Breaking News

जोकचंद को आया जोश

Hello MDS Android App

सुबह 11 बजे करीब गांधी चौराहा स्थित पुलिस चौकी के पास टेंट लगाया था। टीआई अनिलसिंह ठाकुर यहां बल के साथ पहुंचे व टेंट खुलवा दिया। कार्यकर्ताओं की सूचना पर कांग्रेस नेता श्यामलाल जोकचंद पहुंचे और बहस करने लगे। नायब तहसीलदार संतोष घाटिया ने हस्तक्षेप कर स्थिति सामान्य की। इसके बाद धरना शुरू हो सका। धरना समाप्ति के बाद कांग्रेसजन नारेबाजी के साथ रैली के रूप में कृषि उपज मंडी पहुंचे और मंडी कार्यालय का 30 मिनट तक घेराव किया। यहां तहसीलदार पारस कन्हारा को दिए ज्ञापन में मांगें रखीं कि किसानों को उपज का तत्काल भुगतान हो, पूर्व अध्यक्ष बंशीलाल पाटीदार पर थाने में शासकीय कार्य में बाधा डालने की शिकायत वापस ली जाए। मंडी की अनियमितताएं समाप्त हो। तहसीलदार कन्हारा ने आश्वासन दिया कि 8 फरवरी को मंडी सचिव व खनिज अधिकारी के साथ बैठकर कर समस्याओं का निराकरण कराएंगे। इस दाैरान कांग्रेस नेता मोहनलाल गुप्ता, बंशीलाल सोनी, कचरूलाल चड़ावत, बंशीलाल पाटीदार, दिलीप यादव, दीपकसिंह चौहान, समेत कांग्रेसजन मौजूद रहे। संचालन बाबू मंसूरी ने किया। नगर कांग्रेस अध्यक्ष भंवर राठौर ने आभार माना।

टेंट और गद्दी मालिक के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है- टीआई

टीआई अनिलसिंह ठाकुर ने कहा पूर्व मंडी अध्यक्ष पर शासकीय कार्य में बाधा संबंधी मामले में अब तक किसी पर प्रकरण दर्ज नहीं किया। जहां तक धरना आयोजन की बात है संबंधित लोगों ने डायल 100 खड़े होने वाले पाइंट पर बिना परमिशन के टेंट लगा दिया था। टेंट व गद्दे जब्त कर टेंट मालिक गोपाल पिता पन्नालाल माली निवासी टीलाखेड़ा पर प्रकरण दर्ज किया है। विवाद के दौरान यह कहा था कानून व्यवस्था में कोई कमी नहीं छोड़ी इसलिए माफी मांगने का सवाल ही नहीं उठता। नेताओं ने भाषण में क्या आरोप लगाए, जानकारी नहीं है।

अपराधियों में पुलिस का खौफ नहीं, गुंडागर्दी हो रही है- जोकचंद

कांग्रेस नेता श्यामलाल जोकचंद ने कहा टेंट को ऐसे हटाया जैसे थानेदार की तनख्वाह जगदीश देवड़ा के घर से आ रही है, इस तरह का बर्ताव किया। आंसू गैस के गोले लाने का भी कहा, मैंने कहा- लाओ हम भी देखते हैं। यह पुलिस है कि तमाशा। भाजपा के कहने पर काम हो रहा, जबकि ऐसा नहीं होना चाहिए। अपराधियों में पुलिस का कोई खौफ नहीं है, गुंडागर्दी हो रही। प्रशासन की तानाशाही नहीं चलने देंगे। खनिज विभाग किसानों से लूटखसोट कर रहा। स्थान पहले से तय था इसलिए यहीं धरना दिया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *