Breaking News

जिला राजपूत समाज प्रताप सेना ने समाज की भूमि से अतिक्रमण हटावाया

मन्दसौर। जिला राजपूत समाज प्रताप सेना मंदसौर की छात्रावास हेतु संरक्षित भूमि जो एम.आई.टी. चौराहा मन्दसौर स्थित है जिस पर कुछ व्यक्तियों द्वारा अतिक्रमण कर झोपड़ी व मकान निर्माण करना शुरू करने के बाद विवाद उत्पन्न हो गया था। जिसकी जानकारी मिलने पर जिला राजपूत समाज व प्रताप सेना के कार्यकर्ताओं ने बड़ी संख्या में उक्त स्थल पर पहुंचकर प्रशासन की मदद से अतिक्रमण हटाया तथा समाज की इस भूमि को संरक्षित किया। समाज द्वारा जे.सी.बी. से खाई बनवाई गई तथा तारफेंसिग की गई जिससे आगे फिर इस पर अतिक्रमण न हो सके।
इस अवसर पर जिला राजपूत समाज अध्यक्ष सुरेन्द्रसिंह खेजड़िया, सचिव के.के.सिंह भाटी, भूपेन्द्रसिंह खेड़ी, शिवराजसिंह घटावदा, प्रतापसेना जिलाध्यक्ष योगेन्द्रसिंह चुण्डावत, ज्ञानसिंह राठौर, जितेन्द्रसिंह राणावत, विरेन्द्रसिंह गुजरदा, गोपालसिंह चौहान, ब्रजपालसिंह लावरी, रणजीतसिंह कटलार, नवनीतसिंह सिसौदिया, शैतानसिंह कोचवी, महेन्द्रसिंह, भूपेन्द्रसिंह, शिला गौतम, गौरवसिंह, करमवीरसिंह, मंगलसिंह, भवानीसिंह चांगली, चेनसिंह पानपुर, भारतसिंह चन्देल, के.पी. बना, हेमन्त बना, उदीतराजसिंह राणा सहित प्रताप सेना के अनेक कार्यकर्ता ने उपस्थित होकर अग्रणी भूमिका निभाई।
प्रताप सेना ने दिया ज्ञापन
इसके पश्चात् प्रताप सेना के कार्यकर्ता जिलाध्यक्ष योगेन्द्रसिंह चुण्डावत के नेतृत्व में पुलिस कंट्रोल रूम पहुंचे जहां पुलिस अधीक्षक के नाम एक ज्ञापन सिटी कोतवाली थाना प्रभारी विनोद कुशवाह को देकर सीतामऊ थाना स्थित गांव झांगरिया में विगत 26 दिसम्बर को भुवानसिंह राजपूत की हत्या के मामले का खुलासा करने एवं आरोपियों को शिघ्र गिरतार करने की मांग की गई। ज्ञापन में कहा गया कि अनुसंधान में सीतामऊ थाना पुलिस द्वारा धीमी गति से अनुसंधान किया जा रहा है तथा हत्यारों को बचाया जा रहा है। ज्ञापन में कहा कि आरोपियों को शिघ्र गिरतार नहीं किया तो प्रताप सेना आंदोलन करने को मजबूर होगी।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts