Breaking News

नगरपालिका बजट- कर व दर से वसूलेंगे 30 करोड़ रूपए

नगरपालिका इस वर्ष करीब 2 अरब 31 करोड़ 87 लाख 24 हजार 250 रूपए से शहर का विकास करेगी। वर्ष 2017-18 का बजट 28 मार्च को पेश होगा। इसमें 5 लाख 81 हजार रुपए की बचत होगी। हालांकि पिछले 5 वर्षों का बजट देखों तो नगरपालिका द्वारा बताई गई आय 50-60 प्रतिशत आय ही नगरपालिका को हुई है। ऐसे में इस बार भी करों से व संपत्तियां बेचने से जो आय बजट में संभावित बताई गई है, वह हकीकत से कोसों दूर हो सकती है। बजट में अधिकांश प्रस्ताव अनुदान, विशिष्ट अनुदान, ऋण निक्षेप, अग्रिम पर निर्भर है।

यह होगा व्यय
सामान्य प्रशासन व कर संग्रहण पर 2 करोड 57 लाख 60 हजार रुपए खर्च होंगे। अग्निशमन सार्वजनिक सुरक्षा पर 6 करोड़ 5 लाख रुपए, स्वास्थ्य- स्वच्छता व जल प्रदाय पर 25 करोड़ 7 लाख 70 हजार रुपए खर्च होंगे। विभिन्न निर्माण कार्यों पर 17 करोड़ 84 लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। सार्वजनिक शिक्षा, वाचनालय पर 89 लाख 50 हजार रुपए, अंशदान व अनुदान पर 6 करोड 13 लाख, विविध व्यय 11 करोड 8 लाख 39 हजार 250 रुपए, विकास शाखा की योजनाओं पर 9 करोड़ 99 लाख 24 हजार रुपए खर्च किए जाएंगे। असाधारण ऋण, अनुदान, निक्षेप आदि के लिए 1 अरब 52 करोड़ 17 लाख रुपए का प्रावधान रखा जाएगा। बजट में कुल व्यय 2 अरब 31 करोड़ 81 लाख 43 हजार 250 रुपए का है।

बजट में यह प्रमुख होगें प्रस्ताव
-अग्रसेन ऑडिटोरियम के आंतरिक सज्जा के लिए एक करोड़
– नरसिंह पुलिया की ऊंचाई में वृद्धि पर 50 लाख
-तेजाजी मंदिर से महारानी लक्ष्मीबाईस्कूल तक नाले की ऊंचाई वृद्धि पर 50 लाख
-पंडित गजा महाराज काम्प्लेक्स निर्माण के द्वितीय चरण पर एक करोड़ रूपए
-पत्र विक्रेताओं के लिए नेहरू बसस्टेंडपर हाकर्स शेड निर्माण पर 25 लाख
– चौराहों का विकास व महापुरुषों की प्रतिमाओं की स्थापना के लिए एक करोड़
– नगर पालिका कर्मचारी क्वार्टर कॉलोनी पीपी मोड स्ववित्ती योजना के तहत निर्माण कार्य दो करोड़ रूपए
– रेलवे ओवर एवं अंडर ब्रिज निर्माण संजीत रोड तथा मिड इंडिया फाटक 50 लाख
-कास्तकार होटल से सीतामऊ फाटक तक नवीन रोड एवं हाफीज पेट्रोल पंप के पास ब्रिज निर्माण 25 लाख रूपए
– गांधी धर्मशाला को शापिंग काम्प्लेक्स बनाना 10 लाख रूपए
– पेंशन अंशदान पर पांच करोड़ रूपए, मेला पशुपतिनाथ पर साठ लाख
– नाहर सय्यद मेला आठ लाख, विवेकानंद नगर में विद्युतीकरण व कर्मचारियों के लिए आवासी योजना पर चार करोड़ रूपए
– ट्रांसपोर्टनगर में शॉपिंग कॉम्प्लेक्स पर 50 लाख रूपए, नयाआबादी सब्जीमंडी आवासीय व वाणिज्यिक योजना तथा मेघदूत नगर में दो बगीचोंं का विकास पर एक करोड़ रूपए
– कैलाश विहार शॉपिंग कॉम्प्लेक्स का प्रथम तल निमार्ण पर 75 लाख
– बालागंज में मिनी हॉकी स्टेडियम पर एक करोड़ रूपए, ठोस अपशिष्ट प्रबंधन के तहत आधुनिक उपकरण खरीदी एवं शिवना शुद्धिकरण योजना के लिए एक करोड़ रूपए
– नदी संरक्षण अटल सागर बांध प्रथम चरण एवं द्वितीय चरण के लिए बीस करोड़ रूपए
– सड़क, नाली, पेयजल आदि के लिए ऋण 28 करोड़ रूपए
– शौचालय निर्माण के लिए दो करोड़ रूपए
– विशिष्ट अनुदान से कम्यूनिटी हॉल पुलियाओं का जीर्णोद्वार पर आठ करोड़
– सुलभ शौचालयों के निर्माण पर एक करोड़ रूपए
– अटल आश्रय योजना पर एक करोड़ रूपए
– विश्व बैंक परियोजना बैंक के अंतर्गत सीवरेज योजना प्रथम चरण दस करोड़ रूपए
– प्रधानमंत्री आवास योजना पर 13 करोड़ रूपए
– अमृत योजना के अंतर्गत चंबल नदी से मंदसौर शहर को जलप्रदाय योजना 35 करोड़ रूपए।
-नईएवं पुरानी योजनाओं के भूखंड भवन विक्रय प्रीमियम पांच करोड़ 16 लाख पांच हजार रूपए।
-आधिपत्य अधिकार दुकानों से पांच करोड़ सात लाख।

नपा के आय के यह होंगे स्त्रोत
– गतवर्ष के बकाया कर संग्रहण से 2 करोड़ रुपए।
– संपत्ति कर 1 करोड़ 50 लाख रुपए, अन्य कर क्षतिपूर्ति 1 करोड़ 30 लाख रुपए।
– स्वच्छता उपकर, सामान्य प्रकाश कर 2 करोड़ रुपए।
– चुंगी क्षतिपूर्ति, अनुदान 21 करोड़ रुपए।
– विकास व्यय फीस 1 करोड़ रुपए।
– दुकानों की नीलामी, नई आबादी सब्जी मंडी, स्टेशन रोड, गांधी धर्मशाला के सामने, काली खान, बस स्टैंड, महाराणा प्रताप बस स्टैंड, नपा कॉलोनी योजना पीपीपी मोड सहित अन्य जगह विकास कार्यो से प्राप्त आय 35 करोड़ रुपए।
-दुकान भवन किराया डेढ़ करोड़।
-रिक्त भूमि से आय एक करोड़।
– नपा विधानांतर्गत समझौता आदि से 3 करोड़ रुपए।
– निजी भवनों का छानबीन शुल्क 3.22 करोड़ रुपए।
– गजा महाराज शापिंग काम्प्लेक्स द्वितीय योजना से 2 करोड़ रुपए।
– दुकान, संस्थान लाइसेंस व अन्य से 2 करोड रुपए।
– मुद्रांक शुल्क अनुदान से 2 करोड़ रुपए।
– जलकल, मीटर-अनमीटर से 4.50 करोड़ रुपए।
-सड़क खरन्नजा खुदाई दंड एक करोड़ रूपए।
– नई एवं पुरानी योजनाओं के भूखंड भवन विक्रय प्रीमियम से 5.16 करोड़ रुपए।
– विवेकानंद नगर भवन भूखंड से 2 करोड़ रुपए।
-ट्रांसपोर्ट नगर दुकान छत, कृषक बाजार, निलामी आय एक करोड़।
-मेघदूत नगर एमआईजी भूखंड भवन, कैलाश विहार दो करोड़ रूपए।
– कैलाश विहार शापिंग काम्प्लेक्स योजना प्रथम तल से 2 करोड़ रुपए।
– विशिष्ट अनुदान, सड़क, नाली से 5 करोड़ रुपए।
– राज्य वित्त आयोग से 3 करोड़ रुपए।
– 13वें व 14वें वित्त आयोग से 5 करोड़ रुपए।
– योजना मंडल अनुदान से 50 लाख रुपए।
-पाइप लाइन जनभागीदारी से एक करोड़ रूपए।
– अवैध कॉलोनियों को वैध करने के लिए डिपाजिट राशि 3 करोड़ रुपए।
– मुख्यमंत्री अधोसरंचना कार्यक्रम से 5 करोड़ रुपए।
– कम्यूनिटी हॉल व गीता भवन अंडर ब्रिज, मिड इंडिया ब्रिज, संजीत रोड ब्रिज के लिए शासन से मिलने वाली विशेष निधि 7 करोड़ रुपए।
– ठोस अपशिष्ट प्रबंधन, स्वच्छता मिशन आदि योजनाओं के लिए शासन से 10 करोड़ रुपए।
– नदी सरंक्षण, अटल सागर बांध द्वितीय चरण के लिए यूआईडीएसएसएमटी योजना से 10 करोड़ रुपए।
-विशिष्ट अनुदान सिंहस्थ 2016/आईएचएसडीपी पांच करोड़।
– विश्व बैंक परियोजना सीवरेज के लिए बनी योजनाओं के लिए मिलने वाली राशि 5 करोड़ रुपए।
-सुलभ शौचालय एवं बाढ़ नियंत्रण के लिए पंप हाऊस निर्माण एक करोड़।
-अनूसूचित जाति क्षेत्र में बुनयादी विकास कार्य के लिए एक करोड़ रूपए।
– आवास योजना के लिए मिलने वाली राशि 2 करोड़ रुपए।
– विश्व बैंक परियोजना सीवरेज योजना ऋण अनुदान 5 करोड़ रुपए।
– प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए मिलने वाली राशि 5 करोड़ रुपए।
– अमृत योजना के अंतर्गत मिलने वाली राशि 29करोड़33 लाख रुपए।
– निर्माण कार्य समायोजन से 12 करोड़ रुपए।
– निक्षेप में जमा के लिए 6 करोड़ रुपए।
– भविष्य निधि अंशदान व अन्य से 7 करोड़ ।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts