Breaking News

जीवनदायी माँ शिवना नदी की दुर्दशा को सुधारा जाए

मन्दसौर। क्षेत्र की एकमात्र जीवनदायी माँ शिवना नदी कि दुर्दशा किसी से छिपी हुई नही है। फिर भी जिला प्रशासन व जनप्रतिनिधि आंख बंद कर बैठे हुए है। इतना कुछ होने के बाद भी अभी तक माँ शिवना नदी की दुर्दशा को सुधारने के कोई ठोस उपाय नही किये गए है।

कार्यकर्ता मिथुन वप्ता, नवनीत शर्मा व विजय कोठारी ने बताया कि मन्दसौर क्षेत्र की एकमात्र जीवनदायी नदी माँ शिवना की दुर्दशा को लेकर आज एक ज्ञापन जिला कलेक्टर ओ पी श्रीवास्तव को दिया गया। सामाजिक कार्यकर्ताओं ने बताया कि शिवना नदी की हालत बद से बदत्तर होती जा रही है। लाखों रुपया नदी के रखरखाव पर खर्च भी किये जाने के बावजूद पूरी नदी चारो और से मैली और दुर्गंध युक्त हो गयी है। नदी में कई तरह के कैमिकल षड्यंत्रपूर्वक मिलाए जा रहे हे। गन्दे नालों के पानी की निकासी अन्यत्र न करके सीधे नदी में की जा रही है। शमशान घाट वाली जगह पर नजर डालें तो वहाँ की स्थिति देखकर ऐसा प्रतीत होता है मानो नदी रक्तरंजित हो गयी हो। दूसरी और प्रदेश के मुखिया नदियो पर लाखों रुपये खर्च कर नदी बचाओ , नदी जोड़ो अभियान चला रहे है। उसके बाद भी यहाँ शाशन व प्रशाशन के लोग शिवना नदी की दुर्दशा को देख कर आँखे बंद कर बैठे है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts