Breaking News

डायमंड ज्वैलर्स शॉप के आरोपियो का नीमच में भी निकाला जुलूस

अवैध वसूली न मिलने पर डायमंड ज्वैलर्स मंदसौर पर फायरिंग करने और संचालक को गोली मारकर घायल करने के मुख्य आरोपियों को मंगलवार को प्रोडक्शन वारंट पर मंदसौर से नीमच लाया गया। आरोपियों को न्यायालय ने 4 दिन दिन के रिमांड पर पुलिस को सौंपा है। आरोपियों को कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच न्यायालय से केंट थाने तक नंगे पैर पैदल ही लाया गया। इस दौरान दो आरोपी बिना नकाब के थे। जबकि एक को नकाब पहनाया गया। सड़क से गुजरते आरोपियों को देखने भीड़ लगी रही।

फायर मामले के तीन आरोपियों आजम, अंसार और फय्याज को मंगलवार दोपहर 12 बजे पदेन मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी मनोज राठी की अदालत में पेश किया गया। पुलिस के आवेदन पर न्यायाधीश ने तीनों आरोपियों को 28 जनवरी तक पुलिस रिमांड पर सौंपने के आदेश दिए। इसके बाद तीनों ही आरोपियों को न्यायालय परिसर से केंट थाने तक पैदल ले जाया गया। आरोपियों के इस जुलूस को देखने मार्ग के किनारों पर भारी भीड़ हो गई।

नकाब व बगैर नकाब के रहे आरोपी
आरोपी आजम और अंसार को बिना नकाब के और तीसरे आरोपी को नकाब सहित पैदल चलाया गया। आरोपियों के आसपास सीएसपी अभिषेक दीवान, टीआई दीपक खत्री, एसआई वीडी जोशी, एएसआई कैलाश सौलंकी, कैलाश राठौर, प्रधान आरक्षक कैलाश कुमरे सहित पुलिसकर्मियों का सुरक्षा घेरा था। हालांकि इस मामले में पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि वाहन खराब हो जाने के कारण आरोपियों को पैदल ले जाया गया था। जेल से, पहले आरोपी आजम और अंसार को मंदसौर पुलिस ने पीआर पर लिया। इसके बाद सोमवार को नीमच पुलिस दोनों आरापियों सहित फय्याज को प्रोडक्शन वारंट पर लेकर आई थी। दोनों ही आरोपियों को नीमच तक पहुंचाने के लिए मंदसौर पुलिस की भी सुरक्षा ड्यूटी लगाई गई थी।

यह था मामला
गौरतलब है कि 10 जनवरी की रात डायमंड ज्वैलर्स के अजय सोनी एवं उनके तीन साथी डस्टर कार से मंदसौर जा रहे थे, इस दौरान बाइक पर आए तीन बदमाशों ने कार पर चार फायर किए थे। एक फायर कार का शीशा भेदता हुआ अजय सोनी की पीठ में बांयी ओर जा धंसा था। इस वारदात के 10 दिन पूर्व मंदसौर में डायमंड ज्वैलर्स पर फायरिंग की गई थी। सोनी बंधुओं से एक करोड़ रूपए की मांग की जा रही थी। जांच में नीमच में हुई वारदात के आरोपियों में शाहरूख निवासी मुल्तानपुरा, सद्दाम, फय्याज और नदीम के शामिल होने का खुलासा हुआ था।

अखेपुर से गिरफ्तार किया
गोली मारने वाले शाहरूख और सद्दाम को पुलिस ने बड़ी मशक्कत के बाद अखेपुर से गिरफ्तार किया। मंदसौर पुलिस ने फय्याज को गिरफ्तार कर लिया था। इन आरोपियों से की गई पूछताछ में पता चला कि इस वारदात का षडय़ंत्र जेल में बंद आजम लाला और अंसार ने रचा था। पुलिस के मुताबिक इन अपराधियों ने रतलाम के प्रकाश सोनी की लेनदारी की आड़ लेकर खुद एक करोड़ वसूलकर हड़पने की योजना बनाई थी।

28 तक पुलिस रिमांड
गोलीकांड और अवैध वसूली के आरोप में अपराधी आजम, अंसार और फय्याज को प्रोडक्शन वारंट पर लाया गया है। न्यायालय से आरोपियों का 28 तक का पुलिस रिमांड मिला है। एक आरोपी शाहरूख पूर्व से ही रिमांड पर है। फय्याज इस वारदात के मुख्य आरोपियों में शामिल अंसार का भानजा है। सुपारी किसने और क्यों दी, वारदात को कैसे अंजाम दिया, और कौन शामिल हैं, जैसे बिंदुओं पर पूछताछ की जाएगी। वाहन खराब होने से आरोपियों को कोर्ट से थाने तक पैदल लाया गया। – दीपक खत्री, टीआई थाना केंट 10 जनवरी की रात में सोनी पर फायरिंग करने वाला मुख्य शूटर शाहरुख 28 जनवरी तक पुलिस रिमांड पर है। एक दिसंबर को मंदसौर में डायमंड ज्वैलर्स शॉप पर भी फायरिंग हुई थी। इस मामले में पुलिस ने आजम, अंसार को प्रतापगढ़ जेल से प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तार करके लाई थी। जबकि फैयाज को मंदसौर पुलिस की नीमच से गिरफ्तार करके लाई थी। तीनों से पूछताछ पूरी होने पर कोर्ट ने इन्हें जेल भेज दिया था। इसके बाद नीमच पुलिस ने कोर्ट में आवेदन देकर प्रोडक्शन वारंट पर गिरफ्तारी मांगी थी। जिसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया था। इसके बाद पुलिस टीम कड़ी सुरक्षा में तीनों का मंदसौर से नीमच लाई। दोपहर 12 बजे जिला एवं सत्र न्यायालय में पेश कर रिमांड मांगा। इस पर कोर्ट ने तीनों को 28 जनवरी तक रिमांड पर सौंप दिया।

शाहरुख 28 तक रिमांड पर
सोनी गोलीकांड का मुख्य शूटर शाहरुख पुलिस रिमांड पर चल रहा है। गिरफ्तारी के बाद कोर्ट ने पांच दिन का रिमांड दिया था। इसके बाद फिर से पुलिस ने कोर्ट में पेश कर रिमांड बढ़ाने का आवेदन दिया। जिसे स्वीकार कर कोर्ट ने 28 जनवरी तक रिमांड पर सौंप दिया। पुलिस को शाहरुख अभी हमले में उपयोग की गई बाइक, मोबाइल बरामद करना है। इसके बारे में शूटर ने अभी तक पुलिस को कुछ भी नहीं बताया है।

कोर्ट से बाहर आते उतरे जूते
रिमांड मिलने पर कोर्ट से बाहर लाते ही तीनों के जूते उतराकर पुलिस वैन में रखवा दिए। दोपहर 1.09 बजे नंगे पैर कोर्ट परिसर से कैंट थाने तक पैदल जुलूस निकाला।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts