Breaking News

दैनिक जनसारंगी ने 470 शिक्षा प्रतिभाओं को किया सम्मानित 

सम्मान से प्रतिभाओं को आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलती है

वेब पोर्टल एवं ग्राम वृध्दि योजना का शुभारंभ

मंदसौर। दैनिक जनसारंगी द्वारा आयोजित नवम शिक्षा प्रतिभा सम्मान समारोह, वेब पोर्टल एव ग्राहक वृद्वि योजना का शुभारम्भ कुशाभाऊ ठाकरे ऑडिटोरियम में आयोजित गरिमामय समारोह में हुआ। जिसमें 470 बेटे-बेटियों का सम्मान किया गया। समारोह विधायक यशपालसिंह सिसोदिया के मुख्य आतिथ्य में सम्पन्न हुआ। समारोह की अध्यक्षता सुवासरा विधायक हरदीपसिंह डंग ने की। विशिष्ट अतिथि के रूप में  पुलिस अधीक्षक तुषारकांत विद्यार्थी, विशेष अतिथि ब्रह्मकुमारी समिता बहन जी, समाजसेवी विपीन जैन सरपंच दलौदा, समाजसेवी विमल पामेचा, उघोगपति प्रदीप किमती, पोरवाल समाज के अध्यक्ष प्रवीण गुप्ता, अग्रवाल महासभा के अध्यक्ष राजमल गर्ग उपस्थित थे। समारोह में दैनिक जनसारंगी परिवार की मातुश्री श्रीमती लीलादेवी अग्रवाल, वरिष्ठ बाबूलाल पालीवाल, जनसारंगी के प्रधान संपादक नरेन्द्र अग्रवाल, गरोठ भानपुरा के स्थानीय संपादक जगदीश अग्रवाल भी मंचस्थ थे।

समारोह को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि यशपालसिंह सिसोदिया ने कहा कि प्रतिभाओं को आगे बढ़ाने का काम एक सेतु की भांती जनसारंगी परिवार ने किया है। प्रतिभाओं का जब सम्मान होता है, उन्हें प्रोत्साहन मिलता है तो वह निरन्तर आगे बड़ती है और माता-पिता, परिवार के भरोसे पर खरा उतरती है। उन्हे जब आगे बड़ने की प्रेरणा मिलेगी तो वे निश्चित ही समाज, प्रदेश और देश की सेवा में काम आऐगें। प्रतिभाओं को आगे बड़ाने का उन्हें प्रोत्साहन देने का अभिनव कार्य जनसारंगी ने प्रारम्भ किया है उनके यह कदम निरन्तर आगे बढ़ते रहे इस अभिनव आयोजन से  अन्य सामाजिक और स्वयंसेवी संस्थाओं को भी प्रेरणा लेनी चाहिये क्योकि एक अकेला व्यक्ति पूरे समाज का निर्माण नहीं कर सकता है उसके साथ जब समूह की ताकत होती है तो निश्चित ही अच्छे कार्य बहुत आगे तक जाते है। श्री सिसोदिया ने कहा कि जो सकारात्मक काम करते है, अच्छा काम करते है, अच्छी सोच रखते है उनकी निश्चित ही प्रशंसा होनी चाहिये लेकिन आज सकारात्मक कम और नकारात्मकता का दौर ज्यादा चल पड़ा है। आपने जनसारंगी की लेखनी की प्रशंसा करते हुए कहा कि पत्रकारों की लेखनी मजबूत होनी चाहिये, निष्पक्ष और निडरता के साथ चलनी चाहिये तभी वह पाठकों के भरोसे पर खरी उतरती है, अच्छे लेखन को आज भी पाठक पढ़ना चाहते है उस पर चर्चा करना चाहते है। आपने मंदसौर में समाचार पत्रों की तरक्की पर भी प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि जब ऑफ सेट मशीन का जमाना होता था तब नीमच समाचार पत्रों में अव्वल स्थान रखता था लेकिन आज मंदसौर पहले पायदान पर आ गया है। यहां जितना परिश्रम हो रहा है, जितनी लगन के साथ समाचार पत्र काम कर रहे है उतना और कहीं देखने को नहीं मिलता है। आपने कहा कि पं दिनदयाल उपाध्याय का चरैवेती-चरैवेती का सिद्दान्त सबको अपनाना चाहिये समाचार पत्रों को भी और विद्यार्थियों को भी, निरन्तर चलते रहों, विश्राम की आवश्यकता नहीं है, जीवन में चलते रहों, निराश होने की  आवश्यकता नहीं है। आपने बच्चों से आव्हान किया कि अंको की दौड़ में कभी भी निराशा को अपने उपर हावी ना होने दे। एक समय था जब 33 प्रतिशत भी बड़ी बात होती थी, ग्रेस के साथ भी पास होते थे लेकिन आज प्रतिस्पर्धा का दौर है जिसमें बच्चें सफल हो रहे है और 90 और 100 प्रतिशत अंक बच्चें लाते है लेकिन इस प्रतिस्पर्धा में सदैव इस बात का ख्याल रखना चाहिये कि केवल अंक ही सब कुछ नहीं है जो लोग पड़ना नहीं जानते वे भी समाज में अच्छा काम करते है इसलिये कभी भी अंको की दौड़ में पिछडने पर निराश ना हो और कोई भी ऐसा कदम ना उठाऐ जिससे माता पिता को तकलीफ हो क्योकि बच्चें निराश होकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर लेते है लेकिन जिन माता पिता ने उन पर भरोसा किया है उनके भरोसे अपने भविष्य के सपने देखे है उन्हें कितनी तकलीफ  होती है इसका ख्याल रखा जाना चाहिये।

सुवासरा विधायक हरदीपसिंह डंग ने कहा कि प्रतिभाओं को सम्मानित करने का दैनिक जनसारंगी का प्रयास बहुत ही तारीफे काबिल है इससे बच्चों को आगे बढने की प्रेरणा मिलेगी। शिक्षा शैरनी के दूध की भांति है इसे बच्चे जितना ज्यादा पीएंगे उतना तेजी के साथ दहाड़ेगें और इस दहाड़ का उपयोग समाज और राष्ट­ की सेवा में होना चाहिए अपने अधिकारों के लिए होना चाहिए। आपने कहा कि कई महापुरूषों की जीवनियां है जो बच्चों के लिए प्रेरणादायी है इनसे उन्हें प्रेरणा लेनी चाहिए। आपने कहा कि आधुनिक युग में संचारक्रांति का तेजी से विस्तार हुआ है हर व्यक्ति के पास मोबाईल फोन हो गया है लेकिन इसका सदुपयोग और दुरूपयोग हमें तय करना है विद्यार्थी इसका सदुपयोग कर अपने ज्ञान को आगे बढ़ाये।

जिला पुलिस अधीक्षक तुषारकान्त विद्यार्थी ने कहा कि बच्चे शिक्षा के क्षेत्र में तो निरन्तर आगे बढ़े ही लेकिन साथ में व्यवहारिक ज्ञान भी अर्जित करें। आज मंदसौर जिलें में दुर्घटनाओं का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है इन घटनाओं के पीछे यदि अध्ययन करेंगे तो हमारी छोटी-छोटी लापरवाहियां इन दुर्घटनाओं का कारण बन रही है, मोबाईल पर बात करते हुए वाहन चलाना सबसे ज्यादा घातक साबित हो रहा है इस प्रवृत्ति पर अंकुश लगना चाहिए वाहन चलाते समय सदैव यातायात के नियमों का पालन करना चाहिए।

ब्र.कु.समिता बहनजी ने कहा कि एकाग्रता, आत्मविश्वास और चरित्र पर ध्यान रखा जाए तो व्यक्तित्व का सर्वागिंण विकास होता है, शिक्षा सर्वांगिण विकास में बहुत उपयोगी होती है गुण, अवगुण दोनों होते है, अच्छाई, बुराई दोनों होती है चयन हमें करना है इसलिए सदैव अच्छे गुणों को आत्मसात करें और अच्छाई को ग्रहण करें और हमेशा खुश रहते हुए तरक्की राह पर आगे बढ़े।

दलौदा सरपंच विपीन जैन ने अभिनव आयोजन की बधाई देते हुए कहा कि जब प्रतिभाओं का सम्मान होता है तो निश्चित ही उन्हें आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलती है बच्चे निरंतर मेहनत करें और पूरे परिश्रम के साथ आगे बढ़ते हुए अपने परिवार और देश का नाम रोशन करें।

उद्योगपति प्रदीप किमती ने कहा कि शिक्षा एक महत्वपूर्ण आयाम है लेकिन सबकुछ नही है बच्चे बेहतर शिक्षा तो ग्रहण करें ही साथ में संस्कार भी ग्रहण करें और निरन्तर आगे बढ़े।

समाजसेवी विमल पामेचा , प्रवीण गुप्ता, राजमल गर्ग ने कहा कि जनसारंगी का यह अनूठा प्रयास सबके लिए प्रेरणादायी है बच्चों को तो यह सम्मान आगे बढ़ने की प्रेरणा देता ही है बल्कि हम सबको भी इससे सीख लेते हुए अन्य संगठनों को भी इस तरह के आयोजन बढ़ -चढ़कर करने चाहिए। जनसारंगी का यह प्रयास निरन्तर आगे बढ़ता रहे और प्रतिभाओं को आगे बढ़ाने में अपना योगदान देता रहे।

समारोह के प्रारंभ दैनिक जनसारंगी के प्रधान सम्पादक नरेन्द्र अग्रवाल ने आयोजन की रूपरेखा प्रस्तुत करते हुए कहा कि अपने मिडिया धर्म का पालन करने के साथ ही सामाजिक सरोकारों को भी निरन्तर दैनिक जनसारंगी निभा रहा है इस कड़ी में शिक्षा प्रतिभाओं को सम्मानित करने का यह सिलसिला नवम् वर्ष मे ंप्रवेश कर गया है इस वर्ष 470 प्रतिभाओं का सम्मान किया जा रहा है। यह सब कुछ जनसारंगी के पाठकों के बदौलत ही सफल हो पाया है। पाठकों के प्यार, विश्वास और भरोसे के दम पर जनसारंगी ने अपने 11 वर्षो का सफर पूरा करते हुए 12 वें वर्ष में प्रवेश किया और अपना एक मुकाम हांसिल किया है। पाठकों के इसी भरोसे पर दैनिक जनसारंगी आज से नई शुरूआत वेब पोर्टल के रूप में कर रहा है जिसके माध्यम से समाचार पत्र अब ऑनलाईन भी उपलब्ध होगा इसके अलावा ग्राहक वृध्दि योजना भी प्रारंभ की जा रही है जिसमेंअखबार भी, उपहार भी, विज्ञापन भी होगा।

स्वागत भाषण देते हुए स्थानीय सम्पादक जगदीश अग्रवाल ने कहा कि समाचार पत्र निरन्तर सबके विश्वास से, सबके सहयोग से निरन्तर आगे बढ़ रहा है और 12 वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है। समाचार पत्र निरन्तर अपने सामाजिक सरोकारों को भी कामय रखेगा और पाठकों के भरोसे पर सदैव खरा उतरने की पूरजोर कोशिश करेगा।

प्रारंभ में अतिथियों ने माता सरस्वती के चित्र पर द्वीप प्रज्जवलन कर समारोह का श्रीगणेश किया, सरस्वती वंदना एवं स्वागत गीत आयुषी देशमुख ने प्रस्तुत किया। अतिथियों का स्वागत कुमकुम तिलक लगाकर, दुपट्टा ओढ़ाकर और पुष्प एवं बॉलपेन भेंट कर जनसारंगी के प्रधान सम्पादक नरेन्द्र अग्रवाल, स्थानीय सम्पादक जगदीश अग्रवाल, अतिथि सम्पादक ब्रजेश जोशी, सहसंपादक प्रितेशसिंह राव, प्रसार व्यवस्थापक देवेन्द्र गुप्ता, जनसारंगी परिवार के वरिष्ठ महावीर प्रकाश अग्रवाल, गोविन्द बंसल, योगेश अग्रवाल, श्रीमती ममता अग्रवाल, विशेष संवाददाता अशोक संचेती, योगेश जोशी,  जनसारंगी के नगर संवाददाता नीरज जोशी, दीपक सोनी, संजय सोनी, ललित बाहेती, बंटी वर्मा, संवाददाता हिदायतुल्ला खान, रमेश कोठारी, सईम पठान, देवेन्द्र मौर्य, मनभावनसिंह, प्रो. अशोक अग्रवाल, संतोष गोयल, संजय वर्मा, हेमन्त अग्रवाल, प्रदीप भाटी, जयनारायण पाण्डे, ब्रजेश सेन मारोठिया, राजेश पालीवाल, सचिन पारिख, राजेश गर्ग,ओम अग्रवाल सर, विश्वमोहन अग्रवाल, ऋषिकेश अग्रवाल सहित जनसारंगी परिवार ने किया। समारोह का संचालन अतिथि सम्पादक ब्रजेश जोशी एवं प्रो. अशोक अग्रवाल ने किया।

बटन दबाकर वेब पोर्टल का शुभारंभ, योजना का विमोचन
अतिथियों ने लेपटॉप पर बटन दबाकर जनसारंगी वेब पार्टल का श्रीगणेश किया तथा जनसारंगी अखबार भी उपहार भी योजना का फोल्डर विमोचन किया। इस अवसर पर उपस्थित जनसमुदाय ने करतल ध्वनि के साथ अभिनंदन किया और जनसारंगी के प्रयासों की सराहना की।

परम्परागत रूप से किया स्वागत
दैनिक जनसारंगी द्वारा आयोजित समारोह में अतिथियों का स्वागत परम्परागत रूप से  कुमकुम तिलक लगाकर और दुपट्टा ओढ़ाकर किया गया इसके साथ ही पुष्पमाला की बजाय बॉलपेन भेंट कर स्वागत किया गया, सारे बॉलपेन अतिथियों ने समारोह स्थल पर ही बच्चों को भेंट कर दिए।

इन बच्चों को मिला सम्मान

  • वर्ष 2017 कक्षा 10 वी बोर्ड – प्रथम  प्रतीक पिता विजय विश्वकर्मा , द्वितीय यश पिता कृष्णगोपाल रत्नावत, तृतीय  अलख पिता जगदीश मांदलिया रहे।
  • वर्ष 2017 कक्षा 10 वी सीबीएसई – प्रथम  सार्थक पिता प्रमोद गुप्ता, आदित्य पिता संजय जैन, कार्तिकेय पिता ज्ञानसिंह बीष्ट, द्वितीय अरूणीमा पिता डॉ.बीएस गुप्ता, तृतीय प्रिंस पिता बसंतीलाल काला
  •  वर्ष 2017 कक्षा 12 वी बोर्ड -प्रथम  निशिकान्त पिता भावेश परमार, द्वितीय निकीता पिता श्रीचंद जैन, तृतीय निधी  पिता महेश मेड़तवाल
  • वर्ष 2017 कक्षा 12 वी सीबीएसई- प्रथम  ईशा पिता शरद धींग, द्वितीय चयन पिता अजय जैन , तृतीय हर्षित पिता गोपालकृष्ण पुरोहित
  • वर्ष 2018 कक्षा 10 वी बोर्ड -प्रथम  ललित पिता किशोर कुमावत, द्वितीय निलोफर पिता अनवर मो. रंगरेज, तृतीय  नीलम पिता विनोद जैन
  • वर्ष 2018 कक्षा 10 वी सीबीएसई – प्रथम संजना पिता राजेश जैन, द्वितीय  अक्षत पिता अभय नाहटा, तृतीय  अनुष्का पिता संजय मालू
  • वर्ष 2018 कक्षा 12 वी बोर्ड – प्रथम सलोनी पिता रमेश मेहता, द्वितीय डिम्पल पिता गणपत राठौर, तृतीय अक्षिता पिता सुनील घाटिया
  • वर्ष 2018 कक्षा 12 वी सीबीएसई- प्रथम  अमन पिता राजेश जाखेटिया, द्वितीय मोहक पिता दिनेश चापावत, तृतीय आयुष पिता रामगोपाल सेठिया

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts