नगरपालिका के रसीद कट्टों का दुरूपयोग कर ग्रामवासियों के साथ की धोखाधड़ी

Story Highlights

  • जनसुनवाई में आवेदन देकर श्यामलाल डाबी के विरूद्ध कार्यवाही की मांग
Hello MDS Android App

मन्दसौर। निपानिया निवासी प्रकाशचन्द्र जैन, राजकुमारी जैन एवं नगरी निवासी पिंकेश जैन ने कलेक्टर श्री ओ.पी. श्रीवास्तव एवं पुलिस अधीक्षक श्री मनोहर शर्मा को मंगलवार को जनसुनवाई में आवेदन देकर उनके साथ श्यामलाल डाबी निवासी मंदसौर द्वारा नगरपालिका के रसीद कट्टे का दुरूपयोग कर टिगरिया में निर्मित मकानों में से एक मकान अलाट कराने के नाम से ठगी व धोखेबाजी की शिकायत की तथा आरोपी के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की मांग की।
प्रकाशचन्द्र जैन पिता उम्मेदरामजी जैन, राजकुमार पति संदीप जैन दोनों निवासी निपानिया, पिंकेश पिता प्रकाशचन्द्र जैन निवासी नगरी ने दिये आवेदन में कहा कि श्यामलाल डाबी पिता मोड़ीराम बागरी निवासी अभिनन्दन नगर, मंदसौर वालीवाल का खिलाड़ी है और गांवों में टूर्नामेंट करता है और गांव में जाकर जान पहचान बढ़ाकर मंदसौर में नगरपालिका द्वारा निर्मित मकान टिगरिया में दिलाने की बात कहकर व स्वयं को नगरपालिका मंदसौर का कर्मचारी बताकर नगरपालिका मंदसौर का रसीद कट्टा बताता था और रसीद कट्टा बताकर ग्राम टिगरिया में प्रार्थीगणों को 1 लाख 76 हजार रू. में नगरपालिका के मकानों में से एक मकान दिलाने का झांसा देकर आवेदन शुल्क 10 रू. प्राप्त करके नगरपालिका के रसीद कट्टे पर 14-14 हजार रूपये भवनों के लिये प्राप्त करने का रसीदों में उल्लेख किया है। श्यामलाल ने प्रार्थीगणों से 10 रू. आवेदन शुल्क व मकान के आवेदन के साथ 14-14 हजार रू. लिये जिसका उल्लेख नगरपालिका मंदसौर की रसीदों में किया है तथा इसके अलावा प्रार्थीगण से 50-50 हजार रूपया मकानों के लिये नगरपालिका में जमा कराने के नाम से लिये। इसके बाद श्यामलाल डाबी बोला की मकान मिल रहा है मकान में बिजली का मीटर लगवाना है इसके लिये प्रार्थीगणों से 3-3 हजार ओर लिये तथा विद्युत कनेक्शन की फाईल भी बनवाई।
जब प्रार्थीगणों ने नगरपालिका मंदसौर मंे जाकर तलाश किया तो ज्ञात हुआ कि आरोपी श्यामलाल नगरपालिका मंदसौर का कर्मचारी नहीं है उसने नगरपालिका मंदसौर की रसीदों का दुरूपयोग कर प्रार्थीगण सहित अनेक लोगों के साथ धोखाधड़ी कर रूपये एंेठ लिये है। प्रार्थीगणों ने कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक को जनसुनवाई में आवेदन के साथ सिटी कोतवाली पर भी आवेदन देकर मांग की कि तत्काल श्यामलाल व उसके साथियों के यहां छापामारी करके नगरपालिका मंदसौर के रसीदों, नगरपालिका मंदसौर द्वारा मकानों के आवंटन संबंधी आवेदक व बिजली कनेक्शन दिलाने की फाईले जप्त की जावे तथा श्यामलाल को गिरफ्तार किया जावे।

प्रकाशचन्द्र पिता उम्मेदरामजी जैन
मो.नं. 9977963780

राजकुमारी पति संदीप जैन
मो.नं. 8224989863

पिंकेश पिता प्रकाशचन्द्रजी जैन
मो.नं. 9993439872

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

1 Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *