Breaking News

नपा पहले अतिक्रमण करने ही क्यों देती है जो बाद में तोड़ना पड़े, विद्युत कनेक्शनों की भी हो जांच

अतिक्रमणकर्ताओं से ज्यादा गुनहगार नपा के जिम्मेदार हैं, सिविल लाईन के बाहर खाली जमीन पर फिर रहने लगे है परिवार, जिन्हें नहीं रोका जा रहा

मंदसौर। मंगलवार की शाम को नगर पालिका द्वारा मेघदूत नगर में सरकारी और निजि प्लाटों पर अतिक्रमण कर रह रहें परिवारों के आशियानों पर बूलडोजर चला दिए गए। कई परिवारों के सदस्य रोते बिलखते रहे लेकिन नपा की कार्यवाही नहीं रूकी। आक्रोशित महिलाओं ने नपा के कर्मचारियों व पुलिस वालों पर भी हमला किया जिसमें नपा के दो बड़े वाहनों के कांच भी फूट गए। लेकिन यहां एक बड़ा प्रश्न यह उठता हैं कि नपा द्वारा इन अतिक्रमणकर्ताओं को पहले ही क्यों नहीं रोका गया। आज जब इन लोगों ने अतिक्रमण को पक्का बना दिया और घर गृहस्थी की चीजें बसा ली। उसके बाद नपा जागी और गरीबों का नुकसान किया। ऐसा पहली बार नहीं हुआ है जब नपा के जिम्मेदारों ने ऐसा किया हो इससे पहले भी कई बार ऐसा हो चुका है। यह बात भी सही है कि अतिक्रमणकर्ताओं को निजी प्लॉटों पर इस तरह अतिक्रमण कर पक्के मकान नहीं बनाना चाहिए थे लेकिन इन अतिक्रमणर्ताओं को विद्युत कनेक्थन भी मिल जाना विद्युत विभाग की पोल खोलता है। चुनाव के समय राजनीतिक पार्टीयां जो झूठे वादे करती है उसका ही नतीजा है जो मंगलवार शाम को देखने को मिला।

विद्युत कनेक्शन कैसे मिला बड़ा प्रश्न
निजी प्लॉटों पर अतिक्रमणकर्ताओं को विद्युत कम्पनी ने विद्युत कनेक्शन दे दिये। यह एक गंभीर मामला है। लीगल रूप से विद्युत कनेक्शन देने में आनाकानी करने वाली विद्युत कम्पनी ने कैसे अतिक्रमणकर्ताओं को विद्युत कनेक्शन दे दिए।

अब तो रोकों
कुछ माह पूर्व स्वच्छता सर्वेक्षण की टीम के आने के नाम पर नपा द्वारा श्रीकोल्ड चोराहे से पहले सिविल लाईन के बाहर पड़ी खाली जमीन पर रह रहें गाड़ूलिया लोहार समाज के लोगोे के आशियानों को बिना नोटिस दिये तोड़ दिये थे। भीषण ठण्ड में ये परिवार खुले आसमान में रहने को मजबूर हुए थे। अब कुछ माह बाद फिर कुछ परिवारों द्वारा अपने आशियाने उसी जमीन पर बनाए जा रहे है लेकिन अब नपा द्वारा इनको नहीं रोका जा रहा है। नपा इन्हें अपनी जरूरत के हिसाब से हटायेंगी तब इन गरीबों को कितना नुकसान होगा अंदाजा लगाया जा सकता है। जबकि इस रोड़ से नपा के जिम्मेदार व प्रशासनिक अधिकारी, जनप्र्रतिनिधि दिन में कई बार निकलते है।

आक्रोशित महिलाओं ने घेरा नपा कार्यालय
मंगलवार को हुई कार्यवाही में तोड़े गए घरों की आक्रोशित महिलाओं ने नगर पालिका कार्यालय का घेराव किया और नपाध्यक्ष और सीएमओं के खिलाफ नारेबाजी कर मुआवजे की मांग की।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts