Breaking News

निःशुल्क ‘बिना दवा स्वास्थ्य’ पर कार्यशाला का आयोजन सम्पन्न

एक्यूप्रेशर चिकित्सा आरोग्य जीवन प्रदान कर सकती है-डॉ. जैन

मन्दसौर। दशपुर योग शिक्षा संस्थान एवं संगिनी जेएसजी मेन के संयुक्त तत्वावधान में केंद्रीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान परिषद्, नईदिल्ली एवं सुन्दरबाई फूलचन्दजी आदर्श शिक्षा संस्थान, इंदौर’ के सहयोग से रविवार को मंदसौर के दशपुर कुंज उद्यान में ’योग, प्राकृतिक चिकित्सा एवं एक्यूप्रेशर’ विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें सैकड़ों व्यक्तियों ने उपस्थित होकर इसका लाभ लिया।   कार्यशाला में मुख्य वक्ता एक्यूप्रेशर एक्यूपंक्चर विशेषज्ञ डॉ. ए. के. जैन इंदौर ने कहा कि एक्यूप्रेशर विधि स्वस्थ रहने के लिये मैजिक की तरह काम करती है। यह भारत की पुरानी चिकित्सा पद्यति है, जो एक विज्ञान भी है। इस चिकित्सा पद्यति में किसी भी तरह का साइड इफेक्ट नहीं होता है, यह चिकित्सा आरोग्य जीवन प्रदान कर सकती है।  हमारे हाथ की दसों उगोलियों में ब्रह्मांड में वापी ऊर्जा समाई हुई है। इनको घुमाकर के सभी रोगों से बचा जा सकता है। तथा हम अपने हाथ में मौजूद प्वाइंट को दबाकर कैसे ठीक हुआ जाता है, यह समझने की जरूरत है। डॉ. जैन ने बताया कि इस चिकित्सा पद्यति के द्वारा मानव शरीर के कुछ जगहों पर प्रेशर देकर मेथी दाना बांध कर उपचार किया जाता है। बिन्दु पर प्रेशर देते ही व्यक्ति अपने रोग में अच्छा महसूस करने लगता है, धीरे-धीरे उपचार देने पर रोगी कुछ दिनों में ठीक हो जाता है। इसमें बिना दवा के सभी रोगों का इलाज किया जाता है। आपने कलर पद्धति के बारे में भी जानकारी दी। प्रदीप जैन इंदौर ने डॉ. अंतिम जैन का परिचय दिया।

स्वागत उद्बोधन देते हुए योग गुरू सुरेन्द्र जैन ने कहा कि योग एवं नेचुरल थेरेपी के जरिए बहुत से रोगों का इलाज प्राकृतिक तरीके से किया जा सकता है। प्रारंभ में अतिथियों का स्वागत संस्थान सचिव जितेश फरक्या, कोषाध्यक्ष जिनेन्द्र उकावत, दिनेश पारिख, सोनिया खिमेसरा, शिला लोढ़ा आदि ने किया। कार्यशाला में सैकड़ों नागरिकों ने उपस्थित होकर उसका लाभ लिया। संचालन योग शिक्षक राजकुमार अग्रवाल ने किया एवं आभार संगिनी अध्यक्ष प्रीति जैन ने माना। शिविर में किया रोगियों का इलाज कार्यशाला के द्वितीय सत्र में स्वास्थ शिविर भी आयोजित किया जिसमें डॉ. अंतिम जैन, डॉ. रजनी कोठारी, प्रदीप जैन, मोनालिसा पोरवाल, रिंकू पोरवाल ने गठिया, मोटापा, कमर दर्द, जोड़ों का दर्द, कब्ज, स्पॉन्डिलाइटिस, ब्लडप्रेशर, डिप्रेशन, डायबिटीज, सेरेब्रल पाल्सी, बवासीर, लिकोरिया, मासिक धर्म, बालों का झड़ना, आंख-कान, साइनस, एनीमिया, आर्थराइटिस, छोटा कद आदि रोगों का उपचार किया तथा उन्हें घरेलु उपायों से उपचार के तरीके बताये। इनका हुआ सम्मान –  विश्व योग दिवस पर साधकों को प्रशिक्षित करने पर सुन्दरबाई फूलचन्दजी आदर्श शिक्षा संस्थान द्वारा ओम गर्ग, विक्की बारभाया, राजकुमार अग्रवाल, मनोज खत्री, बिना गर्ग को प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts