Breaking News

ट्रैक्टरों से आए किसानों ने कलेक्टोरेट भवन का किया घेराव

मंदसौर। जिले के सुवासरा से विधायक हरदीपसिंह डंग ने गायों के संरक्षण, फसल बीमा योजना में सुधार और पीएम आवास योजना में ग्रामीण क्षेत्रों में भी शहरों के समान रुपए देने की मांग पर रैली निकाली। सुवासरा से मंदसौर तक ट्रेक्टर रैली निकालकर कलेक्टर कार्यालय का घेराव किया गया। बताया गया है कि रैली में बड़ी संख्या में ट्रैक्टर और दोपहियां वाहनों पर बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद थे। लावारिस घूमती गायों का संरक्षण, फसल बीमा योजना में वास्तविक हितग्राहियों को लाभ देने व शहरी क्षेत्रों के समान ही ग्रामीण क्षेत्रों में भी प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों को 2.50 लाख रुपए देने की मांग को लेकर सुवासरा विधानसभा क्षेत्र के तीन-चार हजार किसानों व कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को कलेक्टोरेट पर हल्ला बोला। दोपहर 2 से लेकर शाम 7 बजे तक सुवासरा विधायक हरदीपसिंह डंग के नेतृत्व में कार्यकर्ता डटे रहे। बाद में एडीएम के आश्वासन के बाद धरना समाप्त किया गया। विधायक डंग ने दावा किया है कि एडीएम ने संबंधित एसडीएम को पत्र लिखकर कहा है कि चार दिनों में गायों के लिए बेहतर व्यवस्था करें। इसके अलावा अन्य मांगों को पूरा करने के लिए भी उच्चाधिकारियों को पत्र लिखने का आश्वासन दिया। विधायक ने कहा कि चार दिन बाद भी समस्या का हल नहीं हुआ तो और उग्र आंदोलन करेंगे।

 

सुवासरा विधानसभा क्षेत्र के मुख्यालय सुवासरा से सुबह प्रारंभ हुई ट्रैक्टर रैली में मंदसौर पहुंचते-पहुुंचते लगभग 500 ट्रैक्टर, 100 चार पहिया वाहन व सैकड़ों दुपहिया वाहन शामिल हो गए थे। रैली ने दोपहर 12.45 बजे शहर में प्रवेश किया। सबसे आगे सुवासरा विधायक डंग भी एक ट्रैक्टर चलाते हुए चल रहे थे। उसमें कई कांग्रेसी नेता भी सवार थे। रैली महू-नीमच राजमार्ग, शहीद उधमसिंह चौराहे होते हुए गांधी चौराहे पर आई। यहां कांग्रेसजनों ने विधायक व अन्य लोगों का स्वागत किया। इसके बाद जिला अस्पताल मार्ग, बीपीएल चौराहा, महू-नीमच राजमार्ग, महाराणा प्रताप तिराहा, रामटेकरी कार्नर, संजीत रोड चौराहा, मेघदूत नगर, यश नगर होते हुए कलेक्टोरेट पहुंची। यहां दोपहर 2 बजे से मुख्य द्वार के बाहर ही कांग्रेस के तमाम नेताओं के भाषण हुए। सभी ने भाजपा सरकार की किसान विरोधी नीतियों के साथ ही अन्य बातों को भी उठाया। कलेक्टोरेट पर धरने में कांगे्रेस प्रदेश महासचिव मुकेश काला, युकां प्रदेश महासचिव परशुराम सिसौदिया, राकेश पाटीदार सहित अनेक कांग्रेस नेता भी उपस्थित थे।

कलेक्टर से ही बात करने पर अड़े

धरने के बाद सभी लोग कलेक्टोरेट के मुख्य द्वार पर ही बैठ गए। विधायक डंग ने कहा कि जब तक कलेक्टर नहीं आ जाते तब तक यहां से नहीं हटेंगे। पहले एसडीएम एसएल शाक्य ने आकर जानकारी दी। इसके बाद भी नहीं माने और कलेक्टर को बुलाने पर अड़े रहे। इसके बाद एडीएम अनिल डामोर ने बताया कि कलेक्टर निर्वाचन संबंधी बैठक में भोपाल गए हुए हैं। इस पर डंग ने डामोर से ही कि हमारी मांगों के उचित निराकरण की पहल करें। तब डामोर ने बताया कि लावारिस गायों के संरक्षण के लिए संबंधित एसडीएम को पत्र लिख रहे हैं कि तीन-चार दिनों में इसकी व्यवस्था करें। पीएम आवास व फसल बीमा योजना की समस्याओं के लिए उच्चाधिकारियों को लिखेंगे। इसके बाद डंग ने कहा कि चार दिनों में समस्याओं का निराकरण नहीं हुआ तो इससे भी उग्र आंदोलन किया जाएगा।

आश्वासन मिला है,देखते हैं

विधायक डंग ने बताया कि पूरे विधानसभा क्षेत्र में गायें दर-दर भटक रही हैं। बरसात, ठंड व गर्मी में भी सड़कों पर भूखी बैठी रहती हैं। 21 जुलाई-17 को विधानसभा में गाय संरक्षण के लिए नियम बनाने की बात रखी गई थी। इसमें 5 बीघा भूमि वाले प्रत्येक किसान द्वारा एक गाय का पालन अनिवार्य रूप करने सहित अनेक सुझाव थे। इसमें विधानसभा, लोस, जिपं सदस्य, कृषि उपज मंडी अध्यक्ष का चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशी के नामांकन दाखिल करते समय भी गौपालन अनिवार्य करने की मांग थी, पर प्रदेश सरकार द्वारा गौ संरक्षण हेतु कोई कानून नहीं बनाया गया है। फसल बीमा योजना के सर्वे में कई किसान व सुवासरा तहसील के कई ग्राम वंचित रह गए। शहरी क्षेत्रों में प्रधानमंत्री आवास निर्माण हेतु 2.50 लाख रुपए दिए जा रहे हैं। ग्र्रामीण क्षेत्र में मजदूरी एवं शौचालय सहित एक आवास हेतु 1.47 लाख रुपए दिए जा रहे हैं। अब आश्वासन मिला है कि गायों की समस्या का चार दिन में हल करेंगे। देखते हैं।

भाव नहीं मिलने से किसानों की हालत दयनीय

प्रदेश सरकार भावांतर के नाम पर राजनीति कर रही है। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का दौरा निरस्त होने के कारण भावांतर के रुपए किसानों के खाते में नहीं पहुंच पाए। यह किसानों के साथ सरासर अन्याय है। कांग्रेस गांव-गांव में प्रदेश सरकार का विरोध करेगी। यह जानकारी देते हुए जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष शंकरलाल आंजना, जिला कांग्रेस महामंत्री सुशील संचेती, किसान नेता अमृतराम पाटीदार, युवा नेता योगेंद्र जोशी, बनी सरपंच भगवतीलाल धनोरा ने बताया कि प्रदेश की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं होने से किसानों के भावनाओं के साथ कुठाराघात किया गया। मुख्यमंत्री का दौरा निरस्त किया गया और किसानों को उनके हक से वंचित किया रखा गया।

 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts