Breaking News

तालाब से मिट्टी निकालने गए लोगो पर किया कुछ लोगो ने धारदार हथियारों से हमला

Story Highlights

  • तालाब से मिट्टी निकालने पर वर्ग विशेष के लोगों द्वारा कि गई अवैध वसूली,
  • विरोध करने पर ग्रामीणजनों से मारपीट, तीन गंभीर
  • स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में
  • सीतामऊ सहित ग्रामीण क्षेत्र रहा बंद,क्षेत्र मेें उपजा आक्रोश

सीतामऊ निप्र। तालाब से मिट्टी ले जा रहे ग्रामीणो को जबरन चंदा वसुली के नाम पर प्रताडित कर रहे आरोपियो ने विरोध करने वाले युवाओ पर धारदार हथियारो से हमला किया। जिसमें तीन व्यक्ति गम्भीर रूप से घायल हो गये जिन्हे जिला चिकित्सालय रेफर किया। पुलिस ने आरोपियो के खिलाफ धारा 307, 147 व 148 के तहत प्रकरण दर्ज कर उनकी तलाशी शुरू कर दी। इस घटना से हिन्दु संगठनो में रोष छा गया एवं अघोषित रूप से सीतामऊ लदुना दम्माखेडी के बाजार बंद रहे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार तालाब गहरीकरण के उदे्श्य से शासन द्वारा जारी आदेश के पालन में ग्रामीणजन लदुना तालाब से मिट्टी ले जा रहे है जहां पर अतिक्रमण कर सिचाई विभाग से कृषि कार्य करने की अनुमति लेकर एक समुदाय के लोग मालिकाना हक जताकर जमा कर अवैद्य रूप से मिट्टी निकासी का शुल्क वसुल रहे है। इस घटना की जानकारी में मिलने पर हिन्दु संगठनो के कार्यकर्ताओ एवं नागरिको द्वारा विरोध किया गया जिस पर तीन दिन पुर्व भी विवाद की स्थिति निर्मित हो गई थी बुधवार को प्रातः मिट्टी निकासी की प्रक्रिया जारी थी एवं वहाॅ हुए विवाद में तालाब के समीप गणेशराम वर्मा, मंेगलेश्वर बामलिना, जितेन्द्र आदि गंभीर रूप से घायल हो गए। इस घटना से लदुना, सीतामऊ, दम्माखेडी सहित अंचल में सनसनी फैल गई एवं तनाव पुर्ण माहौल छा गया। हिन्दु संगठनो के कार्यकर्ताओ में रोष छा गया तथा तीन स्थानों पर व्यापारियो में अपने प्रतिष्ठान बंद कर विरोध व्यक्त किया। घटना की गम्भीरता को देखते हुए पुलिस अनुविभागिय अधिकारी हरीसिंह परमार, टीआई गोपाल सुर्यवंशी सहित पुलिस बल घटना स्थल पर पहुचा। घटना की खबर मिलते ही जिले के सभी वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुॅच गये थे। घायलो को प्राथमिक उपचार उपरांत जिला चिकित्सालय रैफर कर दिया गया। फरियादी गणेश वर्मा की रिर्पोट पर पुलिस ने आजाद, हेदर, फिरोज, रईस, रसिद, इफराम सहित 31 आरोपीयो के खिलाफ धारा 307, 147, 148 के तहत प्रकरण दर्ज किया। घटना उपरांत सभी आरोपी फरार हो गए जिनकी तलाशी हेतु पुलिस टीम दबीश दे रही है जिले से भी अतिरिक्त पुलिस बल यहां आ चुका है तीनो जगह पुलिस गश्त बढा दी गई है स्थिति शांतिपुर्ण बनी हुई है किंतु हिन्दु संगठनो व नागरिको में रोष देखा जा रहा है।

प्रशासन की लापरवाही का नतीजा
श्यामदास बैरागी, सुशील परमार, गजेन्द्रसिंह राठौर, अशोक आसलिया, सुरेश सोलंकी, नारायणसिंह सिसोदिया आदि लोगो का कहना है तीन दिन पुर्व भी अतिक्रमण कारियो की मनमानी को लेकर गांव में विवाद की स्थिति निर्मित हुई थी तब पुलिस में नामजद रिर्पोट की गई थी लेकिन पुलिस ने मामले को गंभीरता से नही लिया। उसी का परिणाम है कि आरोपीयो के होसले बढ गए एवं उन्होने इस घटना को अंजाम दिया। इन लोगो ने दोषी अधिकारी एवं आरोपीयो के खिलाफ कडी कार्यवाही की मांग की है।

अपराधी तत्व हावी
जल उपभोक्ता समिति के अध्यक्ष प्रविणसिंह पंवार का कहना है कि शासन के निर्देशो की अव्हेलना कर एक समुदाय के लोग अवैध वसुली कर रहे है जिनके स्वयं की जमीन नही है सिंचाई विभाग के अधिकारीयो से साठ गाठ कर अतिक्रमण की भुमि पर फसल बोने की अनुमति लेकर यह कृत्य किया जा रहा है जिनके खिलाफ नामजद रिर्पोट होने पर भी पुलिस ने त्वरित कार्यवाही नही की। इसी के परिणाम स्वरूप अपराधी तत्वो के हौसले बुलंद हुए एवं उन्होने हथियारो से हमला किया।

पुलिस की निष्क्रियता
ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष गोविंदसिंह पंवार ने कहा कि घटना के संदर्भ में पुलिस की निष्क्रियता प्रकाश में आई है पुर्व कि घटना को गंभीरता से लिया होता तो यह स्थिति निर्मित नही होती।

बंद समस्या का निदान नही
शहर कांग्रेस अध्यक्ष संजय सोनी ने कहा कि बंद किसी भी समस्या का निदान नही है। पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह उभर रहे है अपराधी तत्वो पर उनका खोफ नही रहा। आमजन परेशानी झेल रहे है। अपराधी तत्वो पर कार्यवाही तत्काल होना चाहिए।

दोषी अधिकारीयो पर कार्यवाही हो
घटना के संदर्भ में दोषी अधिकारीयो पर कार्यवाही की मांग करते हुए पुर्व विधायक राधेश्याम पाटीदार ने कहा कि अतिक्रमणकारियो व जबरन चंदा वुसली के आरोपियो के खिलाफ तत्काल कार्यवाही होना चाहिए। शंातिपुर्ण माहोल बनाए रखने की सम्पुर्ण जवाबदारी पुलिस प्रशासन की है इस संदर्भ में बरती जाने वाली लापरवाही को नजर अंदाज नही किया जा सकता।

प्रकरण दर्ज किया
पुलिस अनुविभागीय अधिकारी हरीसिंह परमार का कहना है कि घटना के संदर्भ में आरोपीयो के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया है उनकी गिरफ्तारी हेतु चैतरफा पुलिस दबीश दे रही है। संवेदनशील स्थलो पर पुलिस गश्त बढा दी गई है दोषी लोगो के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी। एतिहात तोर पर अतिरिक्त पुलिस बल थाने में आ चुका है पुलिस घटना पर नजर लगाए हुए है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts