Breaking News

दो सौ वर्ष पुराने श्रीलक्ष्मी नरसिंह मन्दिर पर विधि विधान से हुआ पुनः स्वर्ण कलश आरोहण

मन्दसौर। जनकुपुरा गणपति चोक स्थित कोई 200 वर्ष पुराने अग्रवालों के श्री लक्ष्मी नरसिंह मंदिर के शिखर पर एक बड़े और 9 छोटे कलशों पर पुनः स्वर्ण आरोहन का कार्य विद्वान पंडित डॉ प्रभाकरजी शास्त्री मुम्बई के प्रमुख आचार्यत्व में विधि विधान और अभिषेक के साथ बड़ी संख्या में समाजजनों की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ।कोई 100 वर्षो बाद पुनः स्वर्ण कलशारोहण का यह कार्य संपन्न हुआ है।

पुनः स्वर्ण कलशों के आरोहन के पूर्व अग्रवाल धर्मशाला बस स्टेंड से भगवान श्री नरसिंह की स्वर्ण मूर्ति को रथ में विराजित कर बेंड बाजो और ढोल के साथ एक शोभायात्रा निकली । शोभायात्रा में पुरूष वर्ग स्फेद वस्त्र धारण किये हुए थे। महिलाओं में आगे सर पर रजत कलश लिये श्रीमती आशा विनोद गर्ग के साथ ही बड़ी संख्या में सर पर कलश लिए चुनरी धारण किये महिलाए चल रही थी। जुलूस विभिन्न मार्गों से होता हुआ श्री लक्ष्मी नरसिंह मन्दिर पहुचा। मंदिर में इस अवसर पर गणेश पूजन,नांदी श्राध्द ,पुन्यवाचन के धार्मिक कार्य हुए। रामेश्वर गर्ग,योगेश मित्तल,अजय मित्तल,गोविंद गोयल(मामा)ने धार्मिक कार्यो में भाग लिया। मन्दिर के शिखर पर रजत कलश के जल से एक बड़े और 9 छोटे कलशों का विधि विधान और पूजा अभिषेक के साथ पुनः स्वर्ण कलश आरोहन का कार्य सम्पन्न हुआ।भगवान श्री लक्ष्मी नरसिंह का अभिषेक किया गया और हवन पूर्णाहूती का कार्य संपन्न हुआ। पुनः स्वर्ण आरोहन के कार्यक्रम श्री कल्याणमल अग्रवाल के निर्देशन व मार्गदर्शन में सम्पन्न हुए।

भगवान श्री नरसिंह की मूर्ति के साथ निकली शोभायात्रा में राजमल गर्ग, नरेंद्र अग्रवाल, महावीर प्रकाश अग्रवाल, सुनील बंसल, सूरजमल अग्रवाल(चाचा), अनूप एरन, अरुण गर्ग,सत्यनारायण गर्ग आदि अनेक समाजजन थे। धार्मिक कार्यक्रम के पश्चात महाप्रसादी का आयोजन हुआ।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts