Breaking News

दलौदा परिषद बनाने के प्रस्ताव को कैबिनेट ने किया स्वीकृत

मंदसौर। मंदसौर विस क्षेत्र के बड़े कस्बे दलौदा को कृषि उपज मंडी और महाविद्यालय की सौगात मिलने के बाद अब एक और उपलब्धि मिली है। अब दलौदा ग्राम पंचायत नहीं नगर परिषद कहलाएगा। सोमवार को भोपाल में हुई केबिनेट की बैठक में यह निर्णय लिया है। नगरीय प्रशासन मंत्री मायासिंह ने विधायक सिसौदिया को फोन कर यह जानकारी दी।

विधायक यशपालसिंह सिसौदिया ने बताया कि दलौदा शैक्षणिक और व्यापारिक रूप से लगातार उन्नति कर रहा है। फोरलेन सड़क मार्ग से जुड़ गया है, कृषि उपज मंडी विकसित हो चुकी है। महाविद्यालय की स्थापना भी हो चुकी है। ऐसे में दलौदा को नगर परिषद की कमी भी अब पूरी हो रही है। 20 जनवरी 18 को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने दलौदा में हुई सभा में आश्वस्त किया था कि तकनीकी रूप से परीक्षण कराया जाएगा। मापदंडो में संभव हुआ तो नगर परिषद का दर्जा दिया जाएगा। सोमवार शाम को हुई केबिनेट की बैठक में दलौदा को नगर परिषद का दर्जा दे दिया गया। नगरीय प्रशासन मंत्री मायासिंह ने सोमवार शाम को विधायक सिसौदिया को यह जानकारी देते हुए बताया कि दलौदा को नगर परिषद का दर्जा देने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है।

अभी लगभग 13 हजार की आबादी है दलौदा की

दलौदा मंदसौर जिले का एक बड़ा कस्बा है। तहसील मुख्यालय भी बन चुका है। वर्तमान में यहां की जनसंख्या लगभग 13 हजार है। अभी 20 वार्डों में बंटा हुआ है। नगर परिषद का दर्जा मिलने से दलौदा का समुचित विकास होगा। अब दलौदा में दलौदा रेल भी सम्मिलित हो जाएगा।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts