Breaking News

दूधाखेड़ी माता मंदिर की नवगठित निगरानी समिति की हुई बैठक

प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री तथा मंदसौर जिले की प्रभारी मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनीस के निर्देश पर श्री दूधाखेड़ी माताजी मंदिर के नवनिर्माण कार्यो की देखरेख और माताजी की पूजार्चना विधिविधान के साथ करने के लिये एक 11 सदस्यीय निगरानी समिति गठित कर दी गई है। इन्द्रगढ आश्रम (भानपुरा) के स्वामी श्री प्रकाशनाथजी इस समिति के संरक्षक हैं। श्री देवीलाल धाकड़ (भानपुरा) इस समिति के अध्यक्ष हैं। श्री पटेल देवीलाल मीणा (दूधाखेड़ी), श्री सुरेश धनोतिया (अन्त्रालिया), श्री निरंजन गुप्ता (बाबुल्दा), श्री त्रिलोक पाटीदार (भैंसोदा), श्री गोर्धनसिंह (सांतलखेडी), श्री रामसिंह चैहान (हरनावदा), श्री चन्दरसिंह (ढाबला मनोहर), श्री रामेश्वर धाकड (कुन्तलखेडी) एवं श्री चन्दरसिंह सिसौदिया (विधायक गरोठ-भानपुरा) इस समिति के सदस्य बनाये गये हैं।
प्रभारी मंत्री श्रीमती चिटनीस के निर्देश पर इस निगरानी समिति की आज ही भानपुरा में एक अहम बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में माताजी मन्दिर के नवनिर्माण को लेकर विभिन्न निर्णय लिये गये। समिति ने निर्णय लिया कि मन्दिर के गर्भगृह का निर्माण जल्द से जल्द पूरा कराया जायेगा। समिति द्वारा मन्दिर का नवनिर्माण कर रही ठेकेदार कम्पनी को निर्देशित किया गया है कि माताजी मन्दिर के गर्भगृह का निर्माण शीघ्रतापूर्वक पूरा करें। निर्माण कार्य में गुणवत्ता का पूरा ध्यान रखें। निर्माण कार्य में पूर्ण पारदर्शिता बरती जाये। समिति द्वारा दिये गये सुझावों को अमल में लाकर ही नवनिर्माण कार्य समयसीमा में पूरा करें। निगरानी समिति ने माताजी मंदिर परिसर में रात रूकने वाले मरीजों व उनके परिजनों के लिये और बेहतर व्यवस्थायें करने का निर्णय लिया। इसके साथ-साथ मंदिर में रोजाना आने वाले हजारों आम श्रद्धालुओं के लिये मातादर्शन और पूजार्चना की भी अच्छी से अच्छी व्यवस्थायें करने हेतु बैठक में गहन विचार-विमर्श किया गया। समिति ने मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था की निगरानी के लिये सीसीटीवी कैमरों की संख्या बढाने पर सहमति जताई। बैठक में समिति संरक्षक स्वामी श्री प्रकाशनाथजी, समिति अध्यक्ष श्री देवीलाल धाकड़ के अलावा अन्य सभी सदस्यगण भी उपस्थित थे। बैठक में इंद्रगढ़ मारुति आश्रम के स्वामी प्रकाशनाथ, भाजपा जिलाध्यक्ष देवीलाल धाकड़, विधायक चंदरसिंह सिसोदिया, पटेल देवीलाल मीणा, सुरेश धनोतिया, निरंजन गुप्ता, त्रिलोक पाटीदार, गोवर्धनसिंह, रामसिंह चौहान, रामेश्वर धाकड़, चंदरसिंह ढ़़ाबला मनोहर आदि मौजूद रहे।

निरीक्षण किया
सोमवार को सुवासरा विधायक हरदीपसिंह डंग ने भी दूधाखेड़ी माता मंदिर पर पहुंचकर निरीक्षण किया। साथ ही घटना को लेकर दुख जताया। इसके अलावा घटना के जिम्मेदारों पर कार्रवाई की मांग की। शांतिपूर्ण माहौल के बीच श्रद्धालुओं ने बड़ी संख्या में पहुंचकर माता के दर्शन किए। गर्भगृह के क्षतिग्रस्त चबूतरे का मलबा प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में हटाया गया। वहीं अस्थाई रूप से दूसरे चबूतरे पर माता की प्रतिमा स्थापना के बाद चबुतरे पर फर्शीकरण और सीसी निर्माण कार्य शुरू किया।
1. माता की प्रतिमा स्थापित किए गए चबुतरे के चारों ओर जाली और बैरिगेट्स लगाकर दर्शनार्थियों के लिए व्यवस्था की जाए। जिसमें केवल पुजारियों का प्रवेश रहेगा। साथ ही लाईट और सीसीटीवी कैमरे की व्यवस्था की जाए। साथ ही चबुतरे के चारों ओर टीन शेड और श्रद्धालुओं के लिए परिक्रमा की सुविधा की जाए। साथ ही अखंड ज्योति रखने की व्यवस्था करना।
2. छ: माह के भीतर गर्भगृह का निर्माण करना। अन्यथा निर्माण कंपनी पर पेनल्टी करने का विचार समिती करेगी। साथ ही श्रद्धालुओं के ठहरने और रात्रि विश्राम की व्यवस्था का प्रबंध करना।
3. माता की प्रतिमा स्थापित किए गए चबुतरे के चारों ओर फर्शीकरण करना। जिससे परिक्रमा में श्रद्धालुओं को परेशनी न हो।
4. मंदिर निर्माण कार्य में गति लाना। इसके लिए जल्द ही प्रशासन के साथ बैठक आयोजित करना। यह सभी प्रस्ताव सर्वानुमति से विचार कर किए गए।
व्यवस्थाएं की जा रही

शांतिपूर्ण माहौल है। निर्माण कार्य अधिकारियों की मौजूदगी में किया जा रहा है। साथ ही व्यवस्थाएं बनाई जा रही है। जिससे श्रद्धालुओं को किसी तरह की समस्या नहीं होगी। प्रकाश नायक, एसडीएम गरोठ।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts