जिला आबकारी अधिकारी की महू नीमच हाईवे के ढाबों पर छापामारी

Hello MDS Android App

30 स्थानों पर मारे छापे, 18 पर प्रकरण दर्ज, 20 पेटी से अधिक अवैध शराब जब्त

पहली बार इतनी बड़ी कार्यवाही

मंदसौर। आबकारी विभाग के आला अधिकारियों द्वारा गुरूवार – शुक्रवार की मध्य रात्रि को महू – नीमच हाईवे के ढाबों पर जिला आबकारी अधिकारी रविन्द्र मानिकपुरी के नेतृत्व में लगभग 13 ढाबों पर छापामारी कार्यवाही कर चार प्रकरण कायम किए गए। जिसमें राजपुताना ढाणी ढाबे से 2 पेटी बीयर, एक पेटी देशी प्लेन व एक पेटी विदेशी लिजेन्ड शराब जब्त कि गई। वहीं मल्हारगढ़ के होटल कलश टोल प्लाजा के पास एक पेटी बीयर, चार बोतल विदेशी शराब व 23 क्वार्टर मेक्डानल्स व देशी मसाला एक पेटी जब्त कि गई। उधर विभाग ने पिपलियामंडी के कनघट्टी रोड़ से मुकेश रैगर के ढाबे से डेढ़ पेटी देशी प्लेन व चार क्वार्टर मसाला जब्त किए है। वहीं पिपलियामंडी से गोपाल बावरी की गुमटी से देशी शराब एक पेटी मसाला व एक पेटी प्लेन जब्त कर आबकारी अधिनियम के तहत् प्रकरण दर्ज किए है। इसके अलावा जिला आबकारी अधिकारी द्वारा जिले में अवैध शराब की धरपकड़ के लिए चलाए जा रहे अभियान में गुरूवार – शुक्रवार की मध्य रात्रि को जिले के लगभग 30 स्थानों पर छापामार कार्यवाही की गई और 18 प्रकरण कायम किए गए। ज्ञात हो कि विगत् कई वर्षो से आबकारी विभाग ने जिले में बढ़ते अवैध शराब की रोकथाम को लेकर कोई ठोस कार्यवाही नहीं की थी।

अवैध शराब बेचने वालों में मचा हड़कंप
नवागत आबकारी अधिकारी रविन्द्र मानिकपुरी के मंदसौर स्थाननंतरण होने के पश्चात् यहॉ अवैध शराब बेचने वालों में हड़कंप मचा है। गुरूवार शुक्रवार की मध्य रात्रि को कई वर्षो बाद आबकारी ने खुद अवैध शराब बेचने वालें ढाबे वालों के खिलाफ मोर्चा संभाला और कुछ घंटो में लगभग 30 से अधिक स्थानों पर छापामार कार्यवाही कर 18 प्रकरण बनाए। पिछले कई वर्षो में देखे तो मंदसौर में पदस्थ पूर्व आबकारी अधिकारियों द्वारा अवैध शराब की धरपकड़ में कोई रूचि नहीं दिखाई थी, यही वजह थी कि आबकारी विभाग का काम पुलिस विभाग करता था। महू नीमच हाईवे पर जितने भी ढाबे संचालित हो रहे है वे या तो अवैध शराब की बिक्री की वजह से चल रहे है या फिर उनके पास सटे देह व्यापार की झोपडि़यों की वजह से। इस हाईवे पर वर्षो से अवैध व अनैतिक धंधे किए जाते रहे है। हाल ही में मंदसौर पुलिस अधिक्षक मनोज कुमार सिंह द्वारा हाईवे पर बाछड़ों के डेरों पर छापामार कार्यवाही कर प्रकरण बनाए गए थे।

आबकारी अधिकारी द्वारा सराहनीय पहल
नवागत आबकारी अधिकारी रविन्द्र मानिकपुरी द्वारा महू नीमच हाईवे पर संचालित ढाबों पर त्वरित छापामार कार्यवाही एक अच्छी पहल है। यही कार्य पूर्व पदस्थ आबकारी अधिकारियों को भी करना था लेकिन गांधी जी की छांव में बैठने के बाद वे लोग ढाबों पर अवैध शराब पहुंचाने वाले ठेकेदारों को कैसे नुकसान पहंुचाते। यह आबकारी अधिकारी रविन्द्र मानिकपुरी की अच्छी पहल है। उनके साथ कार्यवाही के दौरान सहायक आबकारी अधिकारी, निरीक्षक व समस्त आबकारी पुलिस बल उनके साथ था।

ठेकेदार द्वारा होती है ढाबों पर अवैध शराब की सप्लाई
ज्ञात हो कि विगत् कई वर्षो से ढाबों पर चाहे जो शराब चाहिए आसानी से उपलब्ध हो जाती है। यहॉ सीधे सीधे हाईवे से लगे शराब की लायसेंसी दुकान के ठेकेदारों द्वारा या इन ढाबों के समीप शराब दुकान के संचालकों द्वारा इन ढाबों को बीयर और अंग्रेजी व देशी शराब की पेटियां आसानी से उपलब्ध कराई जाती है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *