Breaking News

नगर पालिका के सामने चल रहे निर्माण को नगर पालिका ने गिराया

मंदसौर. शहर के गांधीचौराहेें पर नगर पालिका के अमले ने पहुंचकर अनुमति से अधिक निर्माण को लेकर दो मंजिला बिल्डिंग को तोड़ दिया। यहां तीसरी मंजिल भी बनाने की तैयारी थी। इस दौरान यहां बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ जमा रही। नपा की यह कार्रवाई एक से डेढ़ घंटे चली फिर भी आधी-अधूरी कार्रवाई कर नपा का अमला लौट गया। कार्रवाई करने भी गया तो अधूरी तैयारियां के साथ। मौके पर लंबे समय तक विद्युत लाईन बंद करने का इंतजार करना पड़ा। भीड़ को मौके से हटाने के लिए तैनात पुलिस को मशक्कत करना पड़ी। नपा की कार्रवाई बुधवार को शहर में चर्चा का विषय बन गई। जिस जगह इस बिल्डिंग का निर्माण कार्य चल रहा। ठीक उसके सामने ही नगर पालिका है। नपा के सामने ही लंबे समय से यह निर्माण कार्य चल रहा है।

यहां तक की रात में भी काम किया जा रहा है। फिर भी निर्माण कार्य को देखभर भी नपा ने अनदेखा करते हुए नोटिस देने तक की कार्रवाई की। देखकर भी अनदेखा करने के कारण दो मंजिल बनने के बाद तीसरी मंजिल के निर्माण तक की तैयारियां यहां हो गई। लेकिन जब दबाव बड़ा तो नपा ने बुधवार को दोपहर में यहां पहुंचकर कार्रवाई की।
नपा अधिकारियों के अनुसार गांधीचौराहें पर फल व्यापारी मोहनलाल-झमटलाल मेघनानी के नाम से नपा रिकॉर्ड में अनुमति जारी हुई।

इसमें निर्माण अनुमति को लेकर जो नक्शा लगाया गया। उसमें आगे 3 मीटर और 2.81  मीटर पीछे की और हर मंजिल पर एमओयूएस (मिनीमन ओपन स्पेस) के लिए छोडऩा दर्शाया गया। लेकिन निर्माण में इसका पालन नहीं किया जा रहा था। इसे लेकर 9 अक्टूबर में नपा के सम्मेलन में पार्षद रुपल संचेती ने मुद्दा उठाते हुए इस निर्माण को लेकर एई आरसी तोमर लिया और इस अनुमति से अधिक हो रहे निर्माण की सूचना देने पर उल्टा जवाब देने की बात कहते हुए फोन पर हुई बात को सार्वजनिक करते हुए सवाल खड़े किए थे। इसके बाद इसे गंभीर लेते हुए कार्रवाई का आश्वासन दिया था। इसके बाद नपा पर कार्रवाई को लेकर लगातार दबाव बढ़ता गया। इसके चलते बुधवार को नपा अमले ने यहां पहुंचकर कार्रवाई करते हुए अनुमति से अधिक किए गए निर्माण को धराशाई कर दिया। नपा की कार्रवाई रुकवाने के लिए भी नपा अधिकारियों पर अलग-अलग जगह से दबाव बनाया गया।

नगर पालिका सीमएओ सविताप्रधान, एई आरसी तोमर, जीएल गुप्ता, बीब गुप्ता, ओएस प्रमोद जैन, एकाउंटेड शाहिद, जाकिर से लेकर नगर पालिका का पूरा अमला नपा दफ्तर से बाहर निकलकर जेसीबी व अन्य संसाधनों के साथ लैबर लेकर तोडऩे पहुंचा। नपा ने पूर्व में नोटिस भी जारी किए थे। मौके पर पहुंचने के बाद पहले तो कर्मचारियों ने नपती के बाद तोडऩे की कार्रवाई की। इसके बाद लगाई गई सेंटिग को हटाने का काम जेसीबी से किया और जेसीबी से इन निर्माण कार्य को तोड़ा गया।

बिना अनुमति रास्ता रोका तो ठोका 60 हजार का जुर्माना
वहीं पिछले दिनों बीपीएल चौराहा व गांधीचौराहा वाले अस्पताल के सामने के मार्ग पर ज्वेलरी शॉप का शुभारंभ हुआ। इस दौरान संचालक हेमंत मेहता द्वारा टेंट लगाते हुए सड़क मार्ग को बंद कर दिया गया। नपा ने बिना अनुमति आम रास्ता रोकते हुए टेंट लगाने को नियम विरुद्ध मानते हुए 60 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है। सीएमओ सविता प्रधान ने बताया कि नपा की बिना अनुमति के आमरास्ता रोकते हुए वहां टेंट लगाया गया। जो नियम विरुद्ध है। इसके चलते 20 गुना अधिक पैनल्टी करते हुए 60 हजार रुपए का जुर्माना लगाने की कार्रवाई की गई है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts