Breaking News

दलित की बिंदोली रोकी : मौके पर पहुंचे पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी

मौके पर पहुंचे पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी, दो लोगों पर केस दर्ज

मंदसौर। वायडी नगर के ग्राम करोली में सोमवार रात दबंगों ने दलित की बिंदोली रोकी। दोनों पक्ष के बीच विवाद की स्थिति बनी। सूचना पर वायडी नगर थाना प्रभारी विवेक कनोड़िया तुरंत बल के साथ मौके पर पहुंचे, तब जाकर मामला शांत हुआ। सुबह फिर दबंगों ने गांव में सार्वजनिक नल तोड़ दिया। इस कारण दलित समाज को पानी के लिए परेशान होना पड़ा। पुलिस ने मामले में दो लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है।

पुलिस ने बताया कि सोमवार रात ग्राम करोली निवासी रामचन्द्र मेघवाल के पुत्र धीरज की गांव में बिंदोली निकल रही थी। तभी राधाकृष्ण मंदिर के पास गांव के ही संजयसिंह और मुन्नासिंह ने भूसे से भरी ट्रॉली सड़क पर ही खाली कर दी और बिंदोली को रोक दिया। मेघवाल समाज के लोगों ने इसका विरोध किया तो दंबगों ने उन्हें अपशब्द कहते हुए धमकी दी। गांव में बिंदोली रोकने की सूचना मिलते ही एएसपी मनकामना प्रसाद, सीएसपी नरेन्द्र कुमार सोलंकी, वायडी नगर थाना प्रभारी विवेक कनोड़िया सहित पुलिस बल पहुंचा। पुलिस ने मौके पर मौजूद लोगों से चर्चा कर मामला शांत किया और फिर पुलिस की मौजूदगी में गांव में बिंदोली निकली। बाद में पुलिस गांव में ही तैनात रही। वायडी नगर थाना प्रभारी विवेक कनोड़िया ने बताया कि मामले में चुन्नाीलाल पिता भंवरलाल अहिरवार निवासी करोली की शिकायत पर गांव के ही संजय पिता शिवराजसिंह और मुन्नासिंह पिता गोवर्धनसिंह के खिलाफ धारा 341, 427 और एसटी, एससी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज किया है। पुलिस आरोपितों की तलाश में जुटी है।

काका-भतीजे हैं आरोपित

करोली में मंदिर के पास घोड़ी से दूल्हे को उतरने की बात पर कहासुनी हुई थी, मारपीट नहीं। दोनों आरोपित काका-भतीजे हैं। सुबह मुन्ना ने नल की टोटी भी तोड़ दी थी। इस कारण लोग आक्रोशित थे। दो आरोपितों के खिलाफ प्रकरण दर्ज हुआ है। -नरेन्द्र कुमार सोलंकी, सीएसपी मंदसौर

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts