Breaking News

नशामुक्ति केंद्र, संचालक गिरफ्तार – बिना मापदंडों के चल रहा था

मंदसौर। शहर के गीता भवन क्षेत्र में स्थित कोठारी कॉलोनी में तीन सालों से आदर्श सेवा सोशल वेलफेयर सोसायटी द्वारा संचालित नशामुक्ति केंद्र के कागजात जांचने की याद पुलिस को अब जाकर आई है। यहां के कागजात देखने के बाद शुक्रवार को सीएसपी ने मौके पर पहुंचकर नशामुक्ति केंद्र को सील कर दिया। यहां नशा छोड़ने के लिए भर्ती रखे गए 8 लोगों को पुलिस ने रेडक्रॉस के नशामुक्ति केंद्र पर पहुंचा दिया। साथ ही अवैध संचालन के आरोप में सोसायटी के संचालक सूरज माली को भी गिरफ्तार कर लिया है।

तीन सालों से कोठारी कॉलोनी में सूरज माली द्वारा आदर्श सेवा सोशल वेलफेयर सोसायटी के माध्यम से नशामुक्ति केंद्र संचालित किया जा रहा था। केंद्र पर नशा छोड़ने के लिए लोगों को जबर्दस्ती लाने और उनके साथ मारपीट करने की शिकायत के बाद 4 जनवरी को एसडीएम शिवलाल शाक्य एवं सीएसपी राकेश मोहन शुक्ला ने वहां पहुंचकर जांच की थी। हालांकि दोनों अधिकारियों ने उस दिन भर्ती 26 लोगों से पूछताछ भी की थी। पर किसी ने भी मारपीट की बात नहीं कहीं थी। लेकिन नशामुक्ति केंद्र के संचालन के लिए आवश्यक दस्तावेज सूरज माली उपलब्ध नहीं करा पाया। जांच के बाद शुक्रवार को सीएसपी राकेश मोहन शुक्ला, नई आबादी टीआई पीएन शर्मा कोठारी कॉलोनी नशा मुक्ति केंद्र पर पहुंचे। केंद्र संचालक सूरज माली को जानकारी दी कि सामाजिक न्याय विभाग, सीएमएचओ कार्यालय से मिलने वाला रजिस्ट्रेशन संस्था के पास नहीं है तथा अन्य कानूनी प्रक्रिया अधूरी होने के कारण केंद्र को सील किया जा रहा है। 4 जनवरी को यहां भर्ती 26 में से 18 अब तक अपने घर चले गए है शुक्रवार को केंद्र पर 8 मरीज ही मिले। इन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल के समीप स्थित रेडक्रॉस के नशामुक्ति केंद्र पर पहुंचाया गया। केंद्र का बोर्ड भी पुलिस ने जब्त किया है। पुलिस ने संचालक से सालाना प्राप्त होने वाली राशि का रजिस्टर मांगा जो संचालक के पास नहीं मिला। इसके बाद अवैध संचालन के आरोप में संचालक सूरज माली को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

– कोठारी कॉलोनी में अवैध रूप से चल रहे नशामुक्ति केंद्र को सील किया गया है। यहां भर्ती 8 लोगों को रेडक्रॉस के नशामुक्ति केंद्र पर भेजा गया है। संचालक ने केंद्र के संचालन के लिए कानूनी प्रक्रिया पूरी नहीं की थी, इसलिए कार्रवाई की गई है। सलाना राशि रजिस्टर भी मांगा है। संचालक को गिरफ्तार किया गया है।- राकेश मोहन शुक्ला, सीएसपी, मंदसौर

– मेरे द्वारा नशामुक्ति केंद्र का संचालन अवैध रूप से नहीं किया जा रहा था। मुझे नियमों की कुछ जानकारी नहीं थी, इसलिए सभी दस्तावेज तैयार नहीं कराए। मैं भी पहले नशे का आदी था सात साल पहले मैंने इसी तरह की संस्था के माध्यम नशा छोड़ा था। इसलिए यह केंद्र खोला था ताकि लोग नशे से दूर हो सके। अच्छे काम करने में ज्यादा परेशानियां आती है वहीं मेरे साथ भी हो रहा है।- सूरज माली, संचालक, आदर्श सेवा सोशल वेलफेयर सोसायटी

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts