Breaking News

जिलास्तरीय शांति समिति की बैठक सम्पन्न

Story Highlights

  • शांति व सद्भावनापूर्वक मनाएं जायें सभी पर्व - कलेक्टर श्री श्रीवास्तव
  • घातक हथियारों का प्रदर्शन एवं आपत्तिजनक नारेबाजी पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगी

मंदसौर निप्र। आने वाले दिनों में सभी धार्मिक पर्व शांति एवं सद्भावना के साथ मनाये जायें। जिले के नागरिकों से यह अपील कलेक्टर ओमप्रकाश श्रीवास्तव ने आज पुलिस कन्ट्रोल रूम मन्दसौर में आयोजित जिलास्तरीय शांति समिति की बैठक में की। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्षा, पुलिस अधीक्षक मनोज सिंह, अपर कलेक्टर अर्जुनसिंह डाबर, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुन्दर सिंह कनेश, एसडीएम मन्दसौर श्री राजावत, समिति के सदस्यगण सर्वश्री अ्ररूण शर्मा, राजेश मंडावरिया, शहरकाजी आसिफ उल्लाह, युनूश शेख, शिखर रातडिया, भूरेखां मेव, बृजेश जोशी, विक्रंम विघार्थी, अभय डोसी, विनय दुबेला, केनेडी थामस सहित समिति के अन्य सदस्यगण व अधिकारीगण भी मौजूद थे। बैठक में कलेक्टर श्री श्रीवास्तव ने कहा कि पर्व सामाजिक समरसता के प्रतीक होते है। अतः हम सबको सभी धर्माे के पर्व मन्दसौर जिले एवं मंदसौर शहर की गौरवशाली परंपरा को बरकरार रखते हुये पूरे हर्षोल्लास एवं आपसी भाईचारें के साथ मनाने चाहिये। उन्होने कहा कि हम सब एक दूसरे की धार्मिक भावनाओं व आस्थाओं का सम्मान करें और एक दूसरे की खुशी में शामिल होकर सद्भावना का परिचय दें।
बैठक में जुलाई व अगस्त माह में मनाये जाने वाले धार्मिक त्यौहारों यथा शबेकद्र, ईद-उल-फितर, श्रावण माह प्रारम्भ, स्वतंत्रता दिवस, श्री पशुपतिनाथ महादेव-चल समारोह (अंतिम सोमवार), रक्षाबंधन, जन्माष्टमी, गणेशोत्सव प्रारंभ एवं वाल्मिकी समाज के नवमी एवं गुरूपूर्णिमा पर्व के आयोजन के दौरान की जाने वाली व्यवस्थाओं पर विचार विमर्श कर इन्हें अंतिम रूप दिया गया। जिलास्तरीय शांति समिति की बैठक में कलेक्टर श्री श्रीवास्तव ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि यह सभी पर्वो के दौरान सभी आवश्यक व्यवस्थाएं आला दर्जे की हों। उन्होने मुख्य नगर पालिका अधिकारी को पर्वो के दौरान रास्ते में साफ-सफाई रखने, नमाजियों व श्रद्वालुओं के लिए पेयजल व्यवस्था तथा चल समारोह के दौरान रास्ते में आने वाले आवारा पशुओं पर रोक लगाने के लिए निर्देश दिए। उन्होने नगर पालिका मंदसौर, पुलिस, यातायात एवं विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी व्यवस्थाएं माकूल हो और किसी भी प्रकार की कोई कमी न रहें। उन्हाने कहा कि चलसमारोह के दौरान घातक हथियारों का प्रदर्शन एवं किसी की भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाली आपत्तिजनक नारेबाजी पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगी।
समिति के मुस्लिम धर्मावलंबी सदस्यों की मांग पर कलेक्टर श्री श्रीवास्तव ने सीएमओं को निर्देशित किया कि ईद-उल-फितर के दिन मुस्लिम बाहुल्य बस्तियों में यथावश्यकतानुसार अतिरिक्त जलापूर्ति की जायें। बैठक में श्रावण मास की तैयारी संबंधी व्यवस्थाओं पर भी चर्चा हुई। कलेक्टर श्री श्रीवास्तव ने कहा कि श्रावण मास में जिले के सभी शिव मंदिरों में पर्याप्त व्यवस्थाएं की जायेगी। श्रावण मास के अंतिम सोमवार को श्री पशुपतिनाथ महादेव की सवारी निकाले जाने की वयवस्थाओं के बारे में कलेक्टर ने सभी जिम्मेदार अधिकारियों को समुचित व्यवस्थाएं करने को कहा। इसी प्रकार रक्षाबंधन के दिन भी पुख्ता व्यवस्थाएं करने के लिए कलेक्टर ने अधिकारियों को हिदायत दी।
पुलिस अधीक्षक श्री सिंह ने पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए कि पर्वो के दौरान शरारती तत्वों पर कडी नजर रखी जायें। उन्होने किसी भी धर्म के चल समारोह के मार्ग पर यातायात व्यवस्था बनाऐं रखने के लिए भी संबंधित पुलिस अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होने कहा कि चलसमारोह के दौरान आयोजनकर्ता अनुमति आदेश में लिखे गये प्रावधानों का कडाई से पालन करें। हम सब का यह दायित्व है कि हम मंदसौर जिले की पुरातन गौरवशाली परंपरा को बनाये रखें और बडी ही गरिमामय पूर्ण तरीके से अपने-अपने पर्व हर्षोल्लास ंके साथ मनायें। बैठक में मौजूद अन्य सदस्यों ने भी शांतिपूर्वक पर्व मनाने से जुडी व्यवस्थाओं को और अधिक बेहतर बनाने के लिए अपने-अपने सुझाव दिये। बैठक में दोनो ही अधिकारियों ने शांति समिति के सदस्यों का वाट्स-अप गु्रप बनाने का सुझाव देकर सभी को अपने-अपने मोबाईल नम्बर भी दिये।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts