब्राइट न हो। मॉड्यूलर लाइट्स हैं कमरे में तो इससे बेहतर कुछ भी नहीं। सजाते वक्त कमरे में अरोमा कैंडल्स भी लगाएं जिससे माहौल की रूमानियत बरकरार रहे। सामान्य कुश की जगह हार्ट शेप कुशन जैसी एसेसरीज का भी इस्तेमाल आप सजावट में कर सकते हैं। फूलों से सजावट करते वक्त ध्यान रखें कि जोड़े को किसी विशेष फूल से एलर्जी तो नहीं है।कमरे में सुगन्धित इत्तर या खुसबूदार एयर फ्रेशनर का उपयोग कर के महकाये रखे और कोई मधुर रोमैंटिक गाना बजाये पर बिलकुल धीमी आवाज में इससे माहौल अच्छा बना रहता है और आपकी इस प्रेम भरी रात्र के लिए ये बहुत जरुरी है |
सुहागरात में इन बातों का रखे विशेष ध्यान-
First night या  Suhagrat किसी भी Male और Female  के जीवन की अविस्मरणीय रात होती है और झिझक, प्रेम भावना से भरी होती है. इसके साथ साथ नवदम्पति Husband wife के लिए सबसे अहम हिस्सा होता है शारीरिक सम्बन्ध (Physical Relationship) बनाना यानि संभोग, रतिक्रिया कई भ्रांतियों के चलते उनके मन में आशाकाएं और डर जगह कर जाती है. इसके कारण जोड़ा वह सम्पूर्ण आनंद नहीं ले पाता जो वास्तविकता प्रकृति ने सभी के लिए बनाया है. आम तौर पर एक Man ज्यादा चिंतित होता है की वह अपने Female Partner को पूरी तरह से तृप्त कर पायेगा या नहीं. इसी Tension को समाप्त करने के लिए कुछ ऐसे TIPS बताने जा रहे है. जिनकी मदद से आप अपनी सुहागरात को यादगार और प्रभावशाली बना सकते है-
  • सबसे पहले अपने दिमाग में ये बात बैठा ले की सुहागरात का मतलब सेक्स नहीं है. जब तक दोनों की सहमति ना हो. सेक्स की और कदम ना बढ़ाए.
  • अगर आपकी अरेंज मैरिज हुई है तो सबसे पहले अपनी पार्टनर को अपने साथ सहज होने दे. तब ही वह आपकी कंपनी और सेक्स को एन्जॉय कर पाएंगी. इसके लिए आप सबसे प्रभावी तरीका “आपसी बातचीत” अपना सकते है |सुहागरात में पार्टनर से सेक्‍सी बातें करें, इससे दोनों उत्‍तेजित होंगे और सेक्‍स की इच्‍छा बढ़ेगी। वात्‍स्‍यायन द्वारा रचित कामसूत्र के बारे में बात कर सकते हैं।हालाँकि आज के मोबाइल युग में पति पत्नी शादी से पहले ही इतनी बातें कर चुके होते हैं की बाकी कुछ भी नहीं रहता, किन्तु फिर भी धैर्य न खोएं.
  • पहले मन को मिलाएं और बाद में तन को.
  • सरप्राइज गिफ्ट देवें.
  • कुदरती तौर पर ऐसा कोई तरीका नहीं मौजूद है जो यह पहचान कर सके कि लड़का वर्जिन, यानी शारीरिक तौर पर कुंवारा है या नहीं। लेकिन लड़कियों के मामले में इस बात की पहचान के कई नुस्खे मौजूद हैं, जिनसे पता लगाया जा सकता है कि लड़की कुंवारी है कि नहीं। इनके बारे में सुनने का असर बेचारी लड़की पर यह होता है कि वह इसकी चिंता में शादी तय होने के बाद की अपनी कई रातों की नींद हराम कर लेती है।
  • यह किसी भी किताब में नहीं लिखा है की First night या सुहागरात को सेक्स करना अति आवश्यक है.
  • सुहागरात में एल्‍कोहल और सिगरेट बिलकुल न पियें। क्‍योंकि सेक्स से तुरंत पहले ज्यादा एल्कोहल लेने से पुरुषों में इरेक्टाइल प्रॉब्लम्स और स्त्रियों में वजाइनल ड्राइनेस की समस्या हो सकती हैं। इससे सेक्‍स के दौरान समस्‍या हो सकती है।
  • सुहागरात में भी सेक्‍स करने से पहले सुरक्षा का ध्‍यान दीजिए। इसके लिए कंडोम का प्रयोग करें। इससे यौन बीमारियों के होने का खतरा कम होता है और बिना प्‍लानिंग के प्रेग्‍नेंसी का डर भी नही होता है।
  • अधिकतर स्त्री शर्मीली स्वभाव की होती है अतः वह कभी भी स्टार्ट नहीं करेगी और जल्दी से तैयार भी न होगी.
  • अब आप अपने साथी को  night dress पहनने के लिए कहें और स्वयं भी change कर लेवे |अंतरंग पलों से पहले अपने साथी की पसंदीदा ड्रेस पहनें। इससे सेक्स क्रिया रोमांचक बनेगी।
  • बत्ती बंद होने पर ही आपकी गाड़ी स्टार्ट हो पाएगी अन्यथा आपका पार्टनर नहीं मानेगा. इसलिए नाइट लेंप जला लेवें.
  • मानसिक, शारीरिक और भावनात्मक तौर पर फिट रहें।
  • किसी भी प्रकार का प्रयोग करने से बचें। सुहागरात में सेक्‍स संबंध बनाते वक्‍त ऐसे आसनों को अपनायें जो आसान हों और जिनको करने में कोई दिक्‍कत न हो।
  • भारतीय शादियां काफी थका देने वाली होती है. इस वजह से शायद आपकी पार्टनर सेक्स ना करना चाहती हो. उनकी इच्छा का सम्मान करे.
  • सेक्स की शुरुवात करने से पहले अपनी पार्टनर के साथ बात कर के उन्हें सहज महसूस करवाये. इसके बाद हलके स्पर्श से अपने सेक्स की शुरुवात करे.
  • सेक्स करते वक़्त सबसे ज्यादा ध्यान रखने वाली बात ये है की आप किसी भी तरह की जल्दबाजी ना करे. बेहतर सेक्स के लिए खुद/स्व्यम पर कण्ट्रोल करना बेहद ज़रूरी है |इसके लिए उसे किस कीजिए। उसके खास अंगों पर आपकी प्‍यार भरी छुअन सेक्‍स हार्मोन उत्‍तेजित करने में मदद करेंगे।
  • गालो से शुरुवात करने के बाद पार्टनर के बालों से खेले, उनके बुरे बदन पर किश और हलके हाथो से स्पर्श करे. इससे वह उत्तेजित होकर आपकी बाँहों में आ जायेगी | छोटी छोटी शरारतें करें और धीरे धीरे शुरुआत करें जैसे Love Romance की बातचीत करना, चुम्मन, आलिंगन, लिपटना, प्राइवेट पार्ट को स्पर्श करना, Husband को सर्वप्रथम अपने पार्टनर को उत्तेजित करना चाहिए, स्त्री में काम वासना जगाने के लिए पुरे बदन को चूमना शुरू करें, स्तन के टॉप्स को सहलाने के साथ चूम सकतें है.
  • अब सबसे अहम् चीज़ अगर आप अपने सेक्स को बेहतर बनाना चाहते है तो फोरेप्ले पर अधिक ध्यान दे. एक महिला को चरम सीमा तक पहुचने में 40 मिनट का समय लगता है. वही पुरुष केवल 13 मिनट में ही चरम सुख की प्राप्ति कर लेते है. इस बात का अवश्य ध्यान रखे |फोरप्ले स्वाभाविक रूप से लंबा खिंचे। हमारा मकसद यह है कि वह आकर्षित और उत्तेजित होकर तड़प उठे। उसकी तड़प जितनी गहरी होगी, उतनी ही कामयाब होगी आपकी योजना। असर यह होगा कि आपका पार्टनर आपका दीवाना बन जाएगा।
  • सेक्स में पोसिशन्स का भी अहम योगदान होता है. अपनी पार्टनर से इस बारे में बात कर उनकी सहजता के हिसाब से आप सेक्स पोजीशन का चुनाव कर सेक्स का मज़ा ले सकते है |इंतजार करें कि आपका पार्टनर आपको सही मुद्रा की जानकारी दे। आपको बस इतना करना है कि एक आज्ञाकारी स्टूडेंट की तरह अपने पार्टनर द्वारा दिए गए, निर्देशों पर अमल करना है। क्या पता ऐसा करते-करते आप खुद से ही एक नई सेक्स की पोजीशन भी खोज डालें।
  • अगर पहली बार आपका वीर्य जल्दी गिर जाता है तो इसमे घबराने वाली कोई बात नहीं है. अक्सर पहली बार सेक्स करने पर ऐसा होता है |
  • संभोग करने में जल्दबाजी न करें, Slow Slow अपना कार्य शुरू करें.
  • अपने लिंग/शिशन के साइज़ को लेकर कोई चिंता न करें, इससे फर्क नहीं पड़ता की कितना लंबा है मोटा है, इसलिए किसी प्रकार की टेंशन न लेवें.
  • अगर आपकी इतनी मेहनत और तैयारियों के बाद भी आपका पार्टनर हाइमन-थ्योरी के पीछे पड़ा रहे तो बेहतर होगा कि आप उसको थोड़ा ज्ञान दीजिए। उससे बात कीजिए और उससे कहिए कि हाइमन सेक्स के अलावा और भी बहुत सी बातों से टूट सकता है। आज के जमाने में लोग इतने तो पढ़े-लिखे होते ही हैं कि जान सकें कि हाइमन तो तैरने जैसे मामूली काम से भी टूट सकता है।
  • स्खलन हो जाने के बाद तौलिये से दोनों के प्राइवेट पार्ट को पौछ देवें और थोड़े समय बाद दुध का सेवन कर सकते है.
  • सुहागरात में Romance के तुरंत बाद ही मुंह घुमाकर सो जाने की भूल न करे, इससे आपका साथी यह मन सकता है की आपको सिर्फ सेक्स से ही Love है.
याद खें–हमारी सलाह आपकी परेशानियों को कम करने के साथ-साथ आपकी सुहागरात को भी खूबसूरत बनाएंगी। याद रखिए, प्यार करना और शादी से पहले सेक्स करने में कोई बुराई नहीं। बशर्ते आपको इस बात का एहसास हो कि जो बीत गया वह आपका अतीत था, और जो सामने है वह आपका वर्तमान भी है और भविष्य भी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *