Breaking News

दोनों आरोपियों को मिला वकील, फास्ट ट्रेक कोर्ट में होगी सुनवाई

मामला – मासूम के साथ दुष्कर्म का

मंदसौर। विगत् दिनों मासूम बालिका के साथ हैवानियत करने वाले दोनों दरिंदों को आखिरकार मंगलवार को लिगल हेड से दो वकिल उनका केस लड़ने के लिए मिल गए है।

घटना के बाद अभिभाषक संघ ने निर्णय लिया था कि दोनो दरिंदों का केस कोई भी वकील नहीं लड़ेगा। लेकिन एडव्होकेट एक्ट के चलते जिला न्यायाधीश द्वारा लिगल हेड में शामिल वकिलों को केस लड़ने के लिए आदेशित करते हुए एडव्होकेट शेरसिंह पंवार एवं दीनदयाल भावसार को अधिकृत किया है।

बच्ची को न्याया दिलाने को ध्यान में रखते हुए सोमवार को जिला अभिभाषक संघ का साधारण सम्मेलन हुआ। इस सम्मेलन में तीन बिन्दुओं पर विचार हुआ था। जिसमें अधिकांश की रॉय लिगल हेड बिन्दु पर रही। जिसमें सर्वसमहति से यह पारित किया गया कि आरोपियों की ओर से पैरवी करने के लिए जो वकिल नियुक्त किया जाए उसका फैसला जिला विधिक अधिकारी की ओर से लिगल हेड के माध्यम से किया जाएगा और इसी लिगल हेड के तहत् दोनों वकीलों को दर्ज प्रकरण लड़ने के लिए अधिकृत किया है। प्रकरण की सुनवाई फास्ट ट्रेक कोर्ट में होगी। हालांकि एक आरोपी आसिफ कि मां सलमा बी ने कोर्ट के समक्ष यह बात कहीं कि वकील नहीं मिल रहा है ऐसे में चार दिन का हमें समय दिया जाए। माननीय न्यायालय ने चार दिन की जगह एक दिन का समय दिया था। आज 18 जुलाई को न्यायालय में प्रकरण की तारिख निर्धारित है।

 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts