Breaking News

नगर पालिका अमले ने हटाया तेलिया तालाब से अतिक्रमण

मंदसौर। मुख्य नपाधिकारी के निर्देशन पर नगर पालिका अमले ने तेलिया तालाब पिकनिक स्पॉट के बाहर भाजपा नेता अनुप माहेश्वरी द्वारा किए गए अतिक्रमण को नगर पालिका ने सरकार बदलते ही हटा दिया है। वैसे भी नगर में ऑपरेशन शिकंजा के तहत अवैध गुमटियों को हटाने का कार्य जिला पुलिस प्रशासन द्वारा किया जा रहा था। लेकिन यह अभियान एक दिन ही चला व अज्ञात कारणों के चलते फिर बंद हो गया।

मंगलवार की नपा द्वारा तेलिया तालाब से हटाए गए अतिक्रमण का विरोध करने भाजपा के जिला मंत्री विनय दुबेला अपने साथियों के साथ मौके पर पहुंचे थे लेकिन नपा सीएमओ सविता प्रधान ने उनकी एक न सुनी और बांस से बनी दुकान को जेसीबी से ढहा दिया। अनूप माहेश्वरी के अनुसार मंगलवार को ही उसे कलेक्टर के यहां से नोटिस मिला था, जिसमें जवाब देने की अंतिम दिनांक 8 फरवरी थी। लेकिन उसके पूर्व ही मेरी दुकान को नपा ने तहस नहस कर दिया जबकि यह निजी भूमि पर बनाई गई थी।

तेलिया तालाब पर पिकनिक स्पॉट मुख्य द्वारा के समीप की खुली भूमि पर पिछले करीब तीन वर्षों से अनूप माहेश्वरी ने कोल्ड्रिंक्स की दुकान लगा रखी थी। मंगलवार दोपहर करीब तीन बजे सीएमओ सविता प्रधान, नपा के अधिकारियों एवं पुलिस बल लेकर पहुंची। नपा अमला जेसीबी एवं ट्रॉले व ट्रैक्टर-ट्रॉलियां भी लेकर पहुंचा था। सीएमओ ने जाते ही कार्रवाई शुरू की। इस पर दुकान संचालक माहेश्वरी ने विरोध कि या। इनके बीच बहस भी हुई। इस दौरान अनूप ने कलेक्टर कार्यालय से मिला एक पत्र दिखाया। जिसमें उक्त अतिक्रमण के संबंध में उसे अपना पक्ष रखने के लिए आठ फरवरी को कलेक्टर न्यायालय में उपस्थित होने का कहा गया था, लेकि न सीएमओ ने कहा कि उक्त जमीन का प्रकरण न्यायालय में चल रहा है, इस भूमि पर कि सी भी तरह के निर्माण नहीं करने के लिए स्टे लगा रखा है। इसे आज ही तोड़ा जाएगा। इस दौरान भाजपा जिला मंत्री विनय दुबेला व अन्य कार्यकर्ता भी पहुंचे। उन्होंने कहा कि दुकान में रखे सामान को बाहर निकालने दिया जाए। इसके बाद सामान को बाहर निकाला गया। बाद में नपा अमले ने पुलिस की मौजूदगी में दुकान को हटा दिया। दुबेला ने आरोप लगाया कि नगर पालिका भाजपा व आरएसएस के लोगों को चिन्हित कर कार्रवाई कर रही है। जबकि पूरे शहर में कई रसूखदारों की गुमटियां भी अतिक्रमण में रखी हैं।

संबंधित दुकान संचालक को पहले सूचना भी दी थी कि वह अपनी दुकान यहां से हटाए लेकिन नहीं हटाया, सीएम हेल्पलाइन में भी शिकायत थी। न्यायालय द्वारा भूमि पर कि सी भी तरह निर्माण के लिए स्टे लगा रखा है। दुकान संचालक ने समय पर अतिक्रमण नहीं हटाया, इसके लिए नपा ने हटा दिया। शहर में जो भी अवैध अतिक्रमण व गुमटियां लगी हुई हैं, उन्हें भी मुहिम चलाकर हटाया जाएगा। -सविता प्रधान, सीएमओ, नपा

शहर में ईमानदारी से काम करने वाले लोगों का रोजगार नपा तानाशाह बनकर छीन रही है। षड्यंत्र के तहत भाजपा व संघ के कार्यकर्ताओं को चिन्हित करके उन्हें रोजगार से दूर किया जा रहा है। अतिक्रमण हटाने का हम विरोध नहीं कर रहे, लेकि न लोगों को चिन्हित करके कार्रवाई क्यों की जा रही है। शहर में जहां पर अतिक्रमण के कारण ट्रॉफिक जाम हो रहा है, वहां का अतिक्रमण नजर नहीं आ रहा, कई रसूखदार लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है वह भी हटाया जाना चाहिए। -विनय दुबेला, जिला मंत्री, भाजपा

नपा सीएमओ मेरी दुकान हटाने के लिए आई तो मैंने उन्हें कलेक्टर न्यायालय द्वारा मुझे मिला पत्र बताया जो मंगलवार सुबह नौ बजे ही मुझे मिला था। इसमें 8 फरवरी को मुझे मेरा पक्ष रखने के लिए कहा गया है। लेकि न सीएमओ नहीं मानी। दुकान से सामान खाली करने के लिए तीन-चार घंटे का समय मांगा तो मुझे पुलिस की गाड़ी बिठवा दिया और मेरा मोबाइल छीनने की कोशिश की गई। पूरी कार्रवाई सीएमओ ने तानाशाहीपूर्वक की है, मैं उनके खिलाफ कोर्ट में जाऊंगा। -अनूप माहेश्वरी, दुकान संचालक, तेलिया तालाब

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts