Breaking News

दुर्घटनाओं को रोकने के लिए चिन्हित हुए ब्लेक स्पॉट

सन् 2014 में देश में सडक़ दुर्घटनाओं के कुल पांच लाख मामलों एवं 1.3 लाख लोगों के जान गंवाने के आंकड़ों पर संज्ञान लेते हुए केन्द्र सरकार ने ब्लेक स्पॉट का चिन्हांकन प्रारंभ किया है। इसके तहत मंदसौर संसदीय क्षैत्र में भी दुर्घटना की आशंका वाले स्थानों का चयन किया गया है। इस संबंध में केन्द्रीय परिवहन, राजमार्ग एवं पोत परिवहन मंत्री श्री नितिन गडकरी ने सांसद श्री गुप्ता को पत्र लिखकर अब तक चयनित ब्लेक स्पॉट के संबंध में जानकारी देते हुए इस दिषा में केन्द्र सरकार द्वारा उठाए जाने वाले कदमों से अवगत कराया है। उल्लेखनीय है कि सांसद श्री गुप्ता ने बीते सत्रों में लोकसभा में लिखित प्रष्नों के दौरान सडक़ दुर्घटनाओं एवं इससे होने वाले जान-मान के नुकसान को गंभीरता से उठाया है।
केन्द्रीय परिवहन मंत्री श्री गडकरी द्वारा प्राप्त के हवाले से सांसद श्री गुप्ता ने अवगत करवाया कि केन्द्रीय परिवहन मंत्रालय द्वारा मंदसौर संसदीय क्षैत्र में जिन ब्लेक स्पॉट का चयन किया गया है। इनमें मल्हारगढ़ कस्बे का चौराहा, सूंठोद ग्राम, पिपलियामंडी चौपाटी, बही पाष्र्वनाथ फंटा, बोतलगंज चौपाटी एवं नाका नंबर 10 प्रतापगढ़ मार्ग शामिल हैं। इनके अलावा नीमच जिले का सगर ग्राम पुलिया भी इसके तहत शामिल किया गया है, यहां तकनीकी खामियों को सुधारने का कार्य भी किया गया है।
सांसद श्री गुप्ता ने बताया कि उस स्थान विशेष पर चिन्हांकित किया जाएगा, जहां गत तीन वर्षों के दौरान 5 सडक़ दुर्घटनाएं हुई हों या/और कुल 10 लोगों की जान गई हो। ऐसे स्थानों को सूची बद्ध कर यहां दुर्घटनाओं की रोकथाम हेतु सुरक्षात्मक उपाय किए जाएंगे। साथ ही जागरूकता बढ़ाने हेतु कदम भी उठाए जाएंगे। श्री गुप्ता ने बताया कि प्रधानमंत्री श्री मोदी एवं परिवहन मंत्री श्री गडकरी ने सन 2020 तक दुर्घटनाओं के आंकड़ों में 50 प्रतिशत तक की कमी लाए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया है।
सांसद श्री गुप्ता ने इस पत्र के बाद विभिन्न विभागां के अधिकारियों से भी चर्चा की है। इसके तहत संसदीय क्षैत्र में ऐसे स्थानों को चिन्हांकित करते हुए उन्हें ब्लेक स्पॉट की श्रेणी में लाया जाएगा। ताकि संसदीय क्षैत्र में भी सडक़ दुर्घटनाओं की संख्या में कमी लाई जा सके।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts