Breaking News

तीसरी बार लगातार सीएम का दौरा स्थगित, अगली तारीख अभी तय नहीं

सुवासरा में पंडाल बनने लगा था, मंच भी लेने लगा था आकार

विरोध से डर रहे हैं या सरकार के पास भावांतर का रुपया नहीं

अब भाजपाइयों को फिर नई तारीख का इंतजार

मंदसौर। आखिरकार मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान का 7 सितंबर का सुवासरा दौरा फिर स्थगित हो गया है। सुवासरा में सारी तैयारियां हो गई थी। पंडाल बनकर तैयार हो रहा था और मंच भी आकार ले रहा था। इसके अलावा हेलीपेड की भी तैयारी हो गई थी। गुरुवार सुबह ही सूचना आ गई कि सीएम अब नहीं आ रहे हैं। और नई तारीख का अभी कोई पता नहीं है। 25 अगस्त से 7 सितंबर के बीच सीएम के तीन बार आने के कार्यक्रम बने और तीनों बार स्थगित होने से अब कांग्रेसी भी चुटकी ले रहे हैं कि सीएम मंदसौर जिले में हो रहे विरोध से डर रहे हैं या किसानों के खाते में डालने के लिए भावांतर का रुपया नहीं है।

मुख्यमंत्री का सबसे पहले 25 अगस्त को मंदसौर आने का कार्यक्रम बना था। इसमें कृषि उपज मंडी में मंदसौर, नीमच व रतलाम जिले के लहसुन व प्याज किसानों के खाते में भावांतर की राशि भेजना थी। पर राखी के नाम पर वह कार्यक्रम स्थगित हो गया। उसके बाद 4 सितंबर को सीएम के मंदसौर आने का कार्यक्रम बना। मंडी में तैयारियां भी शुरू हो गई थी और स्टेज बनने लगा था। पर 2 सितंबर को भोपाल से सूचना चली कि मुख्यमंत्री का दौरा निरस्त होकर 7 सितंबर को हो गया है और अब सुवासरा में कार्यक्रम होगा। वहां शामगढ़, सुवासरा के लिए 1662 करोड़ की सिंचाई योजना का शिलान्यास भी करेंगे। यहां तैयारियां शुरू हुई थी कि गुरुवार सुबह फिर से फोन आया कि अब सीएम 7 को भी नहीं आ रहे हैं। इसके साथ ही अब 25 सितंबर तक सीएम का दौरा यहां होने की संभावना नगण्य ही हो गई हैं।

 

12 को अमित शाह, 14 को पीएम के साथ रहेंगे सीएम

इधर, सरकारी प्रेसनोट में 12 सितंबर को फिर से सीएम का दौरा बनने की संभावना जताई गई है। पर 12 सितंबर को ही उज्जैन व जावरा में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का कार्यक्रम है। उसमें सीएम को पूरे समय रहना है। इसके अलावा 14 सितंबर को पीएम नरेंद्र मोदी के इंदौर आने का कार्यक्रम बन रहा है। जाहिर है सीएम वहां भी उनके साथ रहेंगे। इसके बाद 25 सितंबर को भोपाल में बड़ा कार्यक्रम है और बीच में सीएम की जनआशीर्वाद यात्राएं भी चल रही है। इसके चलते अब सितंबर अंत में ही सीएम का कार्यक्रम होने की संभावना बन रही है।

 

केवल सुवासरा निरस्त किया, पेटलावद यथावत

सीएम कार्यालय से 7 सितंबर के लिए जारी कार्यक्रम में सीएम को भोपाल से पहले सुवासरा और फिर यहां से झाबुआ जिले के पेटलावद जाना था। अब नई परिस्थिति में केवल सुवासरा का कार्यक्रम स्थगित किया गया है। पेटलावद का कार्यक्रम यथावत रखा गया है। इसके चलते राजनीतिक हलकों में चर्चाएं चल रही है कि मंदसौर जिले में एससी एसटी एक्ट में बदलाव और आरक्षण विरोधी आंदोलन के तहत बड़ी रैली निकल चुकी है और कई गांवों में सांसद के पुतले भी जल गए हैं। इसके चलते सीएम यहां आ नहीं रहे हैं। क्योंकि कार्यक्रम दोनों जगह के निरस्त नहीं हुए है। हालांकि कांग्रेसी यह भी कह रहे हैं कि सरकार का खजाना खाली है और किसानों के खातों में डालने के लिए भावांतर का रुपया भी नहीं है। कार्यक्रम इसी कारण बार-बार निरस्त हो रहा है।

– भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह 12 सितंबर को उज्जैन व जावरा में आ रहे हैं। उसी को लेकर एक बड़ी बैठक भोपाल में 7 सितंबर को होना है। जिसमें उज्जैन संभाग से संगठन के अधिकांश पदाधिकारियों को बुलाया गया है। इसमें सीएम भी शामिल रहेंगे। संभवतः इसीलिए सीएम का दौरा आगे बढ़ा है।- बंशीलाल गुर्जर, प्रदेश महामंत्री, भाजपा।

– मुख्यमंत्री जगह-जगह हो रहे विरोध के चलते डर रहे हैं। इसी कारण बार-बार मंदसौर जिले का दौरा रद्द कर रहे हैं। भावांतर में किसानों के खाते में डालने के लिए भी सरकार के पास रुपए नहीं है। अगर सीएम नहीं आ रहे हैं तो किसानों को इंतजार क्यों कराया जा रहा है। उनके खातों में रुपए तो डाले।- मुकेश काला, प्रदेश महासचिव, कांग्रेस।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply