Breaking News

दशहरे से पूर्व सजने लगे नगर के जमाई राजा ‘‘रावण‘‘

मंदसौर। पूरे देश में जहॉ दशहरे के दिन रावण का वध कर प्रतिक स्वरूप रावण के पुतले का दहन कर विजयादशमी मनाई जाती है। लेकिन मंदसौर नगर के खानपुरा क्षेत्र में उसी रावण की भगवान समान पूजा कि जाती है। प्राचीन मान्यताओं के अनुसार यह माना जाता है कि रावण की पत्नी मंदोदरी मंदसौर की थी इसी वजह से रावण को मंदसौर का जमाई माना जाता है। नगर के खानुपरा क्षेत्र में रावण की आदमकद विशाल प्रतिमा है जिसका रखरखाव नामदेव वैष्णव समाज करता है। आगामी दशहरे को देखते हुए रावण की प्रतिमा के रंग रोगन का कार्य प्रारंभ कर दिया गया। वहीं कुछ दिन पूर्व रावण की प्रतिमा के दस मुखों में से एक मुख क्षतिग्रस्त हो गया था जिसकी भी मरम्मत कि जा रही है। इसके साथ ही कॉलेज परिसर में भी रावण, मेघनाद एवं कुभकर्ण के पुतलों को अतिम रूप दिया जा रहा है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts