Breaking News

तीन तलाक देने पर न्यायालय ने आरोपी पति को भेजा जेल

मंदसौर। माननीय न्यायालय जेएमएफसी श्री कमलेश भरकुंदिया गरोठ, जिला मदंसौर के द्वारा आरोपी मुशब्बर हुसैन पिता साबीर हुसैन, नि0 जीन एरिया, राजीव कॉलोनी, नागदा, जिला उज्जैन को अपनी पत्नि को मौखिक रूप से तलाक, तलाक, तलाक बोलकर तलाक देने पर पीडिता की रिपोर्ट पर से न्यायालय के द्वारा आरोपी की जमानत याचिका निरस्त कर जेल भेजा गया ।

अभियोजन मीडिया सेल सदस्य अश्विन श्रीवास्तव के बताया की 12.11.2019 को गरोठ निवासी पीडिता ने पुलिस थाना गरोठ पर उपस्थित होकर रिपोर्ट दर्ज कराई की उसका निकाह 24.12.2018 को नागदा निवासी मुशब्बर हुसैन पिता साबीर हुसैन, नि0 जीन एरिया, राजीव कॉलोनी, नागदा, जिला उज्जैन से मुस्लिम रिती रिवाज से संपन्न हूआ था। निकाह के कुछ महीने बाद से ही उसका शोहर मुशब्बर उसके साथ आए दिन मारपीट करता रहाता था ओर अपने मायके से दहेज न लाने की बात बोल कर दहेज के पैसे लाने का दबाव बनाता रहा था। कुछ दिन पहले मेरे पति ने मुझ दहेज की बात को लेकर मारपीट की ओर घर से निकल जाने का बोला की तु मेरे घर से निकलजा नहीं तो तुझे जान से खत्म कर दूंगा ओर तलाक, तलाक, तलाक तीन बार बोल कर कहां की मेने तुझ तलाक दे दिया है आज से तेरा रिश्ता मुझसे खत्म हो गया है। फिर में अपने मायके आ गई। घर पर आकर मां-बाप को पूरी कहानी बताई उनके समझाने पर आज थाना आयी हूं। मेरी रिपोर्ट दर्ज कर उचित कार्यवाही करे। जिस पर से पुलिस थाना गरोठ के द्वारा अपराध क्र. 466/2019, धारा 506,323,294 भादवि व धारा 3/4 मुस्लिम महिला विवाह संरक्षण अधिनियम में प्रकरण मुशब्बर हुसैन पिता साबीर हुसैन, नि0 जीन एरिया, राजीव कॉलोनी, नागदा, जिला उज्जैन के विरूद्ध दर्ज कर गिरफ्तार किया गया। अनुसंधान पूर्ण कर माननीय न्यायालय के समक्ष अभियोग पत्र प्रस्तुत किया गया। 24.12.2019 को आरोपी के द्वारा माननीय न्यायालय जेएमएफसी श्री कमलेश भरकुंदिया के समक्ष अपने जमानत हेतु आवेदन प्रस्तुत किया गया ।

सहायक जिला अभियोजन अधिकारी श्री रमेश गामढ के द्वारा आरोपी के कृत्य को अस्तीत में आए नवीन अधिनियम मुस्लिम महिला सरंक्षण अधिनियम की परिधि में होना बताया गया साथ ही आरोपी के आवेदन को निरस्त कर जेल भेजने हेतु माननीय न्यायालय से निवेदन किया गया । जिस पर से माननीय न्यायालय के द्वारा आरोपी मुशब्बर का जमानत आवेदन निरस्त करते हूए आरोपी जेल भेजने का आदेश दिया गया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts