Breaking News

दलोदा में अंत्योदय मेले का आयोजन किया गया

अंत्योदय मेले के माध्यम से 92512 हितग्राहियों को 45.75  करोड का अनुदान प्रदान किया गया

दलौदा मंडी से लगी 45 बीघा जमीन मंडी क्षेत्र में शामिल करने के प्रयास किये जायगे- विधायक सिसोदिया

अंत्योदय मेले का उद्देश्य अंतिम पंक्ति के व्यक्ति को लाभ दिलाना है – श्री राठौर

दलौदा निप्र। जनपद पंचायत दलोदा की क्रषि उपज मंडी प्रांगण में आज अंत्योदय मेले का आयोजन किया गया अंत्योदय मेले के दौरान विधायक यशपाल सिंह सिसोदिया, केंद्रीय सहकारी बैंक के अध्यक्ष मदनलाल राठौर, दलोदा कृषि उपज मंडी अध्यक्ष श्रीमती भागूबाई मालवीय, उपाध्यक्ष ईश्वरलाल पाटीदार, जनपत पंचायत अध्यक्ष शांतिलाल मालवीय, जनपत पंचायत मंदसौर के सदस्य, नगर परिषद नगरी के अध्यक्ष, मंडल अध्यक्ष, दलोदा के सरपंच विपिन जैन, कलेक्टर ओम प्रकाश श्रीवास्तव, एसडीएम शिवलाल शाक्य, तहसीलदार  श्री श्रीवास्तव, सीईओं जनपद पंचायत मंदसोर श्री प्रजापति, जनसम्पर्क अधिकारि आईएल चौहान सहित सभी जिलाधिकारी एवं अधिकांश मात्रा में किसान एवं आमजन उपस्थित थे।  अंत्योदय मेले की माध्यम से विभिन्न विभागों जिसमें कृषि विभाग, उद्यानिकी विभाग, आदिम जाति कल्याण विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, पशु चिकित्सा विभाग, सामाजिक न्याय विभाग, स्वास्थ्य विभाग एवं राजस्व विभाग के माध्यम से 92 हजार 512 हितग्राहियों को 45 करोड़ 75 लाख 24 हजार रुपये का अनुदान के रूप में प्रदान किए गये।

अंत्योदय मेले का शुभारंभ कन्या पूजन के साथ प्रारंभ किया गया, इसके पश्चात पंडित दीनदयाल उपाध्याय की तस्वीर पर माल्यार्पण किया गया। अंत्योदय मेले में केंद्रीय सहकारी सहकारी केंद्रीय बैंक के अध्यक्ष श्री राठौर ने कहा कि अंत्योदय मेले का उद्देश्य अंतिम पंक्ति के व्यक्ति को लाभ दिलाना है जब तक पंक्ति में खड़ा अंतिम व्यक्ति सुखी नहीं हो जाता तब तक प्रजातंत्र को परिपक्व नहीं माना जा सकता और इसको साकार करने के लिए सरकार सदैव तत्पर एवं प्रयासरत हैं। इस मेले में सभी विभागों के स्टॉल लगे हैं जहां पर विभागों की एवं सरकार की सभी योजनाओं की विस्तृत जानकारी ली जा सकती हैं। जनपद पंचायत अध्यक्ष श्री मालवीय ने कहा कि सरकार सर्वहितेषी होती हैं यह बात सिर्फ कागज में ही नहीं बल्कि आज सामने चरितार्थ होती हुई दिख रही है। इस अवसर पर कलेक्टर श्री श्रीवास्तव ने कहा कि भावंतर भुगतान योजना के अंतर्गत किसानों के लिए पंजीयन का कार्य चल रहा है, जिन किसानों ने पंजीयन नहीं कराए हैं वे किसान जल्द से जल्द पंजीयन करवा ले। अब तक जिलें में 11500 किसानों का सत्यापन हो गया हे, शेष बचे किसनों का सत्यापन भी बहुत जल्दी हो जाएगा। भावांतर भुगतान योजना में लहसुन को शामिल करने पर उन्होंने कहा कि इसके लिए पंजीयन जिले के 41 केंद्र है वहां पर जाकर लहसुन की फसल के लिए पंजीयन करवा ले। विधायक श्री सिसोदिया ने कहा कि विभाग पहले भी थे, सरकार पहले भी थी, लेकिन योजनाओं को जो अमलीजामा आज पहनाया जा रहा है और जिससे जनता को सीधा लाभ मिल रहा है वह सराहनीय है। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि डोडाचूरा को भी आबकारी की नीति में शामिल कर लेना चाहिए। इस प्रकार की नीति के लिए मुख्यमंत्री के साथ मिलकर चर्चा भी की है एवं बहुत जल्द इसके बारे में कुछ नियम बनेंगे, जिससे किसानों को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में मंडी के लिए जगह कम पड़ेगी इसलिए इस बात को ध्यान में रखते हुए मंडी के पास जो 45 बिगा जमीन हे, उस जमीन को मंडी क्षैत्र में शामिल किया जाए।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts