Breaking News

नपाध्यक्ष के उप निर्वाचन : भाजपा के बाद कांग्रेस पार्षदों की हुई बैठक : बहुमत भाजपा के पक्ष में

मंदसौर। आगामी 17 फरवरी को राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मंदसौर नगर पालिका अध्यक्ष का उप निर्वाचन होना है। चुनाव को लेकर भाजपा और कांग्रेस दोनों ही पार्टीयां तैयारियां कर रही है। वर्तमान नपा में 40 निर्वाचित पार्षद है। जिसमें से 22 पार्षद भाजपा के तो 17 पार्षद कांग्रेस है एक निर्दलीय पार्षद है जो भी भाजपा समर्थित ही है। बहुमत की बात की जायें तो बहुमत स्पष्ट रूप से भाजपा के पक्ष में हे। इसलिए चुनावी हलचल भी यहां ज्यादा ही है।

गुरूवार को शहर से दूर भाजपा जिलाध्यक्ष राजेन्द्र सुराणा के भाई व भाजपा नेता विजय सुराणा के स्कूल में भाजपा पार्षदों व भाजपा जनप्रतिनिधियों व पदाधिकारियों की एक गुप्त बैठक हुई। जिसमें सभी को एक नाम पर सहमत करने का प्रयास किया गया। हालांकि बैठक के बाद भाजपा ने तो किसी के नाम का ऐलान नहीं किया लेकिन सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार 23 भाजपा पार्षदों में से 18 पार्षद राम कोटवानी के पक्ष में है। बाकी को मनाने का कार्य भाजपा जिला संगठन कर रहा है। अभी भाजपा की ओर से राम कोटवानी जिन्होने नपाध्यक्ष के उप निर्वाचन को लेकर हाई कोर्ट में लम्बी लड़ाई लड़ी है उनके साथ मुकेश खमेसरा और विनोद डगवार के नाम को चर्चाएं हो रही है।

भाजपा की विशेष गुप्त बैठक के बाद शुक्रवार को कांग्रेस के पर्यवेक्षक बटुक शंकर जोशी मंदसौर पहंुचे और उन्होने सर्किट हाउस पर कांग्रेस के पार्षदांे और काग्रेस के पदाधिकारियों से एक के बाद एक चर्चा की। हालांकि नपा में कांग्रेस के पास बहुमत नहीं है लेकिन फिर भी कांग्रेस अपना प्रत्याशी चुनाव में उतारने की तैयारी में है।

जोशी ने सर्किट हाउस पर कांग्र्रेस पार्षदों से एक के बाद एक कर मिलें और उनकी रॉय जानी। पार्षदों से बैठक करने के बाद श्री जोशी कांग्रेस पदाधिकारियों से भी वन टू वन ही मिले। मुलाकात करने के बाद श्री जोशी शुक्रवार को ही शाम को निकल गए। हालांकि वे किसी एक नाम की घोषणा नहीं कर गए। कांग्रेस के जिला पदाधिकारियों ने बताया कि श्री जोशी 16 व 17 को मंदसौर में ही रहेंगे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts