Breaking News

दिनदहाड़े बालिका के अपहरण का प्रयास : परिजन ने कार्रवाई से किया इंकार

मंदसौर। शहर के नयापुरा रोड क्षेत्र में रविवार दोपहर एक बालिका के दिनदहाड़े अपहरण के प्रयास की सूचना मिली। पहले से संवेदनशील चल रही शहर की स्थिति के चलते पुलिस भी सक्रिय हुई और नयापुरा रोड क्षेत्र से ही एक वैन में सवार पांच युवकों को पकड़ लिया गया। बाद में मौके पर जाकर जांच करने के साथ ही यह पता चला कि ऐसा कोई मामला ही नहीं हुआ था। गलतफहमी के कारण यह स्थिति बनी। मौके पर किसी भी सीसीटीवी फुटेज में इस तरह की हरकत नहीं दिखी। बाद में बालिका के परिजन ने भी थाने आकर कार्रवाई से इंकार किया।

कोतवाली पुलिस ने बताया कि दोपहर में पुलिस के पास फोन आया था कि नयापुरा क्षेत्र में एक 13 वर्षीय बालिका के अपहरण का प्रयास हुआ था। बाद में पुलिस ने मौके पर जाकर वैन (एमपी-13 बीए-3803) में सवार पांच युवकों को पकड़ लिया और थाने ले आई। यहां जब सभी पक्षों से बात हुई और आसपास के सीसीटीवी फुटेज भी देखे तो पता चला कि गलतफहमी के चलते यह हल्ला हुआ है। नयापुरा निवासी 13 वर्षीय शाईन पिता फिरोज खां अपने छोटे भाई सात वर्षीय तनवीर के साथ कांच के मंदिर के सामने किराना दुकान पर सामान लेने आई थी। तभी वहां खड़ी वैन में बैठे युवकों में से एक ने बालिका को रोककर एक एड्रेस पूछने की कोशिश की। इससे बालिका घबराई और दूर जाकर रोने लगी तो वहां मौजूद मोहम्मद सरफराज, शाबिर, जाबिर, सिद्दीक आदि ने वैन में बैठे युवकों को वहीं रोका और कोतवाली पुलिस को बुलाकर पांचों युवकों को थाने भेज दिया। बाद में फिर एसआई रूपसिंह बेस एवं मनोज महाजन घटनास्थल पर पहुंचे और मौके पर मौजूद लोगों से घटना के बारे में जानकारी ली।

जहाज की कटिंग का सामान बेचते हैं युवक

पुलिस ने बताया कि वैन में सवार युवकों नोसेर खां पिता समरोज खां (23) निवासी बेरावनिया जिला रतलाम, शाहरूख पिता प्यारे (19) निवासी सलीमपुर, शकील पिता जमील (28), सोनू पिता जल्लाउद्दीन (18) एवं सगीर पिता भूरे खां (26) सभी निवासी कासगंज (उप्र) को थाने ले जाकर पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि हम सभी लोग पुराने जहाज की कटिंग से निकलने वाला सामान बेचते हैं। यहां किसी का पता पूछने की कोशिश कर रहे थे, तभी हल्ला हो गया।

 

-मैं भोजन करने किराना दुकान पर सेंव लेने गया था। तभी वहां बालिका रोती हुई नजर आई। मैंने उससे पूछा तो वह घबराती हुई बोली कि वैन वाले ने मेरा हाथ पकड़ा और बैठाने की कोशिश की। इसके बाद वहां भीड़ इकट्ठी हो गई थी और पुलिस को बुलाया। फिर सभी वैन वालों को थाने ले गए। -जाबिर हुसैन खिलजी

 

नहीं हुई ऐसी घटना

-अपहरण की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची थी। मौके से ही वैन सवार लोगों को थाने भी ले आए थे। बाद में पुलिस ने मौके पर पहुंचकर तस्दीक की थी और वीडियो फुटेज खंगाले, लेकिन ऐसी कोई घटना सामने नहीं आई। परिजन का कहना है कि उन्हें भी किसी ने गलत सूचना दे दी थी। पीड़िता के परिजन ने भी कार्रवाई करने से इंकार किया है। -नरेंद्रसिंह यादव, कोतवाली, टीआई

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts