Breaking News

नर्स ने करवाया तीन अभिभाषकों पर मुकदमा दर्ज

विरोध स्वरूप अभिभाषक अनिश्चितकालिन हड़ताल पर

मंदसौर। गुरूवार को एक मामले में राजीनामे की बात को लेकर तीन अभिभाषकों ने एक पक्ष से बात की। लेकिन बात इतनी बढ़ गई कि जिसे अभिभाषकगण समझाने गए थे उसने ही तीनों अभिभाषकों के खिलाफ प्रकरण दर्ज करवा दिया। जिसके विरोध में शुक्रवार को नगर के सभी अभिभाषक अनिश्चितकालिन हड़ताल पर चले गए है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार अमलावद मे पदस्थ नर्स प्रीति पति रमेश हुपले और डॉ प्रमोद गुप्ता के बीच विवाद चल रहा था। नर्स ने डॉ गुप्ता पर प्रताडि़त करने का आरोप लगा रखा है। गुरूवार को नर्स डॉ गुप्ता के खिलाफ कोर्ट में आवेदन देने के लिए कोर्ट पहुंची और आवेदन टाइप करवा रही थी। तभी डॉ गुप्ता के तीन परिचित अभिभाषक निर्मल जोशी, उमेश परमार और राम राठौर उसे समझाने के लिए गए कि वे ऐसा नहीं करें। लेकिन नर्स को बात को उल्टी लेते हुए तीन अभिभाषको के विरूद्ध शहर कोतवाली में पहंुचकर धमकी देने और जान से मारने के मामले में प्रकरण दर्ज करवा दिया।

 

नारेबाजी कर अनिश्चितकालीन हडताल पर अभिभाषक
अभिभाषकों पर प्रकरण दर्ज करने के विरोध में शुक्रवार सुबह से ही सभी अभिभाषक अनिश्चितकालीन हडताल पर चले गए। सुबह 11 बजे अभिभाषकों ने खूब नारेबाजी की। जिसके बाद अभिभाषक संघ की एक बैठक हुई जिसमें निर्णय लिया गया कि दर्ज प्रकरण का खात्मा किया जाए, उक्त नर्स के विरूद्ध भी प्रकरण दर्ज कि जाया और बिना जांच किए जिस पुलिस अधिकारी ने प्रकरण दर्ज किया है उसे निलंबित किया जाए।

 

यह कहना है अभिभाषकों का
अभिभाषक निर्मल जोशी और उमेश परमार ने बताया कि हम महिला को सिर्फ समझाने का प्रयास कर थे। इतने में उसने हमारे उपर प्रकरण दर्ज करवा दिया। हमने उसके उपर कोई दबाव नहीं बनाया। पुलिस ने भी बिना जांच किए प्रकरण दर्ज कर दिया जिसकी हम निंदा करते है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts