Breaking News

नई फल सब्जी मंडी का नाम होगा अटल बिहारी वाजपेयी फल सब्जी मंडी

मंदसौर। कृषि उपज मंडी समिति मंदसौर ने शनिवार को फल और सब्जी मंडी का नामकरण अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर करने का निर्णय लिया साथ ही मंडी प्रांगण में ही अटल बिहारी वाजपेयी की आदमकद प्रतिमा लगाने का निर्णय भी किया और मुख्यमंत्री के मंदसौर आगमन पर अटल बिहारी वाजपेयी फल-सब्जी मंडी के नामकरण की पट्टिका का अनावरण कराया जायेगा।

वाजपेयी जी ने अपने जीवन का क्षण क्षण और अपने शरीर का कण कण इस राष्ट्र को समर्पित किया था। श्रद्धेय अटल जी के राष्ट्र को समर्पित इस जीवन को कृषि उपज मंडी समिति मंदसौर ने चिर स्थाई बनाने का जो प्रयास किया है। उसकी हम सराहना करते है एवम इसके लिए मै कृषि उपज मंडी समिती मंदसौर की अध्यक्ष श्रीमती रमादेवी गुर्जर, उपाध्यक्ष श्री उमराव सिंह गुर्जर एवं मंडी समिति के सभी महानुभाव सदस्यों को धन्यवाद देता हूं।

श्रद्धेय अटल जी ने प्रधानमन्त्री बनने के बाद सर्वप्रथम खेती को घाटे से उभारने की दिशा में काम किया। साथ ही किसानो के बारे में यह कहा जाता था की किसान कर्ज में पैदा होता है। कर्ज में ही जीता है और कर्ज में ही मर जाता है.. उस किसान को कर्ज से उभारने के लिए न्यूनतम ब्याज दर पर वित्तीय सहायता किसानो को दिलाने का काम भी अटल सरकार ने किया था। कृषि में रिस्क मैनेजमेंट नही होता था, वाजपेयी ने खेती में रिस्क मेनेजमेंट पर काम करते हुए फसल बीमा योजना प्रारम्भ की। ग्रामीण आवगमन को सुगम बनाने के लिए गाँव और शहरो की दुरी को कम करने का काम किया एवं प्रधानमंत्री सड़क योजना जैसी महती योजना प्रारम्भ की अटल जी के ही सार्थक प्रयासों से आज गाँव गाँव तक सड़क की सुविधा उपलब्ध हो पाई है। निश्चित ही श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी का हमारे बीच से जाना दुःखद है लेकिन हमको इस बात का गर्व भी है कि उन्होंने हमारे लिए ऐसी राजनीतिक विरासत छोड़ी है जो की पीढियों तक हमारा मार्गदर्शन करती रहेगी। अटल जी के बारे में जितना भी कहा जाए, लिखा जाये कम है। उनका बहुआयामी व्यक्तित्व और कृतित्व आने वाली कई पीढियों तक हमारा मार्गदर्शन करता रहेगा।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts